Hindi news home page
होम | साहित्य

साहित्य

  • पत्रकारिता की किताब में नाथूराम गोडसे और रावण 'महापुरुष', बढ़ा विवाद
    मध्यप्रदेश के भोपाल स्थित पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में भावी पत्रकारों को पढ़ाया जा रहा है कि महात्मा गांधी का हत्यारा नाथूराम गोडसे और सीता का हरण करने वाला रावण, दोनों महापुरुष थे. गुरुवार को मध्यप्रदेश विधानसभा में यह मुद्दा विपक्षी दल कांग्रेस ने उठाया.
  • सिर्फ सिर झुकाकर आदेश माने वाली पत्‍नी नहीं थी ‘सीता’
    अमीश त्रिपाठी का मानना है कि सीता कोई सिर झुकाकर आदेश पालन करने वाली पत्नी नहीं थी जैसा कि टीवी धारावाहिकों और लोकप्रिय साहित्यों में उन्हें अक्सर चित्रित किया गया है बल्कि वह एक योद्धा थीं. ‘शिव रचना त्रय’ के लेखक त्रिपाठी इसके बजाय सीता को एक योद्धा राजकुमारी के तौर पर देखते हैं जो गोद ली हुई एक बेटी के दर्जे से एक योद्धा राजकुमारी और आखिरकार देवी बनने तक कई चुनौतियों का सामना करती हैं.
  • दलाई लामा की आत्मकथा के असमी अनुवाद का विमोचन होगा
    दलाई लामा की पहली आत्मकथा ‘माई लैंड एंड माई पीपल’ के असमी अनुवाद का आईआईटी, गुवाहाटी में तिब्बती धर्मगुरू अपने आगामी गुवाहाटी दौरे के दौरान विमोचन करेंगे. गुवाहाटी के प्रकाशन भवन के मालिक भास्कर दत्ता बरूआ ने कहा कि ‘‘मोर देश मोर मानुष’’ शीषर्क वाली इस असमी पुस्तक का विमोचन दो अप्रैल को होना है. इसे 75 वर्ष पुराने प्रकाशक लॉयर्स बुक स्टॉल ने प्रकाशित किया है.
  • अंग्रेजी के सुविख्यात लेखक स्टीफन ऑल्टर सम्मानित
    उत्तराखण्ड के राज्यपाल डॉ. कृष्ण कांत पाल ने राजभवन में बुद्घिजीवियों के समागम के बीच अंग्रेजी के सुविख्यात लेखक स्टीफन आल्टर को सम्मानित किया. एक कार्यक्रम में राज्यपाल ने ऑल्टर की रचनाओं में पहाड़ों विशेषत: हिमालय के प्रति झलकते प्रेम का उल्लेख करते हुए उनकी सराहना की. राज्यपाल ने कहा कि अमेरिकी होते हुए भी ‘स्टीफन’ वास्तव में उत्तराखण्डी हैं. इनका जन्म मसूरी में हुआ और मसूरी के ही वुड स्टाक स्कूल में उन्होंने स्कूली शिक्षा ली.
  • सिंगापुर में मलयाली समुदाय के जीवन को बयां करती है ये किताब
    दक्षिण भारत से ताल्लुक रखने वाली सिंगापुर की एक अध्यापिका ने एक पुस्तक लिखी है जिसमें ब्रिटिशकाल में मलयाली समुदाय के लोगों के केरल से सिंगापुर आने की यात्रा और उनके बाकी के जीवन को बयां किया गया है.
  • किताब ‘रेजिंग ट्रंप’ में होंगे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बच्चों की परवरिश से जुड़े दिलचस्प किस्से...
    एक तरफ लोगों को अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल ओबामा द्वारा व्हाइट हाउस में बिताए गए अपने दिनों पर  लिखे जाने वाले संस्मरण का इंतज़ार है, वहीं दूसरी तरफ, यहां के मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की निजी ज़िंदगी से जुड़े कुछ यादगार और दिलचस्प किस्से भी जल्द लोगों के बीच होंगे. 
  • वेलकम बुक प्राइज 2017 के लिए हुआ दो भारतीय लेखकों का चयन
    भारतीय मूल के दो अमेरिकी लेखकों का चयन 30,000 पाउंड ईनामी राशि वाले वेलकम बुक प्राइज के लिए किया गया है. यह पुरस्कार स्वास्थ्य और चिकित्सा वाले विषयों पर फिक्शन और नॉन फिक्शन कार्यों के लिए प्रदान किया जाता है.
  • विद्वानों, लेखकों और कलाकारों ने की राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भेंट
    इन-रेजिडेंस कार्यक्रम के अंतर्गत 10 नवप्रवर्तन विद्वानों, दो लेखकों और दो कलाकारों ने राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भेंट की. राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी बयान के अनुसार, राष्ट्रपति मुखर्जी ने कहा कि इन-रेजिडेंस कलाकार, लेखक एवं नवप्रवर्तन विद्वान हमारे लिए विशेष थे, क्योंकि इनके पास नवप्रवर्तन, संवेदनशील एवं कल्पनाशील सोच है, जिसने समय, स्थान और आसपास की सीमाओं को लांघा हैं.
  • पुस्तक प्रेमियों के लिए 'जन्नत' के समान है दरियागंज की यह दुकान
    अगर आप साहित्य में रुचि रखते हैं, तो रविवार को राष्ट्रीय राजधानी के प्रसिद्ध दरियागंज की सैर आपको जरूर करनी चाहिए, लेकिन दरियागंज में ही एक पतली सी गली में स्थित एक दुकान ऐसी भी है जो आपको शेक्सपीयर से लेकर शेली, कीट्स और डिकेंस जैसे महान लेखकों की स्मृतियों से भर देगी.साहित्य-प्रेमियों के बीच मुक्ता बुक एजेंसी प्राचीन एवं दुर्लभ पुस्तकों के ठिकाने के रूप में प्रचलित है. चाहे वह युवा हों या पहली पीढ़ी के पाठक, मैकबेथ, ट्वेल्थ नाइट, वूदरिंग हाइट्स, प्राइड एंड प्रेज्यूडिस और अ टेल ऑफ टू सिटीज.. न जाने कितनी अनमोल कृतियों का यह एक अच्छा ठिकाना है.
  • लंदन पुस्तक मेले में ‘स्पॉटलाइट ऑन इंडिया’ श्रृंखला की शुरूआत
    भारत-ब्रिटेन सांस्कृतिक आयोजन वर्ष के तहत वार्षिक पुस्तक मेले में ‘स्पॉटलाइट ऑन इंडिया’ श्रृंखला की शुरूआत हुई. यह कार्यक्रम इंडिया एट द रेट ऑफ यूके 2017 के तहत प्रथम कार्यक्रम है. इसके तहत लंदन में भारतीय उच्चायोग और संस्कृति मंत्रालय के आपसी तालमेल से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा.
  • वीरप्पन पर आई एक नई किताब, उसके जन्‍म से मौत तक की पूरी कहानी किताब में शामिल
    कुख्यात चंदन तस्कर वीरप्पन अपनी खोज में आने वाले तमिलनाडु एसटीएफ के कर्मियों की पहचान सिर्फ उनकी आवाजें सुनकर कर सकता था और उसके इन प्रयासों को विफल करने के लिए एसटीएफ ने शब्दों की बजाय संख्या का उपयोग करने की नीति को अपनाया.
  • संगीत की 12 हस्तियों पर अमजद अली खान ने लिखी किताब
    सरोद वादक उस्ताद अमजद अली खान ने भारतीय शास्त्रीय संगीत की कुछ महान हस्तियों के जीवन और काल पर एक किताब लिखी है. पुस्तक के प्रकाशक पेंग्विन रैंडम हाउस ने कहा उन दिग्गजों को व्यक्तिगत रूप से जानने वाले खान ने किताब में उनके साथ के अपने अनुभव के साथ-साथ उनसे जुड़ी जानकारी को साझा किया है.
  • भारत-पाक सीमा पर युद्ध लड़ चुके हैं महाबलेश्वर सैल, अब साहित्‍य के मिला ये बड़ा सम्‍मान
    कोंकणी के जाने-माने साहित्यकार महाबलेश्वर सैल को वर्ष 2016 के 26वें सरस्वती सम्मान के लिए चुना गया है. उनके उपन्यास 'हाउटन' के लिए उनको यह सम्मान दिया जाएगा. यह उपन्यास साल 2009 में प्रकाशित हुआ था. साहित्य के क्षेत्र में यह प्रतिष्ठित सम्मान केके बिरला फाउंडेशन की ओर से दिया जाता है.
  • अखिलेश यादव ने 'उत्तर प्रदेश विधानसभा में मुलायम सिंह यादव' किताब का किया विमोचन
    अखिलेश यादव ने बुधवार को विधान भवन स्थित राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन हॉल में 'उत्तर प्रदेश विधानसभा में मुलायम सिंह यादव' नामक शीर्षक की पुस्तक का विमोचन किया.
  • दिल्ली में शुरू हुआ मेटा थिएटर महोत्सव
    दिल्ली में मेटा थिएटर महोत्सव की शुरुआत 'महाविद्यालयों, परिसरों और राजनीति में थिएटर' विषय पर परिचर्चा से हुई. इसके बाद हेमंत पांडेय द्वारा निर्देशित नाटक 'लसानवाला' का मंचन हुआ. यह थिएटर महोत्सव 9 मार्च तक श्रीराम सेंटर, कमानी और एलटीजी सभागार में होगा तथा पुरस्कार समारोह 10 मार्च को दिल्ली के ताज महल होटल में होगा.
  • शशि थरूर ने कहा, ब्रिटेन-भारत के आधुनिक रिश्तों पर नहीं है उनकी नई किताब
    लेखक एवं सांसद शशि थरूर ने कहा कि वह यह जानकर स्तब्ध हैं कि ब्रिटेन अपने स्कूलों में औपनिवेशिक इतिहास नहीं पढ़ाता जबकि उसे अपने अतीत की मुकम्मल जानकारी सुनिश्चित करने के लिए छात्रों को इसकी शिक्षा दी जानी चाहिए.
  • पत्रकार सरमन नगेले की किताब 'डिजिटल मध्यप्रदेश' हुई तोक्यो में रिलीज
    भोपाल के पत्रकार और लेखक सरमन नगेले की पुस्तक 'डिजिटल मध्यप्रदेश' को एशिया उत्पादकता संगठन के महासचिव डॉ. एस कनोक्तनापोर्न ने जापान के तोक्यो में हाल ही में रिलीज किया है. तोक्यो से वापस आने के बाद नगेले ने बताया कि इस बुक में मध्यप्रदेश की डिजिटल प्रोग्रेस के बारे में बताया गया है.
  • किसानी के संग कलम- स्याही करने वाले फणीश्वर नाथ रेणु
    आज (4 मार्च) मेरे प्रिय लेखक फणीश्वर नाथ रेणु का जन्मदिन है. रेणु अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन खेत में जब भी फसल की हरियाली देखता हूं तो लगता है कि रेणु हैं, हर खेत के मोड़ पे. उन्हें हम सब आंचलिक कथाकार कहते हैं लेकिन सच यह है कि वे उस फसल की तरह बिखरे हैं जिसमें गांव-शहर सब कुछ समाया हुआ है.
  • पुस्तक समीक्षा : इतवार छोटा पड़ गया - इस सादगी में इक बात है...
    दुष्यंत के बाद इस दौर तक आते-आते हिन्दी ग़ज़लों ने भी अपना चोला पूरी तरह बदला है. प्रताप सोमवंशी इसी साझा परंपरा की पैदाइश हैं, जिसमें वह अपना एक अलग रंग भी मिलाते हैं. 'इतवार छोटा पड़ गया' की ग़ज़लें इसका बहुत जीवंत सबूत हैं.
  • कांग्रेसी नेता मनीष तिवारी की किताब ‘डीकोडिंग ए डिकेड: दी पोलिटिक्स ऑफ पॉलिसी मेकिंग’ लॉन्च
    वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मनीष तिवारी ने मंगलवार को अपनी किताब ‘‘डीकोडिंग ए डिकेड: दी पोलिटिक्स ऑफ पॉलिसी मेकिंग’’ लॉन्च की. मनीष तिवारी ने कहा कि चुनावी वादे पूरे करने में भाजपा की नाकामी ने पार्टी को राष्ट्रवाद तथा पहचान की राजनीति पर ‘‘बनावटी’’ बहस करने के लिए मजबूर कर दिया है.

Advertisement

Advertisement