NDTV Khabar

पश्चिम बंगाल की दुर्गापुर लोकसभा सीट से बीजेपी ने एसएस अहलूवालिया को बनाया उम्मीदवार

वहीं पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि अगर भाजपा पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव जीती तो राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (तृकां) सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पश्चिम बंगाल की दुर्गापुर लोकसभा सीट से बीजेपी ने एसएस अहलूवालिया को बनाया उम्मीदवार

एसएस अहलूवालिया (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भाजपा ने पश्चिम बंगाल की दुर्गापुर लोकसभा सीट से एस एस अहलूवालिया  को अपना उम्मीदवार बनाए जाने की रविवार को घोषणा कर दी.  मौजूदा लोकसभा में 67 वर्षीय अहलूवालिया इसी राज्य में दार्जीलिंग सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं. उम्मीदवारी की घोषणा के बाद अहलूवालिया ने कहा कि वह इस सीट से उन्हें नामांकित करने के लिए पार्टी नेतृत्व का आभार जताते हैं. उन्होंने कहा कि इस सीट से उन्होंने अपनी जिंदगी के सबसे महत्वपूर्ण सबक सीखें. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अपने छात्र जीवन के दिन वहां बिताएॉ. मैं बर्धमान विश्वविद्यालय में छात्र कार्यकर्ता था. मेरी उम्मीदवारी इस स्थान के लोगों की सेवा करने का मेरे लिए अवसर है.'' इसके साथ ही पार्टी ने सात चरणों के लोकसभा चुनाव के लिए 408 उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है। मतदान 11 अप्रैल से 19 मई तक होंगे और मतगणना 23 मई को होगी. वहीं पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि अगर भाजपा पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव जीती तो राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (तृकां) सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी और राज्य में इस साल के भीतर फिर से चुनाव कराने पड़ेंगे. घोष ने कहा कि बंगाल दोराहे पर खड़ा है. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में चुनाव भाजपा जैसी राष्ट्रीय शक्तियों और तृणमूल कांग्रेस जैसी राष्ट्रवाद विरोधी शक्तियों के बीच होंगे. उन्होंने यह भी कहा कि अगर भाजपा राज्य में लोकसभा चुनाव जीती तो वह भारत-बांग्लादेश सीमा पर "अवैध मदरसों के खिलाफ कार्रवाई करेगी क्योंकि यह मदरसे राष्ट्रविरोधी और आतंकी गतिविधियों के पोषक हैं."

पश्चिम बंगाल की रैली में पीएम मोदी का आरोप, मैदान छोटा मुहैया कराया गया है कि ताकि लोग कम आएं


टिप्पणियां

घोष ने कहा कि राज्य की तृणमूल सरकार 2021 तक का अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी. उन्होंने कहा कि राज्य में इस वर्ष के अंत तक विधानसभा चुनाव कराए जा सकते हैं क्योंकि तृणमूल कांग्रेस के कई नेता और चुने हुए प्रतिनिधि "तृणमूल कांग्रेस के डूबते हुए जहाज" को छोड़ सकते हैं." घोष ने कहा, "पश्चिम बंगाल विकास के दोराहे पर खड़़ा है. यह चुनाव इस भ्रष्ट तृणमूल कांग्रेस सरकार को हटाने के लिये अंतिम वार से पहले सेमीफाइनल की तरह होगा. लोग पश्चिम बंगाल में बदलाव का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. हमारे केन्द्रीय नेतृत्व ने हमें 42 में से 23 सीटें जीतने का लक्ष्य दिया है और हम इसपर काम कर रहे हैं. हमें पूरा विश्वास है कि हम न सिर्फ इस लक्ष्य को हासिल करेंगे बल्कि उससे भी ज्यादा सीटें जीतेंगे."

ममता बनर्जी और पीएम मोदी के बीच जमकर हुआ वार-पलटवार​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement