NDTV Khabar

दरभंगा से लोकसभा टिकट नहीं मिलने पर बोले कीर्ति आजाद: जो चला गया, उसे भूल जा क्योंकि...

भारतीय जनता पार्टी (BJP) से कांग्रेस में शामिल हुए कीर्ति झा आजाद यानी कीर्ति आजाद (Kirti Jha Azad) को झारखंड के धनबाद (Dhanbad) से टिकट दिया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दरभंगा से लोकसभा टिकट नहीं मिलने पर बोले कीर्ति आजाद: जो चला गया, उसे भूल जा क्योंकि...

कीर्ति आजाद और राहुल गांधी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) से कांग्रेस में शामिल हुए कीर्ति झा आजाद यानी कीर्ति आजाद (Kirti Jha Azad) को झारखंड के धनबाद (Dhanbad) से टिकट दिया गया है. अब तक बिहार के दरभंगा से सांसद रहे कीर्ति आजाद झारखंड के धनबाद से चुनाव लड़ेंगे. धनबाद से चुनाव लड़ने पर कीर्ति आजाद ने कहा कि उनके लिए प्रदेश नया नहीं है. उन्होंने इसके लिए कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी को धन्यवाद जताया. उन्होंने कहा कि झारखंड में उनका पैतृक गांव है, इसलिए उनके लिए यहां से चुनाव लड़ने में कोई मुश्किल वाली बात नहीं. 

लोकसभा चुनाव 2019: BJP छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए कीर्ति झा आजाद को झारखंड के धनबाद से मिला टिकट...

एनडीटीवी से बातचीत में कीर्ति झा आजाद ने कहा कि मेरा पैतृक गांव झारखंड में है. बोकारो में मैंने 12 साल काम किया है. धनबाद में कई बार क्रिकेट खेला है तो जगह नई नहीं है. हां यहां कई चुनौतियां हैं, मगर राष्ट्र को बचाना है तो सरकार बदलनी होगी. आगे उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य में एनडीए की सरकार है. डबल इंजन की सरकार है पर इंजन में डीजल ही नहीं है.' 


दरभंगा सीट नहीं मिलने पर कीर्ति आजाद ने कहा कि जो चला गया उसे भूल जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि- छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी, नए दौर में लिखेंगे हम एक नई कहानी... हम हिंदुस्तानी.'

Lok Sabha Election 2019 : महागठबंधन के प्रत्याशियों का ऐलान, यहां देखें पूरी लिस्ट

बता दें कि कांग्रेस पार्टी की ओर से सोमवार को जारी सूची के मुताबिक, धनबाद से कीर्ति आजाद और झारखंड की खूंटी सीट से ही कालीचरण मुंडा को टिकट दिया गया है. वर्तमान में बिहार की दरभंगा लोकसभा सीट से सांसद कीर्ति आजाद हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए थे. पिछले चुनाव में वह भाजपा के टिकट पर निर्वाचित हुए थे. गौरतलब है कि बिहार में महागठबंधन के घटक दलों में सीटों को लेकर तालमेल के तहत दरभंगा की सीट राजद के खाते में चली गई. इसके बाद से यह अटकलें लगाई जा रही थीं कि आजाद किस सीट से चुनाव लड़ेंगे. 

बता दें कि बीजेपी ने धनबाद लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद पशुपति नाथ सिंह पर ही भरोसा जताया और उन्हें ही चुनाव मैदान में उतारा है. कीर्ति आजाद (Kirti Azad) कांग्रेस से जुड़ने से पहले बीजेपी में थे. वह बिहार के दरभंगा (Darbhanga) के सांसद हैं. वो तीन बार से दरभंगा लोकसभा सीट (Darbhanga Lok Sabha Seat) जीत चुके हैं. आजाद को भाजपा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते 2015 में निलंबित कर दिया था. 

ये 5 प्रसिद्ध क्रिकेटर बन गए राजनेता, किसी ने की जमकर बैटिंग, कोई सस्ते में आउट हो गया

कीर्तिवर्धन भागवनत झा आजाद (Kirtivardhan Bhagwat Jha Azad) यानी कीर्ति आजाद (Kirti Azad) ने क्रिकेट से अपने करियर की शुरुआत की थी. बिहार के पूर्णिया में 2 जनवरी 1959 को कीर्ति आजाद का जन्म हुआ. उनके पिता भागवत झा आजाद भले ही राजनीति में सक्रिय थे, लेकिन वो बचपन से ही क्रिकेटर बनना चाहते थे. उन्होंने दिल्ली से पढ़ाई पूरी की और क्रिकेटर करियर की शुरुआत की. वो बल्लेबाज और ऑफ स्पिनर गेंदबाज थे. 1981 की ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड सीरीज में उनको टीम इंडिया में शामिल किया गया. जहां उन्होंने शानदार परफॉर्म किया और 1981-82 में इंग्लैंड सीरीज में चुना गया. वहां भी उन्होंने शानदार खेल दिखाया और 1983 वर्ल्ड कप (1983 World Cup) के लिए टीम इंडिया में चुने गए. 

कीर्ति आजाद की पत्नी पूनम आजाद ने कांग्रेस ज्वाइन की, शीला दीक्षित के खिलाफ लड़ चुकी हैं चुनाव

कीर्ति आजाद की बदौलत टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप सेमीफाइनल मुकाबला जीता था. सेमीफाइनल मुकाबला इंग्लैंड के खिलाफ था. उन्होंने उस वक्त के सबसे खतरनाक बल्लेबाज इयान बॉथम को आउट किया था. मिडिल ओवर में कीर्ति आजाद ने शानदार गेंदबाजी की और टीम इंडिया को फाइनल में पहुंचा दिया. उन्होंने टीम इंडिया के लिए 7 टेस्ट और 25 वनडे खेले. 1986 तक वो इंटरनेशनल क्रिकेट खेले.

टिप्पणियां

झारखंड में 14 सीटें, 4 चरणों में मतदान
29 अप्रैल: चतरा, लोहारदगा, पलामू
6 मई: कोडरमा, रांची, खूंटी, हजारीबाग
12 मई: गिरीडीह, धनबाद, जमशेदपुर, सिंहभूम
19 मई: राजमहल, दुमका, गोड्डा

VIDEO:मेरे लिए कांग्रेस में आना घर वापसी की तरह- कीर्ति आजाद



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement