NDTV Khabar

उमा भारती से मिलकर फूट फूट कर रोईं प्रज्ञा ठाकुर, केंद्रीय मंत्री ने पोछे आंसू, देखें VIDEO

मुलाकात के दौरान प्रज्ञा ठाकुर भावुक हो गईं और रो पड़ीं. प्रज्ञा को रोते देखे उमा भारती ने उनके आंसू पोछे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भोपाल:

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के लिए भाजपा की उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) केंद्रीय मंत्री उमा भारती से मिलकर रो पड़ीं. भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती (Uma Bharti) ने प्रज्ञा ठाकुर से भोपाल में ही मुलाकात की थी. मुलाकात के दौरान प्रज्ञा ठाकुर भावुक हो गईं और रो पड़ीं. प्रज्ञा को रोते देखे उमा भारती ने उनके आंसू पोछे. इसके बाद प्रज्ञा ठाकुर की गाड़ी में सवार उनके साथी लोगों से उन्हें पानी देने के लिए कहा गया. उमा भारती ने कार में बैठी प्रज्ञा ठाकुर के आगे झुककर प्रणाम किया.

रविवार को केंद्रीय मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को संत बताया था और कहा था कि मेरी उनसे कोई तुलना नहीं है. दरअसल, केंद्रीय मंत्री उमा भारती से जब यह पूछा गया कि क्या मध्य प्रदेश की राजनीति में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर उनका स्थान ले लेंगी, तो उन्होंने कहा कि, 'वह (साध्वी प्रज्ञा) एक महान संत हैं. मेरी उनसे तुलना मत करिये. मैं तो सिर्फ एक साधारण और मूर्ख प्राणी हूं'.

केंद्रीय मंत्री और BJP की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बताया महान संत, कहा...


बता दें कि बीजेपी ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर को मध्य प्रदेश के भोपाल संसदीय क्षेत्र से दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा है. मालेगांव विस्फोट में अपने बेटे को खोने वाले निसार सैयद ने ठाकुर को चुनाव लड़ने से रोकने की मांग करते हुए अदालत का दरवाजा खटखटाया था. अपनी याचिका में उन्होंने यह भी कहा कि ठाकुर की जमानत रद्द करने की मांग करने वाली एक याचिका उच्चतम न्यायालय में लंबित है. इस पर NIA के विशेष न्यायाधीश वीएस पडालकर ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि वकील भली-भांति जानते हैं कि यह उचित मंच (याचिका के लिए) नहीं है. न्यायाधीश ने कहा,‘‘....इस अदालत ने जमानत नहीं दी ...गलत मंच चुना गया है.'' 

मसूद अजहर को प्रज्ञा ठाकुर शाप दे देतीं तो सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत ही नहीं पड़ती: दिग्विजय सिंह

गौरतलब है कि इससे पहले प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने को लेकर दिए गए विवादित बयान पर चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया था. यह मामला निर्वाचन आयोग के निर्देश पर दर्ज किया गया. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, जिला निर्वाचन अधिकारी सुदाम खाड़े के निर्देश पर अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व (एसडीएम) संजय श्रीवास्तव ने टीटी नगर थाने में मामला दर्ज कराया. प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ यहां मामला आईपीसी की धारा 188 के तहत दर्ज किया गया है. प्रज्ञा ठाकुर ने एक समाचार चैनल को दिए गए बयान में विवादित ढांचे को गिराए जाने पर गर्व होने की बात कही थी. इस पर निर्वाचन आयोग ने शनिवार को नोटिस जारी कर प्रज्ञा ठाकुर से जवाब मांगा था. 

(इनपुट- एएनआई)

टिप्पणियां

प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान जा रहे बीजेपी के खिलाफ, पूर्व केंद्रीय मंत्री ने बताया पहाड़ जैसी गलती, संघ ने भी समझाया

Video: साध्‍वी प्रज्ञा के लिए प्रचार करने से बीजेपी की फ़ातिमा सिद्दीकी का इनकार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement