NDTV Khabar

बोफोर्स याचिकाकर्ता और 2014 में सोनिया के खिलाफ चुनाव लड़ चुके BJP के पूर्व नेता PM मोदी के खिलाफ प्रचार में उतरे

भाजपा के पूर्व नेता अजय अग्रवाल ने राजीव गांधी के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की टिप्पणी की मंगलवार को निंदा की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बोफोर्स याचिकाकर्ता और 2014 में सोनिया के खिलाफ चुनाव लड़ चुके BJP के पूर्व नेता PM मोदी के खिलाफ प्रचार में उतरे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.(फाइल तस्वीर)

वाराणसी:

रायबरेली लोकसभा सीट पर भाजपा (BJP) के टिकट पर सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के खिलाफ 2014 का चुनाव लड़ चुके पार्टी के पूर्व नेता अजय अग्रवाल ने राजीव गांधी के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की टिप्पणी की मंगलवार को निंदा की. वरिष्ठ वकील अग्रवाल ने कहा कि बोफोर्स मामले में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) के खिलाफ कोई भी आरोप कभी साबित नहीं हुआ और उन्हें क्लीनचिट दी गई. उन्होंने दावा किया कि उन्होंने 14 सालों तक हिंदुजा बंधुओं के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता के रूप में बोफोर्स मामले का प्रतिनिधित्व किया और उन्हें इस मामले की बारीकियों की पूरी जानकारी है. 

वाराणसी में कांग्रेस (Congress) के उम्मीदवार अजय राय के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि वह मोदी के खिलाफ अभियान चलाने के लिए यहां डेरा डाले हुए हैं. उन्होंने कांग्रेस को मोदी की ओर से दी गई, इस आम चुनाव के बाकी दो चरण राजीव गांधी के नाम पर लड़ लेने की चुनौती की निंदा की और प्रधानमंत्री पर चुनावी फायदे के लिए पाकिस्तान को युद्ध के लिए उकसाने का आरोप लगाया. अग्रवाल ने पूर्व कांग्रेस नेता और अब भाजपा नेता एवं जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सतपाल मलिक का एक ऑडियो क्लिप जारी किया जिसमें वह कह रहे हैं कि राजीव गांधी भ्रष्ट या लालची नहीं थे.


सपा प्रमुख अखिलेश यादव बोले- वाराणसी से अगर 'फौजी' प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ता तो...

वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राजीव गांधी को कथित रूप से ‘भ्रष्टाचारी नंबर वन' कहे जाने पर चुनाव आयोग (Election Commission) को मंगलवार को अपनी रिपोर्ट सौंपी. मंगलवार शाम को आयोग को रिपोर्ट और उसके साथ ऑडियो-वीडियो रिकार्डिंग भेजी गयी. रिपोर्ट में मोदी के भाषण का संबंधित अंश है. मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि प्रथमदृष्टया प्रधानमंत्री की टिप्पणी को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं पाया गया है. लेकिन वहां अधिकारियों ने यह कहते हुए ऑन रिकार्ड कुछ भी कहने से इनकार कर दिया कि अभी चुनाव आयोग इस मुद्दे पर आदर्श आचार संहिता एवं अन्य संबंधित नियमों के आधार पर निर्णय लेगा.

चुनाव न लड़कर भी PM मोदी को मात देने की तैयारी में प्रियंका गांधी, वाराणसी में कैंप कर पूर्वांचल की 13 सीटों को भी देंगी नई धार

कांग्रेस ने मोदी की इस कथित टिप्पणी पर सोमवार को आयोग से संपर्क किया था. उसके बाद रिपोर्ट मांगी गयी थी. शनिवार को उत्तर प्रदेश की एक रैली में मोदी ने यह कहते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा था, ‘आपके पिता को उनके दरबारियों ने मिस्टर क्लीन की तरह पेश किया लेकिन उनका जीवन भ्रष्टाचारी नंबर एक के रूप में समाप्त हुआ.'

(इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां

वाराणसी में तेज बहादुर का पर्चा भले ही हो गया हो खारिज, लेकिन PM मोदी की राह नहीं है आसान

Video: रवीश के रोड शो में बोले अखिलेश यादव - यूपी से कौन बने पीएम ये गठबंधन तय करेगा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement