Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

भाजपा के 2014 वाले घोषणा-पत्र में थे 11 दिग्गज चेहरे, 2019 में केवल पीएम मोदी

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को अपना संकल्प पत्र जारी किया. बीते पांच साल में भाजपा नेतृत्व जिस संक्रमण से गुजरा है उसका अक्स उसके घोषणापत्र में बरबस ही देखा जा सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भाजपा के 2014 वाले घोषणा-पत्र में थे 11 दिग्गज चेहरे, 2019 में केवल पीएम मोदी

BJP MANIFESTO 2019: बीजेपी का संकल्प पत्र

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को अपना संकल्प पत्र जारी किया. बीते पांच साल में भाजपा नेतृत्व जिस संक्रमण से गुजरा है उसका अक्स उसके घोषणापत्र में बरबस ही देखा जा सकता है. इस साल हो रहे चुनाव के लिए जारी घोषणापत्र के कवर पेज पर केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही दिख रहे हैं, जबकि साल 2014 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और उपप्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी सहित दस दूसरे नेताओं के फोटो इसकी शोभा बढ़ा रहे थे. 

लोकसभा चुनाव : बीजेपी-कांग्रेस के घोषणापत्र की बड़ी बातें पढ़ें और फिर करें फैसला

ncm810oo2019 में बीजेपी का घोषणा पत्र

अटल बिहारी वाजपेयी की फोटो अब पार्टी के प्रमुख विचारक रहे श्यामा प्रसाद मुखर्जी और दीन दयाल उपाध्याय के साथ घोषणा-पत्र के आखिरी पन्ने पर है. साल 2014 के घोषणापत्र में ये लोग दूसरे पन्ने पर थे. पीएम मोदी के अलावा, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और वित्त मंत्री अरुण जेटली सहित समकालीन नेताओं की तस्वीरें 2014 के घोषणापत्र में शामिल थीं पर अब 2019 में वे गायब हो गई हैं. जिन दिग्गज नेताओं आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को पार्टी ने इस बार टिकट नहीं दिया है, वे भी भाजपा के 2014 के घोषणा पत्र में प्रमुखता दिखाई दिए थे. 


BJP के संकल्प पत्र को राहुल गांधी ने बताया 'बंद कमरे' में तैयार घोषणा-पत्र, कहा- घमंड झलक रहा है

BJP2014 में बीजेपी का घोषणा-पत्र

जहां तक घोषणापत्र की भाषा और लहजे की बात है, यह वर्तमान और पिछले घोषणापत्र, दोनों में समान ही है, और राम मंदिर, धारा 370 और समान नागरिक संहिता जैसे विवादास्पद मुद्दों पर पार्टी अपने पुराने रुख पर कायम है. इस वर्ष पार्टी के घोषणा पत्र में गाय गायब है, हालांकि इसमें गौशालाओं का उल्लेख है. 2014 में, पार्टी ने गाय का उल्लेख राम मंदिर और समान नागरिक संहिता के साथ सांस्कृतिक विरासत के अध्याय के तहत किया था. 2014 के घोषणापत्र के विपरीत, जहां उसने अल्पसंख्यकों के लिए उपायों का वादा किया था, इस वर्ष के दस्तावेज में केवल उनका संक्षिप्त उल्लेख है.

टिप्पणियां

Video: संकल्प पत्र में जन-मन की बात



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... स्‍कूल छोड़ने जा रही थी मां, रास्‍ते में याद आया बच्‍चे तो घर पर ही छूट गए, देखें मजेदार Video

Advertisement