NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश की इन 6 सीटों पर बीजेपी और बीएसपी में सीधी लड़ाई, कांग्रेस के वोट किसे देंगे चोट

18 अप्रैल को उत्तर प्रदेश की जिन 8 सीटों पर चुनाव होना है उनमें नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, आगरा और फतेहपुर सीकरी पर बीएसपी उम्मीदवार हैं. जबकि हाथरस से समाजवादी पार्टी और मथुरा से आरएलडी चुनाव मैदान में है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश की इन 6 सीटों पर बीजेपी और बीएसपी में सीधी लड़ाई, कांग्रेस के वोट किसे देंगे चोट

फाइल फोटो

खास बातें

  1. 6 सीटों पर बीजेपी और बीएसपी में सीधी लड़ाई
  2. दलित-मुस्लिम वोट निर्णायक
  3. कांग्रेस का भी दावा मजबूत
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव  के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की 8 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. बीते लोकसभा चुनाव में बीजेपी का सभी सीटों पर कब्जा था. लेकिन इस बार बीजेपी के लिए राह आसान नहीं है. सपा और बसपा गठबंधन ने इस बार बीजेपी के लिए कई सीटों पर मुश्किलें खड़ा कर सकता है. बीजेपी के लिए राहत वाली बात यह है कि कांग्रेस भी इस बार सभी मजबूती से लड़ने का दावा कर रही है. त्रिकोणीय लड़ाई होने पर फायदा बीजेपी को मिलने के आसार हैं. 18 अप्रैल को उत्तर प्रदेश की जिन 8 सीटों पर चुनाव होना है उनमें नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, आगरा और फतेहपुर सीकरी पर बीएसपी उम्मीदवार हैं. जबकि हाथरस से समाजवादी पार्टी और मथुरा से आरएलडी चुनाव मैदान में है. लेकिन हर सीट का समीकरण अलग-अलग है. बीजेपी के सामने बड़ी चुनौती है इन सीटों को बचाए रखना है. 

उत्तर प्रदेश की सियासत के शूरमा कैसे बने आजम खान? उनके बारे में ये बातें नहीं जानते होंगे आप


बुलंदशहर 
बीते साल ही बुलंदशहर में गोकसी के शक में हुई हिंसा के बाद से यह जिला पूरे देश की नजर में है. इस सुरक्षित सीट पर बीजेपी  ने वर्तमान सांसद भोला सिंह, बीएसपी ने योगेश वर्मा और कांग्रेस ने पूर्व विधायक बंशी सिंह पहाड़िया को टिकट दिया है. इस लोकसभा सीट में 77 फीसदी हिंदू और 22 मुस्लिम मतदाता हैं. इस सीट पर इस बार दलित-मुस्लिम वोटबैंक का समीकरण बीजेपी के लिए परेशानी का कारण हैं. सांसद भोला सिंह इसकी काट के लिए पीएम मोदी के चेहरे का सहारा ले रहे हैं. कांग्रेस इस सीट पर कैसा प्रदर्शन करती है यह भी देखने लायक है. कांग्रेस फैक्टर भी जीत-हार पर बड़ा असर डालने वाली है. 

...जब इस्तीफा लेकर CM योगी के घर तड़के तीन बजे पहुंच गए ओपी राजभर

अलीगढ़
पूरे साल अलीगढ़ किसी न किसी वजह से चर्चा के केंद्र में रहा है. कुछ दिन पहले ही विश्वविद्यालय  में मोहम्मद जिन्ना की लगी तस्वीर पर भी बवाल हो चुका है.  इस सीट पर बीजेपी ने वर्तमान सांसद सतीश गौतम, बीएसपी ने अजीत बालियान और कांग्रेस ने चौधरी बिजेंद्र सिंह को मैदान में उतारा है. मुकाबला यहां त्रिकोणीय है. अजीत बालियान और चौधरी बिजेंद्र सिंह दोनों ही जाट समुदाय से आते हैं. बीएसपी उम्मीदवार अजीत बालियान मुस्लिम-दलित वोटों के दम पर अपनी नैया पार करना चाहते हैं, लेकिन पीएम मोदी के राष्ट्रवाद का वह कैसे  मुकाबला करते हैं देखने वाली बात होगी. दूसरी ओर कांग्रेस प्रत्याशी भी मुस्लिम और दलितों पर दावा कर रहे हैं. 

योगी आदित्यनाथ 72 घंटे और मायावती 48 घंटे तक नहीं कर सकेंगे चुनाव प्रचार, चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई

फतेहपुर सीकरी
बीएसपी ने इस सीट पर गुड्डू पंडित और बीजेपी ने राजकुमार चाहर को टिकट दिया है. वहीं कांग्रेस ने राजबब्बर को मैदान में उतार दिया है.बीजेपी ने इस सीट पर निर्वतमान सांसद बाबूलाल का टिकट काट दिया है. इस सीट पर भी मुकाबला त्रिकोणीय होने के आसार हैं. 

प्रियंका गांधी बोलीं- BJP वाले हैं नकली राष्ट्रवादी, जिसने हक मांगा उसे पीटा और देशद्रोही बता दिया

आगरा 
इस सीट पर दलित वोटों को लेकर जंग है. बीजेपी ने एसपी बघेल को टिकट दिया है तो बीएसपी ने मनोज सोनी को मैदान में उतारा है. कांग्रेस की ओर से प्रीता हरित को टिकट दिया है. बीएसपी और कांग्रेस यहां दलित और मुस्लिम वोटों के लिए लड़ेंगे तो दूसरी बीजेपी के प्रत्याशी पहले बीएसपी में रह चुके हैं और वह पुराने संपर्कों, राष्ट्रवाद और पीएम मोदी के चेहरे सहारे मैदान में हैं. 

राहुल गांधी के बयान 'चौकीदार चोर है' पर सुप्रीम कोर्ट बोला- हमने ऐसा कुछ नहीं कहा, राहुल गांधी से जवाब तलब

अमरोहा
बीजेपी प्रत्याशी कंवर सिंह और बीएसपी प्रत्याशी दानिश अली के बीच यहां सीधा मुकाबला होने की उम्मीद है. कांग्रेस ने पहले इस सीट पर राशिद अल्वी को टिकट दिया था लेकिन वह मैदान हट गए तो कांग्रेस ने यहां से सचिन चौधरी को मैदान में उतारा है.

ADR का खुलासा: लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की सबसे अमीर उम्मीदवार हैं हेमा मालिनी, जानिए कितनी है इनकी संपत्ति 

नगीना
बीजेपी ने यहां डॉक्टर यशवंत सिंह, कांग्रेस ने ओमवती देवी और बीएसपी ने गिरीश चंद्र को टिकट दिया है. कांग्रेस और बीएसपी के बीच दलित-मुस्लिम वोटर को लेकर लड़ाई है. इस वजह से बीजेपी यहां बाजी मार सकती है.

एनडीए को झटका, अकेले चुनाव लड़ेंगे ओपी राजभर​

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement