छठे चरण के मतदान से ठीक पहले ओवैसी ने मोदी पर साधा निशाना, कहा - गुजरात दंगों को लेकर तो...

ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने एक ट्वीट में कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान मोदी जीवन की रक्षा करने के अपने संवैधानिक कर्तव्य में विफल रहे थे.

छठे चरण के मतदान से ठीक पहले ओवैसी ने मोदी पर साधा निशाना, कहा - गुजरात दंगों को लेकर तो...

असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने लोकसभा चुनाव के छठे चरण से ठीक पहले पीएम मोदी पर एक बार फिर हमला बोला है. उन्होंने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को गुजरात में 2002 के दंगों की याद दिलायी. बता दें कि इससे पहले मोदी ने 1984 में सिख विरोधी दंगों को कथित तौर पर 'भयावह जनसंहार' करार दिया था. ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने एक ट्वीट में कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान मोदी जीवन की रक्षा करने के अपने संवैधानिक कर्तव्य में विफल रहे थे. श्रीमान प्रधानमंत्री वैसे ही 2002 के दंगे भी थे जो मुख्यमंत्री के तौर पर आपके कार्यकाल के दौरान हुए थे और आप मानव जीवन की रक्षा करने के अपने संवैधानिक शपथ में विफल रहे थे.

पुलवामा हमले पर ओवैसी ने पीएम मोदी को घेरा, बोले- क्या बीफ बिरयानी खाकर सो गए थे

ओवैसी (Asaduddin Owaisi) हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र से फिर से चुनाव लड़ रहे हैं जहां से वह फिलहाल सांसद हैं. उन्होंने कहा कि मामलों के आरोपियों ने 1984 और 2002 में चुनाव जीते. एआईएमआईएम प्रमुख 1984 के सिख विरोधी दंगों पर कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के "हुआ तो हुआ, टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पर मोदी के हमले की ओर इशारा कर रहे थे. पित्रोदा ने भाजपा पर "सच्चाई तोड़ मरोड़कर पेश करने" का आरोप लगाया था और कहा था कि इस चुनाव में अतीत की चीजें प्रासंगिक नहीं हैं. गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब औवैसी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है. इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर निशाना साधा था और पूछा कि क्या वह 'बीफ बिरयानी खाकर सो गए थे', जबकि सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. असदुद्दीन के छोटे भाई एवं पार्टी विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी ने भी पीएम मोदी पर उनके ‘मैं भी चौकीदार' अभियान को लेकर निशाना साधा और कहा था कि यदि प्रधानमंत्री एक वाचमैन बनना चाहते हैं तो वह उन्हें चौकीदार की टोपी और सीटी देंगे. हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ने यहां एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह के उस बयान को रेखांकित किया था कि नेशनल टेक्निकल रिसर्च आर्गेनाइजेशन (एनटीआरओ) ने पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों द्वारा हवाई हमले से पहले वहां करीब 300 ‘सक्रिय' मोबाइल फोन होने का पता लगाया था.

असदुद्दीन ओवैसी बोले- भारत रत्न के लिए चुनते समय मुसलमानों और दलितों की होती है अनदेखी

असदुद्दीन (Asaduddin Owaisi) ने सवाल किया था कि ‘मैं राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री मोदी से पूछना चाहता हूं कि यदि एनटीआरओ बालाकोट में करीब 300 मोबाइल फोन देख सकता है तो क्या दिल्ली में बैठकर आप यह नहीं देख पाये कि किस तरह से 50 किलोग्राम आरडीएक्स पुलवामा में लाया गया''.उन्होंने कहा, था कि ‘आपकी नाक के नीचे 50 किलोग्राम आरडीएक्स पुलवामा में लाया गया. क्या आप उसे नहीं देख पाये? क्या आप सोये हुए थे? क्या आपने बिरयानी खायी थी. हो सकता है कि आपने बीफ बिरयानी खायी हो और सो गए हों. यहां हमारे 40 लोग शहीद हो गए'. 14 फरवरी को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में एक आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. पुराने शहर की चंद्रायनगुट्टा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) विधायक अकबरुद्दीन ने प्रधानमंत्री के चौकीदार अभियान का माखौल उड़ाया.

पाक PM इमरान को ओवैसी की दो टूक: आप एटम बम की बात करते हो, हमारे यहां नहीं है क्या?

Newsbeep

उन्होंने कहा था कि ‘‘मैं ‘मोदी भक्तों' पर और मोदी को वोट करने वालों पर हैरान हूं. कभी मोदी चायवाला बन जाते हैं और कभी फकीर'. उन्होंने कहा था कि ‘‘मैं नरेंद्र मोदी से कहना चाहता हूं कि आप एक ‘चायवाला' थे और जनता ने आपको प्रधानमंत्री बनाया और अब आप कह रहे हैं कि आप एक चौकीदार हैं. किसके चौकीदार? मैं सोशल मीडिया पर नहीं हूं. मेरे एक मित्र ने ट्विटर पर चौकीदार नरेंद्र मोदी, चौकीदार अमित शाह के बारे में दिखाया'.अकबरुद्दीन ने कहा था कि ‘‘चौकीदार केवल ट्विटर पर ही क्यों? चौकीदार आधारकार्ड, वोटरकार्ड और नरेंद्र मोदी के पासपोर्ट पर भी डालें''. आपको बता दें कि आम चुनाव से पहले भाजपा ने ‘मैं भी चौकीदार' अभियान तेज कर दिया है और मोदी के साथ ही पार्टी अध्यक्ष अमित शाह सहित सभी वरिष्ठ नेताओं ने अपने ट्विटर हैंडल में ‘‘चौकीदार'' शब्द जोड़ लिया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO- रमजान में वोटिंग पर कोई असर नहीं: ओवैसी