NDTV Khabar

2019 लोकसभा चुनावों में राजस्‍थान समेत 4 राज्‍यों में BJP को हराने के लिए कांग्रेस बना रही है ये 'प्‍लान'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने 2019 के आम चुनाव में समान विचारधारा वाले दलों से संभावित गठजोड़ के लिये मंगलवार को राजस्थान, तेलंगाना, तमिलनाडु और केरल में पार्टी के प्रदेश नेतृत्व से बात की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
2019 लोकसभा चुनावों में राजस्‍थान समेत 4 राज्‍यों में BJP को हराने के लिए कांग्रेस बना रही है ये 'प्‍लान'

फाइल फोटो

खास बातें

  1. कांग्रेस गठबंधन करने की योजना बना रही है
  2. 2019 के आम चुनाव में समान विचारधारा वाले दलों से संभावित गठजोड़ संभव
  3. राजस्थान और तेलंगाना में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं.
नई दिल्ली:

यूपी, बिहार ही नहीं बल्कि देश के अन्‍य राज्‍यों में 2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी से मुकाबला करने के लिए कांग्रेस गठबंधन करने की योजना बना रही है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने 2019 के आम चुनाव में समान विचारधारा वाले दलों से संभावित गठजोड़ के लिये मंगलवार को राजस्थान, तेलंगाना, तमिलनाडु और केरल में पार्टी के प्रदेश नेतृत्व से बात की. इन चार राज्यों में से राजस्थान और तेलंगाना में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. सूत्रों के मुताबिक, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुखों समेत राज्य कांग्रेस के नेताओं से प्रदेश स्तर पर दूसरे दलों के साथ गठबंधन के लिये चर्चा की जिससे बीजेपी के खिलाफ संयुक्त रूप से चुनाव लड़ा जा सके. 

2019 के चुनावी साल में मीडिया की लाश आपके घर आने वाली है, आपकी क्या तैयारी है?


सूत्रों ने कहा कि इन राज्यों के नेताओं ने अपने राज्य में जीत के लिये संभावित गठजोड़ पर अपनी राय व्यक्त की और शीर्ष कांग्रेस नेतृत्व से ऐसे दलों से बातचीत करने को कहा. अगले आम चुनाव में भाजपा से मुकाबला के लिए कांग्रेस प्रत्येक राज्य में गठबंधन बनाने की कोशिश कर रही है. सूत्रों के मुताबिक प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को अपनी पसंद से अवगत करा दिया है. अहमद पटेल, ए के एंटनी, गुलाम नबी आजाद और अशोक गहलोत समेत वरिष्ठ नेताओं का एक समूह प्रदेश पार्टी नेताओं के साथ ऐसी चर्चा कर रहा है.

आखिर क्यों अरविंद केजरीवाल ने एक ही दिन में दो बार अमित शाह को बहस के लिए ललकार दिया?

टिप्पणियां

वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने कहा कि विपक्ष के गठबंधन की चर्चा का केवल एक ही एजेंडा बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्‍ता से बाहर करना है. यहां 'अखंड भारत और कश्मीर' विषय पर आयोजित एक कार्यक्रम में राम माधव ने कहा कि ''विपक्ष गठबंधन बना रहा है, लेकिन ना तो उसका कोई झंडा है ना ही कोई एजेंडा. वे चाहते है कि भाजपा और नरेन्द्र मोदी को सत्ता से बाहर किया जाए.'' माधव ने कहा कि बीजेपी इस तरह की राजनीति में विश्वास नहीं करती. हम केवल स्वच्छ, बहादुरी और आत्म सम्मान का समर्थन करते है. बीजेपी ने जम्मू कश्मीर में लोगों के कल्याण के लिये गठबंधन की सरकार बनाई. बीजेपी ने बहादुरी के साथ समर्थन वापस लिया क्योंकि यह वैचारिक लडाई थी.

VIDEO: NRC में जिनके नाम नहीं, उन्हें दीमक कहना उचित?

उन्होंने कहा कि वे उस वैचारिकता से संबंध रखते है जिसके डीएनए में 'अखंड भारत' की संकल्पना है. उन्‍होंने कहा, 'कोई भी कितना भी प्रयास करे, हम एक इंच भी कश्मीर का नहीं देंगे. हम 50 सालों तक आतंकवाद से लडने को तैयार हैं. देश की चिंता मत करें, कश्मीर सुरक्षित हाथों में है.'  (इनपुट एजेंस से)
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement