Super Pink Moon: आज रात दिखाई देगा साल का सबसे बड़ा सुपरमून, जानिए इससे जुड़े हर सवाल का जवाब

Super Pink Moon: जब चांद और धरती के बीच की दूरी सबसे कम हो जाती है और चंद्रमा की चमक बढ़ जाती है, उस परिस्थिति में चांद को सुपरमून कहा जाता है

Super Pink Moon: आज रात दिखाई देगा साल का सबसे बड़ा सुपरमून, जानिए इससे जुड़े हर सवाल का जवाब

Pink Super Moon: ये साल का सबसे बड़ा सुपरमून है

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते देश भर में लॉकडाउन (Lockdown) है और ऐसे में हर गुजरते दिन के साथ हम सब यही उम्‍मीद कर रहे हैं कि जल्‍दी से ये सब खत्‍म हो और हम वापस अपनी जिंदगी को पहले की तरह जी सकें. लेकिन इस बीच एक अच्‍छी खबर भी है. आज धरती सुपरमून का दीदार करेगी. आज रात आसमान में साल का सबसे बड़ा चांद दिखाई देगा. खास बात यह है कि इस गुलाबी चांद (Pink Moon) के दीदार के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत है. इसे आप अपने घर से ही देख पाएंगे.

क्या होता है सुपरमून?
जब चांद और धरती के बीच की दूरी सबसे कम हो जाती है और चंद्रमा की चमक बढ़ जाती है, उस परिस्थिति में चांद को सुपरमून (Supermoon) कहा जाता है. इस दौराना चांद रोज़ाना की तुलना में 14 फीसद ज्यादा बड़ा और 30 फीसद तक ज्यादा चमकीला दिखाई देता है.

क्‍या है पिंक सुपरमून?
पिंक सुपरमून सिर्फ एक नाम है, जिसके पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है. दरअसल, अमेरिका और कनाडा में इस मौसम में उगने वाले एक फूल की वजह से इसे पिंक सुपरमून कहा जाता है. इस फूल का नाम है- फ्लॉक्स सुबुलाता (Phlox Subulata). इसे मॉस पिंक भी कहते हैं. इसके नाम पर ही इस सीजन में दिखने वाले सुपरमून को पिंक सुपरमून कहा गया है. इसका मतलब ये नहीं है कि चांद गुलाबी रंग का दिखेगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह सूपरमून भारत में कब दिखाई देगा?
जैसे ही सूरज अस्‍त हो जाएगा हम इस सुपरमून को देख पाएंगे. यह सुपरमून 7 अप्रैल को भारतीय समयानुसार रात 8 बजकर 5 मिनट से दिखना शुरू हो जाएगा. उम्‍मीद है कि यह सुपरमून 8 अप्रैल को भी दिखाई देगा. लेकिन चूंकि तब तक सूर्योदय हो जाएगा तो हमारे पास इसे देखने के लिए आज की ही रात है. 

सुपर मून कैसे देखें?
ग्रहण को छोड़कर सुपर मून पूर्णिमा के दिन दिखने वाले सामान्‍य चांद की तरह ही होता है. अंतर सिर्फ इतना है कि जब चांद धरती के ज्‍यादा करीब आता है तो वह बड़ा और चमकीला दिखाई देता है. ऐसे में इस सुपरमून के दीदार के लिए आपको किसी खास तरह के लेंस या अन्‍य उपकरणों की जरूरत है. इस चांद को आप अपने घर की बाल्‍कनी या छत से आसानी से देख सकते हैं. लेकिन कोविड-19 के चलते हालात पहले जैसे नहीं हैं. ऐसे में आप घर से बाहर न निकलें और बाल्‍कनी से ही इस चांद का दीदार करें. साथ ही सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी पूरा खयाल रखें.