NDTV Khabar

देवगौड़ा परिवार पर लिखी खबर के लिए अखबार के संपादक, कर्मचारियों पर FIR दर्ज 

लोकसभा चुनावों में मिली हार के बाद जेडीएस प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के परिवार में सबकुछ ठीक नहीं होने के बारे में खबर प्रकाशित करने पर एक कन्नड़ अखबार के संपादक और उसके संपादकीय विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
देवगौड़ा परिवार पर लिखी खबर के लिए अखबार के संपादक, कर्मचारियों पर FIR दर्ज 

कन्नड़ अखबार के संपादक और उसके संपादकीय विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है.

बेंगलुरु:

लोकसभा चुनावों में मिली हार के बाद जेडीएस प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के परिवार में सबकुछ ठीक नहीं होने के बारे में खबर प्रकाशित करने पर एक कन्नड़ अखबार के संपादक और उसके संपादकीय विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है. जनता दल (सेक्यूलर) के प्रदेश सचिव एसपी प्रदीप कुमार द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक अखबार 'विश्ववाणी' ने शनिवार को एक 'झूठी खबर' प्रकाशित की, जिससे ऐसे छवि बनी कि देवगौड़ा के पोतों के बीच में हंगामे और भ्रम की स्थिति है. पुलिस ने कहा कि रविवार को संपादक विश्वेश्वर भट और संपादकीय कर्मचारियों के खिलाफ धारा 406, 420 और 499 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़ें: Lok Sabha Election Results 2019: कर्नाटक में बढ़त के बाद BJP नेता ने कुमारस्वामी से मांगा इस्तीफा, कही ये बात


कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल कुमारस्वामी कथित तौर पर अपने दादा पर चीख पड़े थे और मांड्या में एक महिला के हाथों मिली हार के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया. निखिल भारतीय जनता पार्टी समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार सुमालता अंबरीश से एक लाख से ज्यादा मतों से हार गए थे. प्राथमिकी पर प्रतिक्रिया देते हुए भट ने न्यूज एजेंसी पीटीआई-भाषा को बताया कि खबर सूत्रों पर आधारित थी और अगर किसी को कोई आपत्ति है तो वे स्पष्टीकरण जारी कर सकते थे, जैसा कि अखबार पूर्व में भी जरूरत पड़ने पर तत्परता पूर्वक करता रहा है.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक में क्या कुमारस्वामी कांग्रेस से नाता तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाएंगे?

उन्होंने कहा, 'मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि हम किस जगह रह रहे हैं. मैं 19 सालों से संपादक हूं और ऐसी घटना कभी नहीं हुई.' भट ने कहा, 'बहुत अधिक तो मानहानि का मामला दायर किया जा सकता था, लेकिन प्राथमिकी दर्ज कराना एक नई परिपाटी शुरू करने जैसा है. मैं निश्चित रूप से अदालत में इसे चुनौती दूंगा.'

टिप्पणियां

VIDEO: चुनाव के बाद कर्नाटक में गठबंधन में आ सकती है दरार?​

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement