NDTV Khabar

पीएम को क्लीन चिट दिए जाने का मामला: नाराज चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने आयोग की मीटिंग में शामिल होने से किया इनकार

लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने चुनाव आयोग की मीटिंग में शामिल होने से साफ मना कर दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम को क्लीन चिट दिए जाने का मामला: नाराज चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने आयोग की मीटिंग में शामिल होने से किया इनकार

खास बातें

  1. अशोक लवासा ने EC की मीटिंग में शामिल होने से साफ मना किया- सूत्र
  2. अल्पमत के फैसले को रिकॉर्ड नहीं किए जाने के विरोध में किया फैसला- सूत्र
  3. कहा- मीटिंग में जाने का कोई मतलब नहीं है, दूसरे उपायों पर विचार संभव
नई दिल्ली:

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने चुनाव आयोग की मीटिंग में शामिल होने से साफ मना कर दिया है. लवासा ने यह फैसला अल्पमत के फैसले को रिकॉर्ड नहीं किए जाने के विरोध में लिया. लवासा ने कहा, 'मीटिंग में जाने का कोई मतलब नहीं है इसलिए दूसरे उपायों पर विचार कर सकता हूं.' बता दें कि उन्होंने दावा किया था कि पीएम मोदी को विवादित बयानों के मामले में क्लीन चिट दिये जाने पर उनके(लवासा) फैसले को रिकॉर्ड नहीं किया गया. गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने पीएम मोदी को 6 मामलों में किसी भी पोल कोड के उल्लंघन का दोषी नहीं माना था. चुनाव आयोग (Election Commission) की तीन सदस्यीय कमीशन में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा और दो चुनाव आयुक्त अशोक लवासा और सुशील चंद्रा शामिल थे.

ये भी पढ़ें: बंगाल में 20 घंटे पहले रुका चुनाव प्रचार, इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा


अशोक लवासा ने 4 मई को लिखे अपने पत्र में दावा किया था, 'जब से अल्पमत को रिकॉर्ड नहीं किया गया तब से लेकर मुझे कमीशन की मीटिंग से दूर रहने के लिए दबाव बनाया गया.' लवासा ने मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखा था और कहा था, 'जब से मेरे अल्पमत को रिकॉर्ड नहीं किया गया तब से कमीशन में हुए विचार-विमर्श में मेरी भागीदारी का अब कोई मतलब नहीं है.'

ये भी पढ़ें: Election 2019 Updates : चुनाव बाद भाजपा के साथ नहीं जाएंगे मायावती और अखिलेश : राहुल गांधी

टिप्पणियां

उन्होंने लिखा, 'इस मामले में दूसरे कानूनी तरीकों पर भी विचार करेंगे. मेरे कई नोट्स में रिकॉर्डिंग की पारदर्शिता की जरूरत के लिए कहा गया है.' इस पत्र को पाने के बाद मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने अशोक लवासा के साथ मीटिंग बुलाई थी. बता दें कि चुनाव आयोग ने पीएम मोदी द्वारा गुजरात में 21 मई को दिए गए भाषण के मामले में क्लीन चिट दे दी थी. इस फैसले पर लवासा ने असहमति जताई थी.  

Video: 'जय श्री राम' को लेकर बंगाल में बीजेपी-टीएमसी आमने-सामने



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement