NDTV Khabar

बंगाल में मतदान के दौरान हिंसा: CPM उम्मीदवार की कार पर हमला, कहीं छोड़े गए आंसू गैस के गोले तो कहीं करनी पड़ी हवाई फायरिंग

बंगाल के कई हिस्सों में हिंसा की घटनाएं सामने आई हैं, एक उम्मीदवार की कार पर भी हमला कर दिया गया. सीपीएम उम्मीदवार मोहम्मद सलीम की कार पर पत्थर फेंके गए. वह रायगंज लोकसभा सीट के पाटागारा पोलिंग बूथ पर चुनाव डालने जा रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कोलकाता:

दूसरे चरण के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के दौरान बंगाल के कई हिस्सों में हिंसा की घटनाएं सामने आई हैं, एक उम्मीदवार की कार पर भी हमला कर दिया गया. सीपीएम उम्मीदवार मोहम्मद सलीम की कार पर पत्थर फेंके गए. वह रायगंज लोकसभा सीट के पाटागारा पोलिंग बूथ पर चुनाव डालने जा रहे थे. सलीम का मुकाबला कांग्रेस की मौजूदा सांसद दीपा दासमुंसी से है. दीपा से पहले उनके पति प्रिया रंजन दासमुंसी साल 1999 से इस सीट से सांसद थे.

न्यूज एजेंसी एएनआई से सलीम ने कहा, 'टीएमसी समर्थित गुंडे पाटागारा पोलिंग बूथ के आसपास इकट्ठा थे. वे वोटर्स को धमका रहे थे. जब मैंने वहां जाने की कोशिश की तो उन्होंने मेरे वाहन पर हमला कर दिया.' साथ ही कहा कि पुलिस टीएमसी के गुंडों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि सत्तारुढ़ पार्टी उन बूथों पर कब्जा करने चाहती है, जहां केंद्रीय बल के जवान तैनात नहीं हैं. साथ ही कहा कि वे वैध मतदाताओं को रोक रहे हैं.

दूसरे चरण के मतदान के बीच यूपी के बुलंदशहर से BJP के सांसद किये गए नजरबंद, ये है मामला


इसी संसदीय सीट के गिरपार बूथ पर भी हिंसा की घटना देखने को मिली. जहां मतदाताओं ने नेशनल हाइवे-34 को जाम कर दिया. उनका दावा है कि अज्ञात बदमाशों ने उन्हें वोट नहीं डालने दे रहे. पुलिस को उन्हें हटाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा.

दार्जिलिंग सीट के तहत चोपड़ा में लोगों के एक अन्य समूह ने नेशनल हाइवे-31 को जाम कर दिया. उन्होंने भी दावा किया कि उन्हें वोट नहीं डालने दिया गया. पुलिस ने लाठीजार्च किया, आंसू गैस के गोले छोड़े और आखिरकार भीड़ को हटाने के लिए हवा में फायरिंग करनी पड़ी.

मायावती ने उठाए चुनाव आयोग पर सवाल, पूछा- क्या EC केन्द्र के आगे नतमस्तक नहीं है?

चुनाव अधिकारी ने बताया कि काटाफुलबाड़ी में एक संवाददाता एवं छायाकार के साथ उस समय कुछ लोगों ने कथित तौर पर अनुचित व्यवहार किया जब वे मतदान को कवर कर रहे थे. उत्तर दिनाजपुर जिले के चोपरा में मतदाताओं ने कथित तौर पर सड़क पर जाम लगाने का प्रयत्न किया. उनकी शिकायत मतदान केंद्र पर केंद्रीय सुरक्षा बलों की अनुपस्थिति से संबंधित थी. कुछ अज्ञात लोगों ने पुलिस पर पथराव किया और बम फेंके. पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े. इस मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है.

टिप्पणियां

बता दें, पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण के तहत गुरुवार को हो रहे मतदान के शुरुआती दो घंटों में कुछ क्षेत्रों में हिंसा की छिटपुट घटनाओं के मध्य अनुमानित तौर पर 16.78 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि दार्जिलिंग में 16.14 प्रतिशत, जलपाईगुड़ी (अजा) सीट पर 16.84 एवं रायगंज सीट पर 17.45 प्रतिशत मत पड़े. रायगंज के कुछ क्षेत्रों में हिंसा और विरोध प्रदर्शन की खबरें हैं.

Video: यूपी के बुलंदशहर से BJP के सांसद किये गए नजरबंद


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement