NDTV Khabar

कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर की विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू की

गुजरात कांग्रेस इकाई प्रमुख अमित चावड़ा ने कहा कि कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर (Alpesh Thakor) की एक विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर की विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू की

कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने वाले अल्पेश ठाकोर बीजेपी ज्वाइन नहीं करेंगे.

अहमदाबाद:

गुजरात कांग्रेस इकाई प्रमुख अमित चावड़ा ने कहा कि कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर (Alpesh Thakor) की एक विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के नेता 2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर राधनपुर सीट से निर्वाचित हुए थे. उन्होंने गत 10 अप्रैल को यह दावा करते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था कि वह और उनके ठाकोर समुदाय को कांग्रेस की ओर से अपमान और धोखा मिला है.

हार्दिक पटेल बोले- कांग्रेस ने जितनी इज्जत और शक्ति दी, अल्पेश ठाकोर उसे हैंडल नहीं कर पाए

अल्पेश ठाकोर ने यद्यपि न तो कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से और ना ही विधानसभा से ही इस्तीफा दिया है. वह ठाकोर समुदाय के संगठन ठाकोर सेना के प्रमुख भी हैं. ठाकोर ने जब पार्टी पदों से इस्तीफा दिया था तब उस समय वह बिहार के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी थे. इसके साथ ही वह लोकसभा चुनाव के लिए गुजरात कांग्रेस की कई प्रमुख समितियों के सदस्य भी थे.


कांग्रेस पार्टी छोड़ने वाले विधायक अल्पेश ठाकोर क्या ज्वाइन करेंगे BJP? जानिये क्या मिला जवाब...

इस्तीफा देने के बाद ठाकोर ने 'ठाकोर सेना' के उम्मीदवारों के लिए प्रचार करना शुरू कर दिया था जो कि बनासकांठा लोकसभा सीट के साथ ही ऊंझा विधानसभा उपचुनाव में निर्दलीय के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं. चावड़ा ने यहां संवाददाताओं से कहा, 'अल्पावधि में ही कांग्रेस ने उन्हें पार्टी में महत्वूपर्ण पद दिए. गुजरात की राजनीति में यह अप्रत्याशित था. यद्यपि पार्टी में इतना सम्मान मिलने के बावजूद उन्होंने अपनी निजी महत्वाकांक्षा को पार्टी हित के ऊपर रखने का चयन किया. पार्टी में ऐसे व्यक्ति के लिए कोई स्थान नहीं.'

अल्पेश ठाकोर का कांग्रेस से इस्तीफ़ा, गुजरात के 2 और साथी कांग्रेसी MLA के साथ छोड़ी पार्टी, जानिये क्या है वजह

टिप्पणियां

उन्होंने कहा, 'हमें पता चला है कि वह कांग्रेस उम्मीदवारों के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं. इसलिए हमने एक विधायक के तौर पर उनकी सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. यदि पार्टी के लिए काम करने में उनकी रुचि नहीं है तो उन्हें राधनपुर सीट (पाटण जिले में) से इस्तीफा दे देना चाहिए.'

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement