NDTV Khabar

कन्हैया-गिरिराज की उम्मीदवारी से हॉट सीट बने बेगूसराय का यह गांव करेगा चुनाव का बहिष्कार, जानें वजह

बिहार का बेगूसराय इस बार के लोकसभा चुनाव में मीडिया में लगातार सुर्खियों में है. बीजेपी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और कन्हैया कुमार के चुनावी मैदान में आने की वजह से इस बार मीडिया का पूरा फोकस बेगूसराय सीट पर चला गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कन्हैया-गिरिराज की उम्मीदवारी से हॉट सीट बने बेगूसराय का यह गांव करेगा चुनाव का बहिष्कार, जानें वजह

बेगूसराय के थाथा गांव के लोग

नई दिल्ली:

बिहार का बेगूसराय इस बार के लोकसभा चुनाव में मीडिया में लगातार सुर्खियों में है. बीजेपी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और सीपीआई कैंडिडेट कन्हैया कुमार के चुनावी मैदान में आने की वजह से इस बार मीडिया का पूरा फोकस बेगूसराय सीट पर चला गया है. हालांकि, बेगूसराय में चुनाव के प्रति लोगों में काफी नाराजगी देखी जा रही है. सरकार और उनकी योजनाओं से निराश ग्रामीणों ने वोट का बहिष्कार करने का फैसला लिया है. उनका कहना है कि पहले उन्हें सड़क चाहिए, तभी वे वोट करने जाएंगे. बता दें कि बेगूसराय लोकसभा सीट से इस बार सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार, बीजेपी के गिरिराज सिंह और राजद के तनवीर हसन के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होगा. 

कन्हैया की उम्मीदवारी और गिरिराज की मायूसी से बेगूसराय का चुनाव बना दिलचस्प


बेगसूराय के थाथा (Thatha) गांव के लोगों ने गांव में सड़क न होने की वजह से चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला लिया है. बता दें कि यह गांव तीन तरफ से नदी से घिरा हुआ है. स्थानीय लोगों का कहना है कि 'सरकार हमारे लिए कुछ नहीं कर रही है. गांव में मेडिकल फैसिलिटी नहीं है. इतना ही नहीं, अस्पताल तक पहुंचने का साधन भी नहीं है. हम नाव से सफर करते हैं. हमको चाहिए रोड, तब वोट.'

बेगूसराय सीट पर किस जाति का दबदबा:
यहां भूमिहार जाति का सबसे ज्यादा दबदबा है. इसकी वजह है कि भूमिहार जाति के वोटरों की संख्या यहां सबसे अधिक है. जातीय समीकरणों के हिसाब से देखें तो कन्हैया कुमार और गिरिराज सिंह दोनों ही भूमिहार जाति से आते हैं. इस जाति का बेगूसराय में अच्छा-खासा प्रभाव है. बिहार के बेगूसराय जिले को कभी 'पूरब का लेनिनग्राद' कहा जाता था. आज भी कई इलाकों में उसके समर्थक उस दौर को याद करते हैं जब बिहार में ऊंची जाति में गिने जाने वाले भूमिहारों ने वामपंथ का झंडा थामकर यहां के 'जमींदारों' के खिलाफ पहली बार मोर्चा खोल दिया था. खास बात यह थी कि जिनके खिलाफ यह मोर्चा खोला गया था वह भी भूमिहार थे, जिनका लाल मिर्च की खेती में एकाधिकार था.

बॉलीवुड एक्टर ने बीजेपी नेता गिरिराज सिंह पर कसा तंज, लिखा- लोगों को पाकिस्तान भेजने वाले...

बेगूसराय सीट पर 2014 चुनाव में क्या हुआ?
लोकसभा चुनावा 2014 में बीजेपी के डॉ. भोला सिंह ने राजद के प्रत्याशी तनवीर हसन को हराया था. भाजपा के भोला सिंह को 4,28,227 वोट मिले थे, वहीं राजद के तनवीर हसन को 3,69,892 वोट मिले थे. जदयू के समर्थन में सीपीआई यहां तीसरे नंबर पर रही थी. 

टिप्पणियां

VIDEO : गिरिराज सिंह के बगावती तेवर



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement