NDTV Khabar

आंखों में ऐसा धब्बा 'पागलपन' का शुरुआती संकेत, ना करें इग्नोर

यह उम्र बढ़ने का एक आम संकेत है, लंबे समय तक इन धब्बों को नुकसानदेह नहीं माना जाता था. लेकिन शोध के निष्कर्षों से पता चला है कि चार फीसदी स्वस्थ लोगों की तुलना में ये धब्बे अल्जाइमर के 25 फीसदी से ज्यादा लोगों में पाए गए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आंखों में ऐसा धब्बा 'पागलपन' का शुरुआती संकेत, ना करें इग्नोर

आंख के पीले धब्बे डिमेंशिया के संकेत

खास बातें

  1. फैट और कैल्शियम के जमा होने से बनता है ये धब्बा
  2. उम्र बढ़ने का एक आम संकेत है ये धब्बा
  3. इन धब्बों को हार्ड ड्रसेन के नाम से जाना जाता है
नई दिल्ली: आंखों की किसी भी परेशानी को इग्नोर नहीं करना चाहिए, क्योंकि ज़रा सी लापरवाही बहुत बड़ी दिक्कत की वजह बन सकती है. जी हां, एक रिसर्च के मुताबिक अगर आपकी आंखों में छोटे पील-धब्बे दिख रहे हैं, तो यह डिमेंशिया (पागलपन) के शुरुआती संकेत हो सकते हैं. इन धब्बों को हार्ड ड्रसेन के नाम से जाना जाता है. ये फैट और कैल्शियम के जमा होने से बनते हैं. यह रेटीना के नीचे एक परत में बनता है और इन्हें स्कैन में देखा जा सकता है.

घर के बुजुर्गों में घबराहट और बेचैनी, इस बीमारी का है संकेत

यह उम्र बढ़ने का एक आम संकेत है, लंबे समय तक इन धब्बों को नुकसानदेह नहीं माना जाता था. लेकिन शोध के निष्कर्षों से पता चला है कि चार फीसदी स्वस्थ लोगों की तुलना में ये धब्बे अल्जाइमर के 25 फीसदी से ज्यादा लोगों में पाए गए हैं.

उत्तरी आयरलैंड के बेलफास्ट के क्वीन विश्वविद्यालय के इमरे लेंगेल ने कहा, "हमने पाया है कि अल्जाइमर बीमारी में ड्रूसेन जमा होने से जुड़े ज्यादा हिस्से हैं."

मेमोरी लॉस ही नहीं इस बीमारी के हैं और 5 लक्षण, 40 के पार लोग हो रहे हैं पीड़ित

टिप्पणियां
परिणामों से यह भी पता चलता है कि अल्जाइमर वालों में मोटी रक्त वाहिकाएं पाई जाती हैं, जो खून के प्रवाह को धीमा कर देती हैं. रिसर्चरों ने कहा कि इस तरह धब्बों की स्कैनिंग व आंख की रक्त वाहिकाओं की जांच अल्जाइमर बीमारी की निगरानी के लिए एक महत्वपूर्ण जरिया हो सकता है. (इनपुट - आईएएनएस)

देखें वीडियो - अलज़ाइमर्स डिमेंशिया पीड़ितों की कैसे करें मदद
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement