लोकसभा चुनाव 2019: बिहार में नीतीश कुमार की पार्टी की वजह से बीजेपी का पलड़ा भारी, प्रणय रॉय का विश्लेषण

लोकसभा चुनाव 2019: लोकसभा चुनावों में बिहार महत्वपूर्ण रोल अदा करेगा. यहां लोकसभा की 40 सीटें हैं जो हर पार्टी और केंद्र के गठबंधन के लिए निर्णायक साबित होंगी.

खास बातें

  • नीतीश कुमार की पार्टी की वजह से बीजेपी का पलड़ा भारी
  • बीजेपी के साथ 50-50 सीट शेयरिंग पर चुनाव लड़ रही जेडीयू
  • 50 फीसदी वोट पर जेडीयू और बीजेपी का असर
नई दिल्ली:

2019 के लोकसभा चुनावों में बिहार महत्वपूर्ण रोल अदा करेगा. यहां लोकसभा की 40 सीटें हैं जो हर पार्टी और केंद्र के गठबंधन के लिए निर्णायक साबित होंगी. यही वजह थी कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने तमाम पुराने राजनीतिक मतभेद के बाद भी सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को सीट शेयरिंग के दौरान अपनी इच्छा की सूची देने की अनुमति दी थी. 68 साल के सीएम नीतीश कुमार 2005 से बिहार में राज कर रहे हैं. 2013 में उन्होंने बीजेपी से खुद को अलग कर लिया था क्योंकि एनडीए ने नरेंद्र मोदी को पीएम पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया था. हालांकि 2014 के चुनावों में जेडीयू को केवल 2 सीटें मिली थीं, इसके बावजूद जेडीयू को 17 सीटें दी गईं यानी बीजेपी के साथ 50-50 सीट शेयरिंग की गई. जेडीयू मुख्य रूप से 15 फीसदी वोटों पर कमांड रखती है जो जीत में अहम भूमिका निभाती है.  

73nm0tpc
i96enb5k
6dht236

डाटा के मुताबिक बीजेपी और नीतीश कुमार का अलग होने से पहले 13 साल तक साथ था जिससे इनका बिहार में बड़ा वोट बैंक है. 50 फीसदी वोट पर जेडीयू और बीजेपी का असर है और 30 फीसदी वोट कांग्रेस और लालू यादव का है.

k6sknj7c

बड़ा मार्जिन यह सुनिश्चित करता है कि बीजेपी-जेडीयू गठबंधन वोट में बड़े बदलाव ला सकता है. आरजेडी और कांग्रेस की तुलना में इसे 10 फीसदी वोट में ज्यादा वोट मिल सकते हैं. 10 फीसदी वोटों पर बढ़त यह सुनिश्चित करती है कि बिहार की 40 सीटों में 37 सीटें इनके पक्ष में हैं.

0d1fd4so
भाजपा और जेडीयू राज्य में शहरी, ग्रामीण, पुरुष, महिला, उच्च और पिछड़ी जातियां समेत सभी वर्गों को समेटते हैं.
30nmfdjg

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बीजेपी का शहरी क्षेत्रों, पुरुषों और उच्च जातियों पर गहरा प्रभाव है वहीं जेडीयू का ग्रामीण, महिलाओं और पिछड़ी श्रेणी पर गहरा प्रभाव है.

n35gl59o

बिहार में महिला वोटर बड़ा असर डालती हैं. पहली बार उन्होंने वोटर के मामले में पुरुषों को पीछे छोड़ा है.  

kk7ibj28
पूरे देश का फिगर यह दर्शाता है कि महिला वोटर की भागीदारी पहले की अपेक्षा काफी बढ़ गई है.
1gso2t84
3qns0d1
बिहार में आखिरी चरण का मतदान 8 सीटों के लिए होगा. 23 मई को चुनाव के नतीजे आएंगे.