NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019: मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद गोवा में होगी कांटे की टक्कर

गोवा का कुल क्षेत्रफल 1429 वर्ग किलोमीटर  है. गोवा के दो जिले हैं- नॉर्थ गोवा और साउथ गोवा. पणजी गोवा में एक मात्र नगर निगम है. जबकि यहां कुल 13 नगर परिषद हैं. वहीं गोवा में कुल 334 गांव भी हैं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव 2019: मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद गोवा में होगी कांटे की टक्कर

गोवा में लोकसभा की दो सीटें हैं

नई दिल्ली:

गोवा भारत के पश्चिमी हिस्से में बसा एक छोटा सा राज्य है. गोवा की सीमा उत्तर में महाराष्ट्र से, पूर्व और दक्षिण में कर्नाटक से जबकि पश्चिम में अरब सागर से लगती है. यह क्षेत्रफल के हिसाब से देश का सबसे छोटा राज्य है.  गोवा की राजधानी पणजी है. जबकि वास्को डी गामा गोवा का सबसे बड़ा शहर है. गोवा पर पहले पुर्तगाल का शासन था. वर्ष 1961 से यह भारत के साथ है. गोवा अब देश का एक बड़ा पर्यटक स्थल भी है. गोवा का कुल क्षेत्रफल 1429 वर्ग किलोमीटर  है. गोवा के दो जिले हैं- नॉर्थ गोवा और साउथ गोवा. पणजी गोवा में एक मात्र नगर निगम है. जबकि यहां कुल 13 नगर परिषद हैं. वहीं गोवा में कुल 334 गांव भी हैं. 

उत्तर भारत के सबसे साक्षर राज्यों में से एक हिमाचल प्रदेश में उम्मीदवारों की होती है अग्निपरीक्षा


गोवा में लोकसभा की दो सीटें हैं. जबकि यहां विधानसभा की कुल 40 सीटें है. मौजूदा समय में यहां बीजेपी और उसके सहयोगी दलों का शासन है. गोवा के मुख्यमंत्री का नाम प्रमोद सावंत है. जिन्हें मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद राज्य की कमान सौंपी गई है. 

गोवा में दो सबसी बड़ी पार्टी भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस है. जबकि इनके अलावा यूनाइटेड गोआन्स डेमोक्रेटिक पार्टी और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी भी यहां की मुख्य राजनीतिक दल हैं. 2011 की जनगणना के अनुसार गोवा की कुल आबादी 1,731,031 है. गोवा देश का एक मात्र ऐसा राज्य है जहां की 62.17 फीसदी आबादी शहरी इलाकों में रहती है. गोवा का लिंगानुपात 1000 पुरुष पर 973 महिलाओं का है. 

टिप्पणियां

लोकसभा चुनाव 2019: झारखंड की 14 लोकसभा सीटों पर स्थानीय और राष्ट्रीय पार्टियों के बीच टक्कर

गोवा में सबसे ज्यादा कोंकणी (66.11फीसदी) बोली जाती है. इसके अलावा मराठी 10.89 फीसदी, हिंदी 10.29 फीसदी, कन्नड़ 4.66 फीसदी और उर्दू 2.83 फीसदी बोली जाती है. 2011 की जनगणना के अनुसार गोवा में रहने वाली कुल आबादी में से 66.1 फीसदी लोग हिंदू हैं, 25.1 फीसदी लोग ईसाई हैं, 8.3 फीसदी लोग मुस्लिम हैं. जबकि 0.1 फीसदी से भी कम की आबादी सिख, बुद्ध और जैन धर्म को मानने वालों की है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement