NDTV Khabar

जानिए आपके दिल के लिए कौन सा कुकिंग ऑयल है बेस्‍ट?

इन दिनों बाजार में मौजूद लगभग सभी ऑयल ब्रांड दिल की बीमारी को दूर रखने का दावा करते हैं. यहां तक कि वे अपने विज्ञापनों में भी तली-भुनी चीजों को द‍िखाने से बचते हैं.

203 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जानिए आपके दिल के लिए कौन सा कुकिंग ऑयल है बेस्‍ट?

खास बातें

  1. कुक‍िंग ऑयल के लेबल ग्राहकों की समझ से परे हैं
  2. डॉक्‍टरों के मुताब‍िक मूफा तेल द‍िल के ल‍िए अच्‍छा है
  3. तलने के ल‍िए इस्‍तेमाल करें मूंगफली का तेल
नई द‍िल्‍ली : खाना बनाने के लिए बाजार में कई तरह के तेल मौजूद हैं. हों भी क्‍यों न, कुकिंग ऑयल हमारे खान-पान में सबसे ज्‍यादा इस्‍तेमाल जो किया जाता है. यही नहीं तेल का सही इस्‍तेमाल सबसे जरूरी है. हालांकि इसके बावजूद लोग कुकिंग ऑयल को ज्‍यादा तवज्‍जो नहीं देते. हम में से ज्‍यादातर लोग कुकिंग ऑयल खरीदते वक्‍त कभी यह नहीं देखते कि उसके पैकेट में लिखा क्‍या है. दरअसल, हम कुकिंग ऑयल के विज्ञापनों में किए जा रहे दावों और प्रोडक्‍ट की तरफदारी में इस्‍तेमाल किए जा रहे जटिल और भारी-भरकम शब्‍दों की जांच करना जरूरी ही नहीं समझते. इन दिनों बाजार में मौजूद लगभग सभी ऑयल ब्रांड दिल की बीमारी को दूर रखने का दावा करते हैं. यहां तक कि वे अपने विज्ञापनों में भी तली-भुनी चीजों को द‍िखाने से बचते हैं.

डायबिटीज़ से बचने के लिए खाने में शामिल करें तिल का तेल

ऐसा इसलिए क्योंकि समय के साथ दिल भी बूढ़ा होता जाता है और उसका ध्यान रखना जरूरी है. यही वजह है कि आज कल खाने के सभी तेलों के साथ 'दिल के लिए अच्छा', 'मोनोअनसेच्युरेटेड फैट', 'ओमेगा थ्री', 'कैरोटीन', 'प्लांट स्टेरॉलस' जैसे शब्द उसके लेबल में जोड़ दिए जाते हैं, चाहे वह आपको समझ आएं या नहीं. गुड़गांव की रहने वाली प्रिशा मानडव्या का कहना है, 'इन लेबलों के बारे में कुछ भी समझ नहीं आता.' इसके अलावा उनके मुताबिक हर तेल के बारे में कहा जाता है कि वह दिल के लिए अच्छा है, इससे कंफ्यूजन और बढ़ जाता है.

दिल को रखना है हेल्‍दी, तो खाने में करें ये जरूरी बदलाव

डॉक्‍टरों की मानें तो तेल के बारे में चाहे कितने भी दावे किए जाएं लेकिन सभी में फैट यानी कि वसा होता है और सभी के अपने नुकसान हैं. भारत के बड़े हार्ट व‍िशेषज्ञों में से एक डॉक्‍टर देवी शेट्टी अपने लेख 'डाइट कम्स फर्स्ट इन मैटर्स ऑफ दी हार्ट' में कहते हैं कि जब बीज में से तेल निकालना ही प्रकृति के विरुद्ध है तो तेल दिल के लिए अच्छा कैसे हो सकता है.

अपनी डाइट में बेपरवाह इस्तेमाल करें कनोला तेल

फरीदाबाद के सर्वोदय अस्पताल में हार्ट स्‍पेशलिस्‍ट कंसल्टेंट डॉक्‍टर अमित कुमार कहते हैं, 'तेलों में मोनो सेच्युरेटेड फैटी एसिड (मूफा) और पॉली सेच्युरेटेड फैटी एसिड (पूफा) अलग-अलग मात्रा में होता है. हमें जो जानकारी है उसके मुताबिक मूफा दिल के लिए अच्छा है. इसलिए जिन तेलों में मूफा की मात्रा ज्‍यादा होती है वह तेल बेहतर होते हैं. इसीलिए जैतून , सरसों , सोयाबीन , राइस ब्रान तेल, कनोला (राई) तेल और मूंगफली का तेल दिल के लिए बेहतर है.' डॉक्‍टर कहते हैं कि अलग-अलग तेल का इस्‍तेमाल भी अलग-अलग तरीके से करना चाहिए.

इम्पीरियल होटल के शेफ प्रेम के पोगुला ने कहा, 'तलने के लिए मूंगफली के तेल का इस्तेमाल करें.' कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो प्लांट ऑइल का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि उनमें कोलेस्ट्रॉल नहीं होता. पौधे से निकलने वाले तेल हैं बादाम तेल, एवेकाडो सीड ऑइल, अलसी का तेल और नारियल तेल.




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement