NDTV Khabar

जेडीयू में सब कुछ ठीक नहीं? प्रशांत किशोर ने कहा- मेरी भूमिका सीखने और सहयोग की

नीतीश कुमार यह जरूर कहते रहे हैं कि वह भविष्य हैं लेकिन जब बड़ी जिम्मेदारी बात आती है तो बिहार के सीएम उन पर कम ही विश्वास जताया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जेडीयू में सब कुछ ठीक नहीं? प्रशांत किशोर ने कहा- मेरी भूमिका सीखने और सहयोग की

फाइल फोटो

पटना:

जेडीयू में तल्खियों की खबरों के बीच पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने ट्वीटर पर इशारों ही इशारों में संकेत में दिया है. उन्होंने एक तरह से अपना दर्द जाहिर करते हुए लिखा, 'बिहार में एनडीए माननीय मोदी जी एवं नीतीश जी के नेतृत्व में मजबूती से चुनाव लड़ रहा है. जेडीयू  की ओर से चुनाव-प्रचार एवं प्रबंधन की जिम्मेदारी पार्टी के वरीय एवं अनुभवी नेता श्री आरसीपी सिंह जी के मजबूत कंधों पर है. राजनीति के इस शुरुआती दौर में मेरी भूमिका सीखने और सहयोग की है. गौरतलब है कि प्रशांत किशोर को लेकर जेडीयू मे सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. माना जा रहा है कि अचानक से पार्टी में नंबर की दो की भूमिका में आ गए प्रशांत किशोर से पार्टी के नेता ही खुश नहीं है'. 

प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार के खिलाफ कुछ नहीं बोला? तो फिर JDU में 'हंगामा है क्यों बरपा'


शिवानंद तिवारी ने प्रशांत किशोर को नीतीश का साथ छोड़ने की सलाह दी, यह बताया कारण

हालांकि नीतीश कुमार यह जरूर कहते रहे हैं कि वह भविष्य हैं लेकिन जब बड़ी जिम्मेदारी बात आती है तो बिहार के सीएम उन पर कम ही विश्वास जताया है.  यूथ विंग के अलावा प्रशांत किशोर को पार्टी में कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं सौंपी गई. यहां तक गठबंधन और सीट समझौते को लेकर भी जिम्मेदारी आरसीपी सिंह और ललन सिंह को दी गई. इससे पहले नीतीश कुमार यह भी कह चुके हैं प्रशांत किशोर को उन्होंने अमित शाह के कहने पर शामिल किया है. वहीं प्रशांत किशोर भी एक इंटरव्यू में कह चुके हैं कि नीतीश को अब नया जनादेश देकर लेकर आना चाहिए. उनके इस बयान पर पार्टी के अंदर काफी आलोचना हुई थी. वहीं इस खबर पर तेजस्वी यादव ने तंज कसते हुए कहा है कि दिल्ली तक इन बातों की जानकारी हो गई है.

टिप्पणियां

प्रशांत किशोर को जेडीयू में मिली नंबर-2 की कुर्सी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement