NDTV Khabar

दिल्ली में 60 प्रतिशत मतदान, 2014 चुनाव की तुलना में कम पड़े वोट

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में दिल्ली की सात लोकसभा सीटों के लिए मतदान हुआ. इनमें से चांदनी चौक और उत्तर पूर्व दिल्ली में 62 प्रतिशत से अधिक मतदान जबकि नयी दिल्ली में 56.5 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में 60 प्रतिशत मतदान, 2014 चुनाव की तुलना में कम पड़े वोट

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

दिल्ली में रविवार को 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया जो कि 2014 के 65 प्रतिशत से कम है. दिल्ली में भाजपा, आप और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है. मतदान के दौरान दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों से ईवीएम में खराबी और मतदाताओं के नाम नहीं होने की घटनाएं सामने आयीं. दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने कहा कि उनके कार्यालय ने मतदाताओं को मतदान केंद्रों तक लाने के लिए जितना जागरुकता अभियान चलाया था उसे देखते हुए मतदान प्रतिशत उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा. लोकसभा चुनाव के छठे चरण में दिल्ली की सात लोकसभा सीटों के लिए मतदान हुआ. इनमें से चांदनी चौक और उत्तर पूर्व दिल्ली में 62 प्रतिशत से अधिक मतदान जबकि नयी दिल्ली में 56.5 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. पूर्वी दिल्ली में 61.5 प्रतिशत, उत्तर पश्चिम दिल्ली में 59 प्रतिशत, दक्षिण दिल्ली में 58 प्रतिशत और पश्चिम दिल्ली में 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

सीएम योगी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- इटली वाले मामा जेल गए, अब भांजे को सता रहा है डर


मतदान शाम छह बजे तक 60 प्रतिशत दर्ज किया गया और यह आंकड़ा थोड़ा ऊपर जा सकता है क्योंकि कई स्थानों पर मतदान समयसीमा से भी आगे चला. सिंह ने कहा, ‘‘शाम छह बजे तक मतदान केंद्रों के बाहर कतारें थीं. दिन के अंत तक मतदान 61 प्रतिशत पार करने की उम्मीद है.'' दिल्ली में 1.43 करोड़ मतदाता हैं. 164 उम्मीदवारों चुनाव मैदान में हैं जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और आप की आतिशी शामिल हैं. भाजपा, कांग्रेस और आप ने सभी सात सीटें जीतने का भरोसा जताया है. दिल्ली में मतदान की शुरुआत सुबह धीमी रही लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही इसमें तेजी आयी.

6वें चरण के चुनाव में गांधी परिवार ने दिया वोट, राहुल और प्रियंका ने पीएम मोदी पर इस तरह साधा निशाना

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू सहित कई गणमान्य हस्तियों ने अपने मताधिकारों का इस्तेमाल किया. नायडू ने अपना वोट वियतनाम की चार दिवसीय यात्रा से लौटने के बाद डाला. रमजान के रोजे और गर्मी के बावजूद बड़ी संख्या में मुस्लिम वोट डालने के लिए पहुंचे. मटिया महल, मालवीय नगर, तिलक नगर, चांदनी चौक और कुछ अन्य स्थानों पर ईवीएम में खराबी की शिकायतें आयीं. दिन में आठ प्रतिशत ईवीएम बदली गईं. सुबह में अभ्यास मतदान के दौरान 778 वीवीपैट, 141 कंट्रोल यूनिट और 228 बैलट यूनिट बदली गईं.

मध्य प्रदेश: वोट डालने नहीं पहुंच सके दिग्विजय सिंह, बोले- मैं नर्वस नहीं हूं

मतदान के दौरान 450 वीवीपैट, 61 कंट्रोल यूनिट 77 बैलट यूनिट बदली गईं. शांतिपूर्ण मतदान के लिए होमगार्ड और अर्द्धसैनिक बलों सहित 60 हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई थी. हालांकि भाजपा ने आरोप लगाया कि आप के कोंडली विधायक मनोज कुमार ने उसकी पार्टी के कार्यकर्ता को थप्पड़ मारा. आप के दक्षिण दिल्ली उम्मीदवार राघव चड्ढा ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर संगम विहार के एक मतदान केंद्र पर वोट में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया. वहीं चुनाव आयोग ने आरोप को खारिज किया है.

टिप्पणियां

मायावती का पीएम मोदी पर पलटवार, कहा - आप खुद क्‍यों नहीं दे देते इस्‍तीफा

दिल्ली पुलिस नियंत्रण कक्ष को चुनाव संबंधी 300 से अधिक शिकायतें मिलीं. इससे पहले दिन में राहुल गांधी ने अपना वोट डालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि उन्होंने चुनाव के दौरान ‘‘नफरत का इस्तेमाल” किया लेकिन कांग्रेस ने “मोहब्बत अपनाई.” मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके लोगों से अपील की कि वे उन्हें वोट करें जिन्होंने काम किया है, उन्हें नहीं जिन्होंने ‘‘नफरत'' फैलायी.  (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement