NDTV Khabar

2019 में सामने आएगा सम्मान के लिए जूझती सीता पर आधारित दिवाकरुणी का उपन्यास

दिवाकरुणी ने उपन्यास में सीता को केंद्र में रखा है और साथ ही ग्रंथ में वर्णित कई अन्य महिलाओं की आवाज उठाई है जिन्हें अक्सर गलत समझा गया और हाशिये पर रखा गया जैसे कैकेयी, सूपर्णखा और मंदोदरी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
2019 में सामने आएगा सम्मान के लिए जूझती सीता पर आधारित दिवाकरुणी का उपन्यास

प्रतीकात्मक चित्र

अमेरिका निवासी लेखक चित्रा बनर्जी दिवाकरुणी का अगला उपन्यास 2019 में प्रकाशित होगा. इसमें शोक, छल, स्वामी भक्ति और सम्मान के लिए जूझती सीता के माध्यम से रामायण को फिर से सुनाया गया है और इस प्राचीन गाथा को इच्छाओं के समसायिक और मनोरंजक संघर्ष में रूपांतरित किया गया है. हार्पर कोलिन्स इंडिया ने दिवाकरुणी के अन्य उपन्यासों के साथ ही उनके अगले उपन्यास “अंडर द सॉरो ट्री” के प्रकाशन अधिकार हासिल कर लिए हैं.

“अंडर द सॉरो ट्री” शक्तिशाली लेकिन अक्सर-भुला देने वाली महिला आवाज का स्मरण कराती है.
 


दिवाकरुणी ने उपन्यास में सीता को केंद्र में रखा है और साथ ही ग्रंथ में वर्णित कई अन्य महिलाओं की आवाज उठाई है जिन्हें अक्सर गलत समझा गया और हाशिये पर रखा गया जैसे कैकेयी, सूपर्णखा और मंदोदरी.

टिप्पणियां

इस उपन्यास में उस विश्व में ताकत और स्वराज्य हासिल करने के संघर्षों को भी बताया गया है जहां पुरुषों को विशेषाधिकार प्राप्त हैं. उपन्यास की प्रकाशक और अधिकार निदेशक दिया कर हर्जा दिवाकरुणी को अद्वितीय कहानीकार मानती हैं.

उनके मुताबकि “अंडर द सॉरो ट्री’’ एक “असाधारण प्रभावशाली उपन्यास होगा जो आजकल के पाठकों के लिए खास तौर पर प्रासंगिक होगा.”



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement