Tulsi Benefits: सिर्फ सर्दी-जुकाम नहीं, तुलसी इन बीमारियों का भी है रामबाण इलाज

आप तुलसी के पत्तियों की मदद से किडनी की पथरी से छुटकारा पा सकते हैं. तुलसी के पत्तों को गरम पानी में डालकर उसका सारा अर्क निकाल लीजिए.

Tulsi Benefits: सिर्फ सर्दी-जुकाम नहीं, तुलसी इन बीमारियों का भी है रामबाण इलाज

तुलसी के फायदे...

नई दिल्ली:

तुलसी के फायदों से शायद ही कोई अंजान हो. सभी ने टीवी पर तुलसी की चाय के ढेरों विज्ञापन देख इसके फायदों के बारे में जान लिया. लेकिन आपको बता दें कि तुलसी के फायदे सिर्फ सर्दी-जुकाम तक ही सीमित नहीं बल्कि इस औषधिय पौधे के और भी कई फायदे मौजूद हैं. तुलसी कई रोगों को दूर करने और शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाने में बड़ी कारगर है. यह पौधा शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाने के साथ बैक्‍टीरिया और वायरल इंफेक्‍शन से लड़ता है. इसके अलावा तुलसी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कई मायनों में गुणकारी है. आज हम आपको घर में तुलसी लगाने के ऐसे ही पांच बड़े फायदों के बारे में बताएंगे.

गणेश पूजा में क्यों नहीं चढ़ाई जाती तुलसी? 
 
दूर हो जाएगा स्‍ट्रेस 
आयुर्वेद में कहा गया है कि अगर आप अपने घर में तुलसी लगाते हैं तो स्‍ट्रेस यानी कि तनाव घर से कोसों दूर रहता है. 

कान की बीमारियां

तुलसी के पत्तों के रस को गर्म करके दो-दो बूंद कान में टपकाने से कान का दर्द दूर होता है.- तुलसी के पत्ते, एरंड की कोपलें और चुटकी भर नमक को पीसकर कान पर उसका गुनगुना लेप लगाने कान के पीछे की सूजन चली जाती है.  

मच्‍छर भगाने में कारगर
तुलसी एक ऐसा पौधा है जो मसक्‍यूटो रेपलेंट यानी मच्‍छरों को दूर भगाता है. मलेरिया पर प्रकाश‍ित जर्नलों में कहा गया है कि तुलसी कीड़े-मकौड़ों और मच्‍छरों को भगाने में असरदार औषध‍ि है. यही वजह है कि आपको खासकर मॉनसून में तो तुलसी घर पर जरूर लगानी चाहिए. 

मिलेगी स्‍वच्‍छ और ताज़ी हवा 
बेडरूम में तुलसी लगाने से ऑक्‍सीजन सप्‍लाई बढ़ जाती है. यह वह पौधा है जो दिन के 20 घंटे ऑक्‍सीजन देने के साथ ही कार्बन मोनोऑक्‍साइड, कार्बन डाइऑक्‍साइड और सल्‍फर डाइऑक्‍साइड जैसी ज़हरीली गैसों को सोख लेता है.

रविवार को क्यों नहीं तोड़ी जाती तुलसी की पत्तियां, क्या है मान्यता

बीमारियों से छुटकारा 
तुलसी बीमार‍ियों से भी लड़ने के लिए जानी जाती है. खांसी या बुखार में तुलसी के पत्तों को चाय में डालकर पीने से आराम मिलता है. आप गरम पानी में तुलसी और इलायची डालकर उसका काढ़ा बना सकते हैं. तुलसी का काढ़ा खून को साफ करने का काम करता है और इससे कॉलेस्‍ट्रोल लेवल भी कम होता है.

किडनी की पथरी में असरदार
आप तुलसी के पत्तियों की मदद से किडनी की पथरी से छुटकारा पा सकते हैं. तुलसी के पत्तों को गरम पानी में डालकर उसका सारा अर्क निकाल लीजिए. इसके बाद उसमें एक चम्‍मच शहद मिलाकर रोजाना पीने से घर पर ही किडनी की पथरी का इलाज हो जाएगा.

दांत के दर्द में आराम 

काली मिर्च और तुलसी के पत्तों की गोली बनाकर दांत के नीचे रखने से दांत के दर्द में आराम मिलता है.- तुलसी के रस को हल्के गुनगुने पानी में मिलाकर कुल्ला करने से गले की बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है.- तुलसी के रस वाले पानी में हल्दी और सेंधा नमक मिलाकर कुल्ला करने से मुंह, दांत और गले का दर्द दूर होता है. 

Newsbeep

इसके अलावा तुलसी की खुशबू घर वातावरण को ताजा रखती ही है साथ ही घर को भी फ्रेश अरोमा मिलता है. यही नहीं इस पौधे में ऐसे तत्‍व हैं जो खराब मूड को अच्‍छा करने का काम करते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com