NDTV Khabar

कांग्रेस का आरोप- पूर्व BJP चीफ के निधन के 7 महीने बाद ही PM मोदी ने ‘चुराया’ उनका प्लॉट

कांग्रेस ने इससे पहले भी इस संबंध में अनियमितताओं का आरोप लगाया था जिसका भाजपा ने खंडन किया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस का आरोप- पूर्व BJP चीफ के निधन के 7 महीने बाद ही PM मोदी ने ‘चुराया’ उनका प्लॉट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.(फाइल तस्वीर)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) पर एक मृत व्यक्ति का भूखंड ‘चुराने' का आरोप लगाते हुए कांग्रेस (Congress) ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने गांधीनगर में उन्हें आवंटित भूखंड के बारे में चुनाव आयोग को गलत जानकारी दी. कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने दावा किया कि मोदी से पूछा जाना चाहिए कि उनका भूखंड कौन सा है क्योंकि 2002 में पहले हलफनामे में उन्होंने (मोदी) कहा कि भूखंड संख्या 411 उनका है, फिर अगले हलफनामे में कहा कि 401/ए उनका है और इसमें भूखंड संख्या 411 का कोई जिक्र नहीं था. कांग्रेस ने इससे पहले भी इस संबंध में अनियमितताओं का आरोप लगाया था जिसका भाजपा ने खंडन किया था.

खेड़ा ने कहा कि भाजपा ने एक ट्वीट करके स्पष्ट किया था कि भूखंड मिला दिये गये हैं. उन्होंने सवाल किया, ‘चार भूखंडों को आपस में मिला दिया गया है. ये आवंटित भूखंड हैं जिन्हें गुजरात सरकार ने अपने विधायकों, सांसदों और अपनी पसंद के लोगों को दिये हैं... अब मोदीजी ने भी अपने हलफनामे में लिखा है कि ये भूखंड मिला दिये गये हैं. हमने पूछताछ की और पाया कि ये भूखंड हस्तांतरित या बेचे नहीं जा सकते. इसलिए, अगर उन्हें हस्तांतरित नहीं किया जा सकता तो उन्हें मिलाया कैसे जा सकता है.'


PM मोदी के 'भ्रष्टाचारी नंबर-1' वाले बयान के बाद अब BJP की सहयोगी पार्टी बोली- राजीव गांधी ‘भारत के सबसे बड़े मॉब लिंचर' थे

इससे पहले अप्रैल में लगे आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा ने कहा था कि चार अलग-अलग लोगों द्वारा खरीदे गये चार भूखंडों को 25 अप्रैल 2008 में मिलाकर एक कर दिया गया. उन्होंने कहा कि आपस में मिलाकर तैयार भूखंड की संख्या अलग-अलग भूखंडों की संख्या से भिन्न है. खेड़ा ने आरोप लगाया, ‘हैरान करने वाली बात यह है कि जिस व्यक्ति का भूखंड प्रधानमंत्री के भूखंड से मिलाया गया वह पूर्व भाजपा अध्यक्ष जन कृष्णामूर्ति हैं. उनका निधन सितंबर 2007 में हो चुका है. इसके केवल सात महीने बाद ही उनके भूखंड को मोदी के भूखंड के साथ मिला दिया गया.'

जिग्नेश मेवाणी ने कहा- ऐसे लोगों को वोट दो जो आपके बच्चों को ऑक्सफोर्ड भेजें, न कि अयोध्या या कुंभ

उन्होंने कहा, ‘बताइए, क्या कोई मृत व्यक्ति इसके लिए अपनी मंजूरी दे सकता है? हम आपसे सबूत की मांग करते हैं... चौकीदार ने एक मृत व्यक्ति का भूखंड चुरा लिया और अपने हलफनामे में इस बारे में सही सूचना नहीं दी. इसलिए, हम बार-बार कहते हैं ‘चौकीदार चोर है'.'

(इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां

रवीश कुमार का ब्लॉग: क्या चुनाव आयोग प्रधानमंत्री मोदी आयोग बन गया है?

Video: पीएम मोदी के बयान पर राहुल और प्रियंका का पलटवार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement