NDTV Khabar

Election 2019: Exit poll में मोदी सरकार की वापसी की संभावना, फिर भी BJP कर रही प्लान 'B' की तैयारी, जानें क्या है वजह...

Exit Poll Results 2019: लगभग सभी एग्जिट पोल ने अपने पोल सर्वे में NDA को बहुमत दिया है. इन सबके बावजूद BJP ऐहतियातन प्लान 'बी' की भी तैयारी शुरू कर दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. विपरीत हालात के लिए प्लान 'B' की तैयारी
  2. दूसरे विरोधी दलों से भी समर्थन की कोशिश
  3. तेलंगाना, आंध्र में गठबंधन की संभावना की तलाश
नई दिल्ली:

Exit Poll Results 2019: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के नतीजे आने से पहले रविवार को ज्यादातर एग्जिट पोल्स में बीजेपी (BJP) सरकार को बहुमत हासिल होता हुआ दिखाया गया है. लगभग सभी एग्जिट पोल ने अपने पोल सर्वे में एनडीए को बहुमत दिया है. NDTV ने सभी एग्जिट पोल्स (Exit Polls) को मिलाकर पोल ऑफ पोल्स (Poll Of Polls) बनाया. NDTV के पोल ऑफ पोल्स के अनुसार बीजेपी गठबंधन को 300 से अधिक सीटें मिलती दिख रही हैं. वहीं, यूपीए 122 और अन्य 118 सीटों पर सिमटते दिख रहे हैं, लेकिन ये आंकड़े आधिकारिक नहीं हैं, क्योंकि नतीजे 23 मई को जारी किए जाएंगे. हालांकि इन सबके बावजूद भारतीय जनता पार्टी (BJP) ऐहतियातन प्लान 'बी' की भी तैयारी शुरू कर दी है.

यह भी पढ़ें:  Exit Poll Results 2019 : बीजेपी की सरकार बनने के दावों की पड़ताल, पढ़ें 10 बड़ी बातें


सूत्रों के अनुसार भारतीय जनता पार्टी (BJP) प्लान 'बी' इसलिए तैयार कर रही क्योंकि 300 पार का आंकड़ा दो महत्वपूर्ण राज्यों की वजह से आएगा. एक उत्तर प्रदेश (80 सीट) और दूसरा पश्चिम बंगाल (42). दोनों की सीटों मिलाकर 122 बनता है. अगर एग्जिट पोल (Exit Poll) के अनुसार बीजेपी को यहां सीटें मिलती हैं तो आंकड़ा 300 पार का आंकड़ा पार हो जाएगा, लेकिन बीजेपी (BJP) अपनी तरफ से कोई कमी नहीं रखना चाह रही. बीजेपी विपरीत हालात के लिए दूसरे विरोधी दलों से भी समर्थन की कोशिश कर रही है.

यह भी पढ़ें: Exit Poll Results 2019 : योगेंद्र यादव ने क्यों कहा- 'The Congress Must Die' यानी 'कांग्रेस को निश्चित खत्म हो जाना चाहिए'

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) का प्लान 'बी' यह है कि जितने भी घटक दलों से बात की जाए वह की जा रही है. भारतीय जनता पार्टी तेलंगाना और आंध्रप्रदेश में गठबंधन की संभावनाएं तलाश रही है. तेलुगू राज्य तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की दो ऐसी पार्टियां हैं, जिन्होंने 'फेडरल फ्रंट' के बारे में जरूर बात की है. लेकिन यह ऐसे दल हैं जो मजबूती से निकलकर सामने आएंगे और उस समय जो भी फैक्शन इनको ज्यादा सही लगेगा वह चाहे UPA हो या NDA हो सकता है ये उनकी तरफ अपना रुझान रखें. क्योंकि अभी भी टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर रॉव (KCR) हों, या वाईएसआर कांग्रेस के जगनमोहन रेड्डी हों उनकी ऑफिशियल पोजिशन किसी के साथ नहीं हैं. ये अभी भी ख्वाब देख रहे हैं कि एक 'थर्ड फ्रंट' आएगा और वह इनका हिस्सा बनेंगे.

यह भी पढ़ें: Exit Poll Results 2019: एनडीए को मिल सकती हैं 300 से ज्यादा सीटें, देखिए राज्यों के हिसाब से पूरा आंकड़ा

बता दें कि भारतीय राजनीति में तीसरा मोर्चा बहुत मुश्किल से आता है और आता भी है तो ज्यादा मजबूत नहीं होता है, इसका इल्म इन्हें भी है. बीजेपी का जो प्लान 'बी' यही है कि अगर 300 पार का आंकड़ा नहीं आता है. जैसे की कुछ सर्वे के अनुसार यूपी और बिहार में उस तरीके से बीजेपी को बढ़त नहीं मिलेगी जैसी की कल्पना है, तो उस समय कुछ और दलों की जरूरत पड़ेगी. इसके भी प्रयास किए जा रहे हैं. 

टिप्पणियां

यह भी पढ़ें: UP Exit Poll Results 2019: यूपी में NDA को इतनी सीटें मिलने का अनुमान, कांग्रेस 2 सीटों पर सिमटती दिख रही

उधर, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कल NDA नेताओं को डिनर पर बुलाया है. ये डिनर दिल्ली के होटल द अशोक होटल में आयोजित किया गया है. डिनर के पहले NDA नेताओं की बैठक होगी, माना जा रहा है कि अमित शाह इस दौरान सहयोगियों से गठबंधन की रण्नीति को लेकर बात करेंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement