NDTV Khabar

BSP-SP-RLD की संयुक्त रैली में दिखे चंद्रशेखर आजाद के पोस्टर्स, मायावती ने बताया था BJP की B टीम

महागठबंधन की इस रैली में बसपा प्रमुख मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालेद के अजित चौधरी और जयंत चौधरी इस रैली को संबोधित करेंगे. इस रैली में भीम आर्मी के समर्थक चंद्र शेखर आजाद की तस्वीर के बड़े-बड़े पोस्टर्स के साथ पहुंचे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
BSP-SP-RLD की संयुक्त रैली में दिखे चंद्रशेखर आजाद के पोस्टर्स, मायावती ने बताया था BJP की B टीम

रैली में चंद्रशेखर को पोस्टर्स.

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के देवबंद में बसपा-सपा और रालेद की संयुक्त रैली में दलित नेता और भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद के पोस्टर्स नजर आए हैं. महागठबंधन की इस रैली में बसपा प्रमुख मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालेद के अजित चौधरी और जयंत चौधरी इस रैली को संबोधित करेंगे. इस रैली में भीम आर्मी के समर्थक चंद्र शेखर आजाद की तस्वीर के बड़े-बड़े पोस्टर्स के साथ पहुंचे हैं. बता दें, मायावती ने चंद्रशेखर आजाद को पसंद नहीं करती हैं. मायावती ने चंद्रशेखर को भाजपा का एजेंट बताते हुए उन्हें 'बी' टीम करार दिया था. 

हालही मायावती ने भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर पर दलित वोट बांटकर भाजपा को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया था. साथ ही उन्होंने भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए एकजुट रहने की अपील भी की थी. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था, 'दलितों का वोट बांटकर भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिए ही भाजपा भीम आर्मी के चन्द्रशेखर को वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़वा रही है. यह संगठन भाजपा ने ही षड्यंत्र के तहत बनवाया है और इसकी आड़ में भी अपनी दलित-विरोधी मानसिकता वाली घिनौनी राजनीति कर रही है."

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर की दो टूक- 'सुधर जाओ नहीं तो सुधार देंगे, अब बहुजन समाज घोड़ी पर चढ़ेगा और मूंछें भी रखेगा'


साथ ही उन्होंने लिखा था, 'भाजपा ने गुप्तचरी करने के लिये पहले चन्द्रशेखर को बीएसपी. में भेजने का प्रयास किया, लेकिन उनका यह षड्यंत्र विफल रहा. अहंकारी, निरंकुश व घोर जातिवादी व सांप्रदायिक भाजपा को सत्ता से हटाने के लिये आपका एक-एक वोट बहुत कीमती है. इसे किसी भी हाल में बर्बाद नहीं होने देने की अपील की."

बीजेपी ने जासूसी के लिए चंद्रशेखर को बीएसपी में भेजने की कोशिश की थी, अब दलित वोटों को बांटने के लिए वाराणसी से लड़वा रही है : मायावती

गौरतलब है कि बसपा, सपा और रालोद गठबंधन की लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के लिए पहली संयुक्त रैली की शुरुआत रविवार को सहारनपुर के देवबंद से होगी. भाजपा (BJP) को हराने के लिये इस महागठबंधन की पहली संयुक्त रैली देवबंद में होगी जहां पहले चरण में 11 अप्रैल को चुनाव होने हैं. यह पहली बार होगा कि गठबंधन की तीनों पार्टियों के प्रमुख नेता एक ही मंच पर होंगे. इस रैली को बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) संबोधित करेंगी. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता ने बताया कि देवबंद की रैली में पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) मौजूद रहेंगे. 

टिप्पणियां

NDTV से बोले चंद्रशेखर 'रावण'- मैंने मायावती को पांच बार किया फोन पर नहीं मिला जवाब

Video: मेरा मकसद सिर्फ नरेंद्र मोदी को हराना है - चंद्रशेखर



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement