Election Results 2019: मतगणना से पहले बीजेपी और विपक्ष कर रहे हैं सहयोगियों के साथ बैठकें, सरकार बनाने के लिए बना रहे हैं रणनीति

Election 2019: लोकसभा चुनाव की मतगणना से दो दिन पहले सत्तारूढ़ और विपक्षी दल मंगलवार को आपसी चर्चा में व्यस्त रहे.

Election Results 2019: मतगणना से पहले बीजेपी और विपक्ष कर रहे हैं सहयोगियों के साथ बैठकें, सरकार बनाने के लिए बना रहे हैं रणनीति

बीजेपी ने आयोजित की 'आभार मिलन' की बैठक

खास बातें

  • चुनाव परिणाम से पहले बैठक
  • एनडीए ने नेताओं संग किया भोज
  • विपक्ष दलों ने भी की मुलाकात
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव की मतगणना से दो दिन पहले सत्तारूढ़ और विपक्षी दल मंगलवार को आपसी चर्चा में व्यस्त रहे. एक ओर जहां भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दो बैठकों की मेजबानी की, वहीं दूसरी ओर 22 विपक्षी दलों के नेता भी राजनीतिक घटनाक्रम पर चर्चा करने के लिए साथ आए. विपक्षी नेताओं ने चुनाव आयोग से मुलाकात कर मतगणना प्रक्रिया में पारदर्शिता सुनिश्चित करने की मांग की. एग्जिट पोलों में भाजपा नीत राजग के दोबारा सत्ता में आने की संभावनाएं जाहिर किए जाने के बीच अमित शाह ने एक बैठक की जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई वरिष्ठ केन्द्रीय मंत्रियों से मुलाकात की. 

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा ने नए बनने वाले नेवी चीफ के खिलाफ दोबारा दायर की याचिका, आज होगी सुनवाई

भाजपा ने इसे 23 मई को लोकसभा चुनाव की मतगणना से पहले मंत्रियों को राष्ट्र के लिए दी गई सेवाओं के लिए शुक्रिया अदा करने का अवसर करार दिया. केन्द्रीय मंत्रियों राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, अरुण जेटली, जेपी नड्डा, और प्रकाश जावड़ेकर समेत कई मंत्रियों ने बैठक में शिरकत की. इसके अलावा भाजपा के घटक दलों लोक जनशक्ति पार्टी के रामविलास पासवान, अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल और अपना दल की अनुप्रिया पटेल भी बैठक में शरीक हुईं.

'आभार मिलन' नाम से आयोजित की गई इस बैठक के दौरान मोदी ने लोकसभा चुनाव के प्रचार को एक तीर्थयात्रा से जोड़ते हुए कहा कि यह चुनाव अन्य चुनाव से अलग रहा क्योंकि इसे अकेले पार्टी ने नहीं बल्कि जनता ने लड़ा. भाजपा ने प्रधानमंत्री के हवाले से कहा ‘‘मैंने कई चुनाव देखे हैं लेकिन यह चुनाव राजनीति से परे है. इसे जनता ने लड़ा. मैंने कई विधानसभा चुनाव और पिछले लोक सभा चुनाव में प्रचार अभियान में हिस्सा लिया है. इस दौरान देशभर का दौरा भी किया, इस बार का चुनाव प्रचार मुझे ऐसा लगा कि जैसे तीर्थयात्रा हो.''

गंभीर मुद्दे इन चुनावों से गायब क्यों रहे? रवीश कुमार के साथ प्राइम टाइम

शाह ने बाद में पार्टी नेताओं और सहयोगी दलों के नेताओं के लिए रात्रिभोज की मेजबानी की. इधर, एक्जिट पोल में अपने पक्ष में नतीजे नहीं आते देख विपक्षी नेताओं ने बैठक के दौरान किसी ठोस रणनीति पर चर्चा न करते हुए चुनाव परिणामों के आधार पर, भविष्य की रणनीति बनाने के लिए निरंतर संपर्क में बने रहने पर सहमति जताई. 

विपक्षी नेताओं की बैठक में कांग्रेस से अहमद पटेल, अशोक गहलोत, गुलाम नबी आजाद और अभिषेक मनु सिंघवी, माकपा से सीताराम येचुरी, तृणमूल कांग्रेस से डेरेक ओब्रायन, तेदेपा से चंद्रबाबू नायडू, आम आदमी पार्टी से अरविंद केजरीवाल, सपा से रामगोपाल यादव, बसपा से सतीश चंद्र मिश्रा एवं दानिश अली, द्रमुक से कनिमोई, राजद से मनोज झा, राकांपा से प्रफुल्ल पटेल एवं माजिद मेमन और कई अन्य पार्टियों के नेता शामिल हुए. 

(इनपुट भाषा से)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Video: चुनाव नतीजे आने से पहले पीएम मोदी ने बुलाई बैठक