दिल्ली पुस्तक मेले में उमड़े बुक लवर

एनबीटी, आर्या पब्लिकेशन, डायमंड पाकेट बुक्स, गीता प्रेस गोरखपुर, विश्व बुक स्टॉल, किताबघर प्रकाशन, सेज प्रकाशन और कई अन्य स्टॉल में पाठकों का जमावड़ा लगा रहा. 

दिल्ली पुस्तक मेले में उमड़े बुक लवर

नई दिल्ली के प्रगति मैदान में शनिवार को 23वां दिल्ली पुस्तक मेला शुरू हो गया. मेले के पहले दिन बड़ी संख्या में पुस्तक प्रेमी मेला पहुंचे. पहले दिन 10 पुस्तकों का विमोचन किया गया. इस बार मेले में कई नए प्रकाशकों ने हिस्सा लिया है. मेले में देश-विदेश के 120 से ज्यादा प्रकाशकों के 350 से ज्यादा स्टॉल लगाए गए हैं. एनबीटी, आर्या पब्लिकेशन, डायमंड पाकेट बुक्स, गीता प्रेस गोरखपुर, विश्व बुक स्टॉल, किताबघर प्रकाशन, सेज प्रकाशन और कई अन्य स्टॉल में पाठकों का जमावड़ा लगा रहा. 

इस बार मेले का विषय 'पढ़ेगा भारत बढ़ेगा भारत' है. मेले का उद्घाटन भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) के कार्यकारी निदेशक दीपक कुमार (आईएएस) ने किया.  इस अवसर पर उन्होंने किताबों के महत्व पर जोर डालते हुए कहा, "मुझे पुस्तकों से विशेष प्रेम है इसलिए यह मेला मेरे लिए बहुत खास है." 

इस मेले का आयोजन भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) और फेडरेशन ऑफ इंडियन पब्लिशर्स मिलकर कर रहे हैं. 
 

फेडरेशन ऑफ इंडियन पब्लिशर्स (एफआईपी) पूर्व अध्यक्ष डॉ. अशोक गुप्ता ने कहा, "इस साल किताबों पर जीएसटी नहीं लगाई गई है, लेकिन लेखकों की रॉयल्टी पर 18 फीसदी जीएसटी लग जाने से पुस्तकों की खरीद पर मिलने वाली छूट पर भी इसका असर देखने को मिल सकता है."

उन्होंने कहा, "बच्चे अपने परिजन के साथ आएं जिससे बच्चों को कुछ नया देखने और सीखने को मिलेगा और साथ ही उनकी पढ़ने की रुचि भी बढ़ेगी."

आईटीपीओ और एफआईपी पब्लिशर्स की तरफ से हुए इस आयोजन में अलग से 19वें स्टेशनरी मेले की भी प्रस्तुति की गई. रविवार शाम 4-7 बजे के बीच डायमंड पब्लिकेशन द्वारा कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया है. 

मेले में मौजूद याशिका शर्मा ने कहा, "मेले का न केवल पुस्तक प्रेमी बल्कि सभी वर्ग के लोग आनंद उठा रहे हैं. बच्चों के लिए काफी अच्छे प्रबंध किए गए हैं."

Newsbeep

उल्लेखनीय है कि छात्रों को आईडी कार्ड दिखाने पर निशुल्क प्रवेश मिल रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)