NDTV Khabar

Election 2019: प्रज्ञा ठाकुर के 'गोडसे देशभक्त' वाले बयान पर नीतीश कुमार ने दिया यह बयान, राबड़ी देवी ने ली चुटकी

Lok Sabha Election Phase 7 Voting: बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर के नाथूराम गोडसे पर दिए बयान की निंदा की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Election 2019: प्रज्ञा ठाकुर के 'गोडसे देशभक्त' वाले बयान पर नीतीश कुमार ने दिया यह बयान, राबड़ी देवी ने ली चुटकी

खास बातें

  1. नीतीश कुमार ने प्रज्ञा ठाकुर के गोडसे पर दिए बयान की निंदा की
  2. कहा- ऐसा बयान निंदनीय, इसे बिल्कुल सहन नहीं करना चाहिए
  3. राबड़ी देवी ने कहा- अगर इतनी समस्या है तो सरकार से अलग हो जाएं नीतीश
नई दिल्ली:

बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर के नाथूराम गोडसे पर दिए बयान की निंदा की है. उन्होंने कहा, 'यह निंदनीय है. पार्टी इस पर क्या कार्रवाई करती है यह उनका आंतरिक मामला है. हमें ऐसे बयानों को सहन नहीं करना चाहिए.' वहीं नीतीश के इस बयान पर बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी (Rabri Devi ) ने निशाना साधा है. राबड़ी ने कहा, 'अगर नीतीश कुमार को प्रज्ञा के बयान से इतनी तकलीफ हुई है तो उन्हें सरकार से अलग हो जाना चाहिए था.' गौरतलब है कि भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था. हालांकि कुछ घंटे बाद ही प्रज्ञा ने अपना बयान वापस ले लिया और माफी भी मांग ली थी लेकिन उनकी माफी के बाद भी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है.

देवास संसदीय सीट पर पार्टी उम्मीदवार महेन्द्र सोलंकी के समर्थन में रोडशो कर रही प्रज्ञा ठाकुर ने एक सवाल के जवाब में कहा था, 'नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे. गोडसे को आतंकी बोलने वाले खुद के गिरेबान में झांककर देखें. अबकी बार चुनाव में ऐसा बोलने वालों को जवाब दे दिया जाएगा.' इसके बाद से ही प्रज्ञा ठाकुर लगातार सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना कर रही हैं.


ये भी पढ़ें: कैलाश सत्यार्थी ने कहा- गोडसे ने गांधी के शरीर की हत्या की लेकिन प्रज्ञा ठाकुर ने तो उनकी आत्मा की हत्या कर दी 

टिप्पणियां

प्रज्ञा के बयान को लेकर पूरे देश में बवाल में मच गया था. पार्टी ने आनन-फानन में बयान जारी कर कहा था कि वह प्रज्ञा के बयान से सहमत नहीं है. बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्‍हा राव ने अपने बयान में कहा था कि भाजपा उनके बयान से सहमत नहीं है और इसकी निंदा करती है और पार्टी उनसे स्‍पष्‍टीकरण मांगेगी. गुरुवार देर रात प्रज्ञा ने अपने बयान पर माफी मांगते हुए कहा था 'अपने संगठन बीजेपी में निष्ठा रखती हूं. उसकी कार्यकर्ता हूं और पार्टी की लाइन ही मेरी लाइन है.'

रवीश कुमार का प्राइम टाइम: गोडसे को हीरो बताने के पीछे राजनीति क्या है?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement