World Book Fair 2019: शनिवार से शुरू होगा विश्व पुस्तक मेला, इस बार पाठकों के लिए खास इंतजाम

किताबों का महाकुंभ यानी विश्व पुस्तक मेला (World Book Fair 2019) शनिवार से शुरू हो जाएगा.

World Book Fair 2019: शनिवार से शुरू होगा विश्व पुस्तक मेला, इस बार पाठकों के लिए खास इंतजाम

13 जनवरी तक चलने वाले नई दिल्ली वर्ल्ड बुक फेयर (NDWBF) का उद्घाटन केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर करेंगे.

नई दिल्ली :

किताबों का महाकुंभ यानी विश्व पुस्तक मेला (World Book Fair 2019) शनिवार से शुरू हो जाएगा. 13 जनवरी तक चलने वाले नई दिल्ली वर्ल्ड बुक फेयर (NDWBF) का उद्घाटन केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर करेंगे. नेशनल बुक ट्रस्ट (एनबीटी)  द्वारा आयोजित मेले की थीम इस बार  'रीडर्स विद स्पेशल नीड्स' रखी गई है, जो खासतौर से विशेष बच्चों पर केंद्रित है. बुक फेयर में शारजाह 'अतिथि देश' के तौर पर शिरकत कर रहा है. इसके अलावा पड़ोसी चीन, पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल समेत करीब 20 देशों के प्रकाशक हिस्सा ले रहे हैं.

FlashBack 2018: साल 2018 की वो 5 चर्चित किताबें, जो आपको जरूर पढ़नी चाहिए

एनबीटी के अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा ने कहा कि, मेले (New Delhi World Book Fair 2019) के थीम पवेलियन में विशेष तौर पर ब्रेल किताबें, ऑडियो किताबें, प्रिंट-ब्रेल किताबें, लोगों व बच्चों व दिव्यांग लोगों के लिए प्रदर्शित की जाएंगी. एक अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग फिल्म महोत्सव 'वी केयर' में 27 देशों की फिल्में भी दिखाई जाएंगी. पुस्तक मेले के लिए टिकट ऑनलाइन बुक माईशो की वेबसाइट से लिए जा सकते हैं. प्रगति मैदान से भी टिकट खरीदा जा सकता है. टिकट का मूल्य बच्चों के लिए दस रुपये व वयस्कों के लिए बीस रुपये रखा गया है. आपको बता दें कि इस बार पुस्तक प्रेमियों के लिए भारतीय प्रकाशकों ने खास तैयारी की है. एक तरफ जहां किताबों पर छूट मिलेगी, तो दूसरी तरफ पाठकों को पसंदीदा लेखकों से मिलने का मौका भी मिलेगा. इस बार राजकमल प्रकाशन ने अपने स्टॉल का नाम 'जलसाघर' रखा है, जहां किताबों, लेखकों, पाठकों और रचनाधर्मिता से जुड़ी बातों का जलसा होगा.

Newsbeep

किताब-विताब : 'जग दर्शन का मेला', एक छूटती हुई विधा की ज़रूरी याद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मेले (Book Fair) में आने वाली खास किताबों में इस साल बुकर पुरस्कार से सम्मानित लेखिका अरूंधति रॉय के उपन्यास, 'द मिनिस्ट्री ऑफ अटमोस्ट हैप्पीनेस' का हिंदी और उर्दू अनुवाद है. वहीं, राजकमल विश्वप्रसिद्ध लेखिका तसलीमा नसरीन के बहुचर्चित उपन्यास 'लज्जा' की उत्तरकथा 'बेशरम' का भी लोकार्पण करने जा रहा है. राजकमल के अलावा वाणी, संवाद, प्रभात, पेंग्विन, रूपा और अन्य तमाम प्रकाशकों के स्टॉल पर भी पाठकों के लिए खास व्यवस्था की गई है.