NDTV Khabar

PM ने नहीं तोड़ी आचार संहिता, चुनाव आयोग ने पुलवामा के शहीदों के नाम पर वोट मांगने वाले मामले में दी क्लीनचिट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनाव आयोग ने एक बार फिर क्लीनचिट दे दी है. पीएम मोदी को यह क्लीनचिट आचार संहिता के उल्लंघन मामले में दी गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को चुनाव आयोग ने एक बार फिर क्लीनचिट दे दी है. पीएम मोदी (PM Modi) को यह क्लीनचिट आचार संहिता के उल्लंघन मामले में दी गई है. चुनाव आयोग (Election Commission) ने कहा कि लातूर में भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया है. इससे ठीक एक दिन पहले चुनाव आयोग ने पीएम मोदी को एक और मामले में क्लीनचिट दी थी.बता दें कि पीएम मोदी (PM Modi) ने महाराष्ट्र के लातूर जिले में एक रैली के दौरान फर्स्ट टाइम वोटर्स से सवाल किया था कि 'आपका पहला वोट बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने वाले वीर जवानों के लिए समर्पित हो सकता है क्या? आपका पहला वोट पुलवामा में शहीद हुए वीरों के नाम समर्पित हो सकता है क्या?' पीएम मोदी ने आगे कहा था कि मैं फर्स्ट टाइम वोटर्स (First Time Voters) को कहना चाहता हूं कि आप 18 साल के हो गए हैं और आप अपना पहला वोट देश के लिए दीजिए. देश को मजबूत बनाने के लिए दीजिए, एक मजबूत सरकार बनाने के लिए दीजिए. 

आज अगर हिटलर जिंदा होता तो मोदी की 'करतूतों' को देखकर सुसाइड कर लेता: ममता बनर्जी


पीएम मोदी ने लातूर रैली में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि कांग्रेस में भ्रष्टाचार ही शिष्टाचार है. आप देखा होगा कल-परसों, कैसे कांग्रेस के करीबियों के घर से बक्सों में भरे हुए नोट मिल रहे हैं. नोट से वोट खरीदने का ये पाप इनकी राजनीतिक संस्कृति रही है. कांग्रेस को देश की सेना से कितने सबूत चाहिए? वायु सेना से कितने सबूत चाहिए? अरे जिनको सरकार पर भरोसा नहीं है, अपने वीर जवानों पर भरोसा नहीं है, तो ऐसे लोगों को कड़ी से कड़ी सजा देना जरूरी है. जम्मू कश्मीर में 2 प्रधानमंत्री की बात करने वाले लोग क्या ही जम्मू-कश्मीर के हालात सुधार पाएंगे? इनकी सच्चाई देश के हर व्यक्ति को समझनी चाहिए.''

वोटरों को लुभाने के लिए 'हिन्दुत्व कार्ड ' के बाद अब इसका सहारा ले रही हैं साध्वी प्रज्ञा

लातूर की चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा था कि 'जम्मू कश्मीर में 2 प्रधानमंत्री की बात करने वाले लोग क्या ही जम्मू-कश्मीर के हालात सुधार पाएंगे? इनकी सच्चाई देश के हर व्यक्ति को समझनी चाहिए. 2014 में आपके सामने हम कुछ लक्ष्यों को लेकर आए थे. इन लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपने मेरा जो सहयोग दिया, बड़े फैसलों में मेरा जो साथ दिया उसके लिए मैं आप सभी का आदरपूर्वक धन्यवाद देता हूं. संकल्पित भारत, सशक्त भारत बनाने का संकल्प हमने देश के सामने रखा है. राष्ट्रवाद हमारी प्रेरणा है, अंत्योदय हमारा दर्शन है और सुशासन हमारा मंत्र है. इसी भावना पर नए भारत के निर्माण के लिए हम देश के जन-जन की भागीदारी चाहते हैं.''

टिप्पणियां

वाराणसी से PM मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द, अब उठाएंगे यह कदम

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को क्लीनचिट देने का यह कोई पहला मामला नहीं है. आयोग ने चुनावी आचार संहिता (Model Code Of Conduct) के उल्लंघन मामले में मंगलवार को भी क्लिनचिट दे दी थी. चुनाव आयोग (Election Commission) ने कहा था कि पीएम मोदी ने आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया है. बता दें कि कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव (Sushmita Dev) ने पीएम मोदी (PM Modi) के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर शिकायत की थी. सुष्मिता देव ने अपनी याचिका में पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह द्वारा अपनी सभाओं में आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन की अनेक घटनाओं को सूचीबद्ध किया है. सुष्मिता देव ने कहा कि मोदी ने 1 अप्रैल को महाराष्ट्र के वर्धा में अपने भाषण में पहली बार संहिता का उल्लंघन किया था जहां उन्होंने कथित रूप से भगवा आतंकवाद का मुद्दा उठाया था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement