Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पुस्तक मेले में हिमाचल के साहित्यकारों की किताबों की धूम

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुस्तक मेले में हिमाचल के साहित्यकारों की किताबों की धूम
नई दिल्‍ली:

दिल्ली के प्रगति मैदान में चल रहे पुस्तक मेले में जहां देश-विदेश के चर्चित लेखकों की कृतियों को खरीदने के लिए बड़ी संख्या में पुस्तक प्रेमी उमड़ रहे हैं, वहीं हिमाचल के साहित्यकार भी अपनी छाप छोड़ रहे हैं. विभिन्न प्रकाशनों के स्टॉलों पर हिमाचल के लेखकों की कृतियां धूम मचा रही हैं. पुस्तक मेले में देश के नामी-गिरामी प्रकाशकों के 2,000 से अधिक स्टॉल लगे हैं जो अंग्रेजी सहित विभिन्न भारतीय भाषाओं की किताबों के हैं.

कई स्टॉलों पर हिमाचल के लेखकों गुरमीत बेदी, केशव, एस.आर. हरनोट, राजकुमार राकेश, बद्री सिंह भाटिया, सुदर्शन वशिष्ठ, मृदुला श्रीवास्तव, आत्मा रंजन और सुरेश सेन निशांत की साहित्यिक कृतियों ने भी पुस्तक प्रेमियों को आकर्षित किया है और इन पुस्तकों की बिक्री से प्रकाशक काफी प्रसन्न हैं. 

इन किताबों को खरीदने में पाठक दिखा रहे हैं उत्‍साह
पुस्तक मेले में हिमाचल के साहित्यकार गुरमीत बेदी की कविता, कहानी व व्यंग्य विधा में लिखी पांच पुस्तकें डिस्प्ले की गई हैं जिन्हें खरीदने में पाठक काफी उत्साह दिखा रहे हैं. भावना प्रकाशन के नीरज मित्तल का कहना है कि इसी साल प्रकाशित गुरमीत बेदी के कविता संग्रह 'मेरी ही कोई आकृति' में काव्य प्रेमियों ने खासी दिलचस्पी दिखाई है. विभिन्न राज्यों से पुस्तक प्रेमियों ने एस.आर हरनोट के कहानी संग्रहों, उपन्यास और केशव की कृतियों को भी हाथों हाथ लिया है. पुस्तक मेले में हिमाचल के कई लेखक भी पहुंचे हैं. 


इस पुस्तक मेले में विभिन्न राज्यों से आए पुस्तक प्रेमियों का कहना है कि हिमाचल प्रदेश के साहित्यकारों ने राष्ट्रीय फलक पर अपनी पहचान बनाकर यह साबित कर दिया है कि इस पहाड़ी प्रदेश में रचा जा रहा साहित्य अब किसी परिचय का मोहताज नहीं रहा है. पुस्तक मेले में साहित्यकारों की पुस्तकों का विमोचन, सांस्कृतिक आयोजन, सेमिनार व गोष्ठियां भी आयोजित हो रही हैं. विदेश से अनेक पुस्तक प्रकाशक और विक्रेता इस पुस्तक मेला में भाग लेने आए हैं. पुस्तक मेला 15 जनवरी तक चलेगा.

15 जनवरी तक होगा बुक फेयर का आयोजन
विश्व पुस्तक मेले की शुरूआत दिल्ली के प्रगति मैदान में 7 जनवरी को हुई थी, जो 15 जनवरी तक चलेगी. मेले के आखिरी दिन यानि 15 जनवरी को इसका समय सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक रखा गया है और अन्‍य दिन सुबह 11 बजे से 8 बजे तक एंट्री है. बुक फेयर में एंट्री टिकट के द्वारा हो रही है और इसकी कीमत 20 और 30 रुपए है. बुजुर्गों और दिव्यांगों के लिए मेले में निःशुल्क प्रवेश है. वहीं दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर भी मुहैया कराई जा रही है. स्कूल ड्रेस में आने वाले बच्चों का टिकट नहीं लग रहा है, हालांकि उन्‍हें आइकार्ड दिखाना होगा. 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए 20 रुपये और बड़ों के लिए 30 रुपये का टिकट है.

टिप्पणियां

यहां मिल रहे हैं बुक फेयर के टिकट
किताबों के महाकुंभ में दर्शकों की सहूलियत का ध्यान रखा गया है. इसके लिए दिल्ली मेट्रो के 48 स्टेशनों के साथ प्रगति मैदान के काउंटर पर टिकट मिल रहे हैं. हॉल नंबर 6, 7, 8, 9, 10, 11, 18, हॉल नंबर 12 और 12ए में पुस्तक प्रेमियों को पुस्तकें मिल रही हैं.

(एजेंसियों से इनपुट)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... कमल हासन की फिल्म के सेट पर हादसा, 3 असिस्टेंट डायरेक्टर्स की मौत जबकि 9 लोग घायल

Advertisement