NDTV Khabar

क्या कांग्रेस-AAP में नहीं हो पाएगा गठबंधन? जानें फिर कहां अटक सकता है रोड़ा

आम आदमी पार्टी ने कहा है कि वह दिल्ली में कांग्रेस के साथ तभी गठबंधन करेगी, जब वह हरियाणा में भी गठबंधन को तैयार होगी और दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की उसकी मांग का समर्थन करेगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या कांग्रेस-AAP में नहीं हो पाएगा गठबंधन? जानें फिर कहां अटक सकता है रोड़ा

राहुल गांधी ने शनिवार को शीला दीक्षित सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा की थी.

नई दिल्ली:

कांग्रेस (Congress) ने दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP) के साथ हरियाणा और पंजाब में गठबंधन की बात रविवार को खारिज कर दी. पार्टी ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के लिए आप के साथ राष्ट्रीय राजधानी में गठबंधन पर निर्णय अभी नहीं हो पाया है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, 'हरियाणा या पंजाब में आप से या किसी दूसरी पार्टी से गठबंधन पर कोई बातचीत नहीं हो रही है. हम दोनों राज्यों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा जल्द करेंगे.' 

वहीं आम आदमी पार्टी ने कहा है कि वह दिल्ली में कांग्रेस के साथ तभी गठबंधन करेगी, जब वह हरियाणा में भी गठबंधन को तैयार होगी और दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की उसकी मांग का समर्थन करेगी. आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल और वरिष्ठ पार्टी नेताओं संजय सिंह, मनीष सिसोदिया और गोपाल राय के बीच शनिवार को एक बैठक में ये दोनों शर्ते तय की गई थीं. दोनों पार्टियों के साथ आने में यह बड़ा रोड़ा बन सकता है.

कांग्रेस 'निर्णायक मोड़' पर पहुंची तो AAP ने रखी 'शर्त', कहा- इसके बिना नहीं होगा दिल्ली में गठबंधन


रविवार को सुरजेवाला ने यह भी कहा कि कांग्रेस दिल्ली में आप के साथ गठबंधन करने पर अभी कोई निर्णय नहीं ले पाई है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को इस मुद्दे पर दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा की थी. 

आम आदमी पार्टी ने यूपी की इस प्रमुख सीट पर दिया गठबंधन उम्मीदवार को समर्थन

बता दें, आम आदमी पार्टी (AAP) ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कांग्रेस (Congress) के साथ गठबंधन करने के लिए शर्त रखते हुए कहा था कि पार्टी कांग्रेस के साथ तभी चुनावी गठबंधन करेगी जब हरियाणा और चंडीगढ़ में भी दोनों दल मिल कर चुनाव लड़ें. आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन (AAP- Congress Alliance) के फैसले पर कांग्रेस नेतृत्व द्वारा शनिवार को निर्णायक स्थिति में पहुंचने की सुगबुगाहट के साथ ही दिल्ली में सत्तारूढ़ पार्टी ने यह शर्त रखी. पार्टी सूत्रों ने बताया कि आप की तरफ से कांग्रेस नेतृत्व को दो शर्तें रखी गयी हैं. इसमें पहली शर्त यह है कि दिल्ली के साथ हरियाणा और चंडीगढ़ में भी कांग्रेस गठबंधन करे और दूसरा, कांग्रेस को आप के दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग का समर्थन करना चाहिये.

AAP के साथ गठबंधन पर बोले राहुल गांधी- हम सकारात्मक गठबंधन के लिए तैयार हैं, रास्ते खुले हैं

गठबंधन की शुरुआती पहल के दौर में आप ने दिल्ली के अलावा पंजाब और हरियाणा में भी गठबंधन करने की कांग्रेस के समक्ष पेशकश की थी, लेकिन पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पहले ही कांग्रेस नेतृत्व को राज्य में पार्टी के मजबूत होने का हवाला देते हुये आप के साथ गठबंधन की जरूरत को सिरे से खारिज कर दिया था. इसके बाद हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने भी पार्टी नेतृत्व को गठबंधन नहीं करने का सुझाव दिया है. कांग्रेस सूत्रों के अनुसार पार्टी में पिछले दो दिनों से आप के साथ गठबंधन के मुद्दे पर पार्टी की प्रदेश और केन्द्रीय नेताओं के बीच विचार मंथन जारी है.

(इनपुट- आईएएनएस)

टिप्पणियां

अब भी जारी है गठबंधन की कवायद, कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी को दिया यह आखिरी फॉर्मूला!

Video: गठबंधन पर सस्पेंस, मगर दिल्ली में चुनाव प्रचार में जुटे अरविंद केजरीवाल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement