पुलवामा हमले में शहीद हुए मेजर की पत्नी बनेगी सेना में अफसर, कहा- ''मैं अपने पति को...''

नितिका के पति मेजर विभूति ढौंढियाल 18 फरवरी 2019 को जैश-ए-मोहम्मद के साथ हुई मुठभेड़ में शहीद हो गए थे. देहरादून के रहने वाले मेजर विभूति ढौंढियाल की नितिका के साथ 10 महीने पहले ही शादी हुई थी.

पुलवामा हमले में शहीद हुए मेजर की पत्नी बनेगी सेना में अफसर, कहा- ''मैं अपने पति को...''

शहीद मेजर विभूति ढौंढियाल को श्रद्धांजलि देते हुए उनकी पत्नी नितिका कॉल. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

शहीद मेजर विभूति ढौंढियाल की पत्नी नितिका कौल आर्मी में शामिल होने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. नितिका के पति मेजर विभूति ढौंढियाल 18 फरवरी 2019 को जैश-ए-मोहम्मद के साथ हुई मुठभेड़ में शहीद हो गए थे. देहरादून के रहने वाले मेजर ढौंढियाल की नितिका के साथ 10 महीने पहले ही शादी हुई थी. उनके शहीद होने के बाद पत्नी नितिका ने भी आर्मी ज्वॉइन करने का फैसला किया था. 

यह भी पढ़ें: पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों की याद में बने स्मारक का हुआ उद्घाटन

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नितिका ने शॉर्ट सर्विस कमिशन (SSC) की लिखित परीक्षा क्लीयर कर ली है. इसके अलावा उन्होंने इंटरव्यू राउंड भी क्लीयर कर लिया है. इसके बाद अब वह मेरिट लिस्ट के जारी हने का इंतजार कर रही हैं, ताकि वह एक कैडेट के रूप में सेना में शामिल हो सकें. इस बारे में बात करते हुए नितिका ने कह कि पति को श्रद्धांजलि देने का यह उनका अपना तरीका है. 

कौल, दिल्ली में अपने माता पिता के साथ रहती हैं और वह पहले एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करती थीं लेकिन अब वह पति की तरह आर्मी ऑफिसर बनना चाहती हैं. उन्होंने कहा, "मैं नई चीजों को सीखना चाहती हूं क्योंकि मैं पहली बार कॉर्पोरेट कल्चर से बाहर निकल रही हूं''. कौल ने कहा, ''पति को खोने के बाद मुझे इस सब से बाहर निकलने में काफी वक्त लगा और एसएससी की परीक्षा देने का निर्णय मैंने काफी सोचने के बाद लिया. पिछले साल सितंबर में एसएससी की परीक्षा के लिए फॉर्म भरना एक बड़ा फैसला था लेकिन मैंने तय कर लिया था कि मैं अपने पति की तरह ही देश की सेवा करना चाहती हूं''. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कौल ने कहा, ''एग्जामिनेशन हॉल में जाते वक्त मैं काफी इमोशनल हो गई थी क्योंकि मुझे लगा कि मेरे पति भी आर्मी ज्वॉइन करने से पहले इस स्थिति से गुजरे होंगे''. उन्होंने कहा, ''क्योंकि इस एग्जाम को क्लीयर करने का मतलब फोर्स में शामिल होने की दिशा में पहला कदम उठाने जैसा है''. 

उन्होंने कहा कि पति को खोने के बाद अपनी जिंदगी में आगे बढ़ पाना उनके लिए काफी मुश्किल था.