NDTV Khabar

खत्म नहीं हुई कांग्रेस-AAP गठबंधन की उम्मीद, कांग्रेस ने दिया नया फॉर्मूला, जानें क्या फंसा है पेच

सूत्रों के मुताबिक नए फॉर्मूले में कांग्रेस ने दिल्ली में तीन सीटों की मांग की है. साथ ही हरियाणा में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) को एक सीट और पंजाब में कोई भी सीट नहीं देने की बात कही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
खत्म नहीं हुई कांग्रेस-AAP गठबंधन की उम्मीद, कांग्रेस ने दिया नया फॉर्मूला, जानें क्या फंसा है पेच

आम आदमी पार्टी के सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस से अभी कोई औपचारिक संदेश नहीं आया है.

खास बातें

  1. कांग्रेस ने दिया नया फॉर्मूला
  2. दिल्ली में मांगी तीन सीटें
  3. AAP चाहती है छह सीटें
नई दिल्ली:

दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन (Congress AAP Alliance) की कवायद अभी भी चल रही है. सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस (Congress) ने गठबंधन के लिए आम आदमी पार्टी को आखिरी फॉर्मूला दिया है. सूत्रों के मुताबिक नए फॉर्मूले में कांग्रेस ने दिल्ली में तीन सीटों की मांग की है. साथ ही हरियाणा में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) को एक सीट और पंजाब में कोई भी सीट नहीं देने की बात कही है. अगर आम आदमी पार्टी को यह फॉर्मूला मंजूर होता है तो गठबंधन होगा, नहीं तो कांग्रेस सातों सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान करेगी. आम आदमी पार्टी के सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस से अभी कोई औपचारिक संदेश नहीं आया है. आम आदमी पार्टी दिल्ली में छह सीटों पर अड़ी हुई है. 

वहीं दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के साथ नई दिल्ली में गठबंधन से इनकार किया.


दिल्ली में कांग्रेस नहीं करेगी आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन, राहुल गांधी ने लिया फैसला!

बता दें, सूत्रों के मुताबिक गठबंधन को लेकर शनिवार को कांग्रेस की हुई बैठक राहुल गाधी ने आम आदमी पार्टी से हाथ न मिलाने का फैसला किया था. हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है. पार्टी नेताओं से रायशुमारी के बाद राहुल गांधी ने तय किया कि दिल्ली में कांग्रेस अकेले ही चुनाव लड़ेगी. साथ ही बताया गया था कि इससे पहले दिल्ली कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी ने आम आदमी पार्टी से गठबंधन की अटकलों के बीच राष्ट्रीय राजधानी की सात लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम छांटने के लिए शनिवार देर रात बैठक की. पार्टी सूत्रों ने बताया कि कमेटी को पिछले महीने सात लोकसभा सीटों के लिए मिले 80 आवेदनों में से नाम छांटने का काम सौंपा गया है.

आम आदमी पार्टी ने प्रयागराज सीट पर इन्हें बनाया अपना उम्मीदवार, कहा- रचेंगे इतिहास

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि औसतन हर सीट के लिए दो-तीन नाम छांटे जाएंगे और उम्मीदवारों के अंतिम चयन के लिए आला कमान को नई सूची भेजी जाएगी. आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस के गठबंधन के बारे में फैसला पार्टी प्रमुख राहुल गांधी को करना है.

टिप्पणियां

आडवाणी और जोशी का टिकट काटने पर केजरीवाल का BJP पर निशाना- जिन्होंने बनाया उन्हें ही घर से निकाला, ये हिंदू संस्कृति के खिलाफ

Video: कांग्रेस-AAP गठबंधन की उम्मीद बाकी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement