NDTV Khabar

कांग्रेस ने कहा, योगी आदित्यनाथ की तरह पीएम मोदी और अमित शाह के प्रचार पर भी लगे रोक

वायनाड को लेकर पीएम ने कहा था कि ऐसी जगह से राहुल गांधी खड़े हुए जहां बहुसंख्यक, अल्पसंख्यक हैं, अमित शाह ने कहा था कि जुलूस निकलता है तो पता नहीं चलता कि हिन्दुस्तान में निकला या पाकिस्तान में

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस ने कहा, योगी आदित्यनाथ की तरह पीएम मोदी और अमित शाह के प्रचार पर भी लगे रोक

कांग्रेस ने कहा है कि योगी आदित्यनाथ की तरह पीएम मोदी और अमित शाह के चुनाव प्रचार पर भी रोक लगनी चाहिए.

खास बातें

  1. यूपी के सीएम और बीजेपी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ के प्रचार पर रोक
  2. चुनाव आयोग की कार्रवाई पर कांग्रेस ने कहा- नफरत के बोल पर लगा ताला
  3. योगी आदित्यनाथ के चुनाव प्रचार पर तीन दिनों की रोक लगने पर कांग्रेस खुश
नई दिल्ली:

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और मायावती (Mayawati) के खिलाफ चुनाव आयोग द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर कांग्रेस (Congress) के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि ऐसी शिकायत हमने पीएम मोदी (PM Narendra Modi) और अमित शाह (Amit Shah) के लिए भी की है. वायनाड को लेकर पीएम ने कहा था कि ऐसे जगह से (राहुल गांधी) खड़े हुए जहां बहुसंख्यक, अल्पसंख्यक हैं. अमित शाह ने कहा था कि जुलूस निकलता है तो पता नहीं चलता कि हिन्दुस्तान में निकला है कि पाकिस्तान में. उन्होंने कहा है कि इन मामलों में भी वही कार्रवाई हो जो आज हुई है.

सुप्रीम कोर्ट के कदम को लेकर सिंघवी ने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को सिर्फ एक नोटिस जारी हुआ है जो एक कानूनी प्रक्रिया है. हम उसका पूरी तरह जवाब देंगे. राहुल गांधी के अभिप्राय को बीजेपी (BJP) विकृत कर पेश कर रही है.

कांग्रेस ने चुनाव आयोग द्वारा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चुनाव प्रचार पर तीन दिनों तक रोक लगाने पर खुशी जाहिर की. सिंघवी ने कहा कि 'नफरत के बोल' वाली जुबान पर ताला लग गया है. सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, ''नफरत के राग अलापने वालों की जुबान पर चुनाव आयोग ने ताला लगाया. हमारी शिकायत पर यह हुआ है. हमें खुशी है कि हमारी शिकायत पर आयोग ने यह कदम उठाया है.'


योगी आदित्यनाथ 72 घंटे और मायावती 48 घंटे तक नहीं कर सकेंगे चुनाव प्रचार, चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई

उन्होंने कहा, ''बिष्ट जी (योगी) और भाजपा से जुड़े कुछ अन्य लोग अपने संवैधानिक पद का दुरुपयोग करते हैं. अब उस पर आंशिक रूप से रोक लग गई है.'' सिंघवी ने दावा किया, ''मूल बात है कि ऐसे व्यक्ति अपने और अपनी पार्टी के फायदे के लिए जो होता है वो कह देते हैं. ये लोग चेतावनी को सम्मान के तमगे की तरह लेते हैं.''

जया प्रदा के खिलाफ अमर्यादित बयान को लेकर आजम खान पर चला EC का 'डंडा', मेनका गांधी पर भी कार्रवाई

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बसपा प्रमुख मायावती को सांप्रदायिक बयान देने के कारण अलग-अलग अवधि के लिए चुनाव प्रचार करने से प्रतिबंधित कर दिया है. आयोग ने सोमवार को इस बारे में आदेश जारी कर योगी को मंगलवार (16 अप्रैल) को सुबह छह बजे से अगले 72 घंटे तक और मायावती को इसी समय से अगले 48 घंटे तक किसी भी प्रकार के चुनाव प्रचार अभियान में हिस्सा लेने से रोक दिया है.

VIDEO : वोटों के लिए आपत्तिजनक बयानबाजी

टिप्पणियां

मायावती को उत्तर प्रदेश के देवबंद में एक जनसभा के दौरान मुस्लिम मतदाताओं से एक पार्टी को वोट नहीं देने की अपील करने पर आयोग ने चुनाव आचार संहिता का दोषी पाया था. जबकि योगी को मेरठ में एक जनसभा में ‘अली' और ‘बजरंग बली' से जुड़े विवादित बयान देने के कारण आचार संहिता का दोषी करार देते हुए भविष्य में ऐसे बयान नहीं देने की चेतावनी जारी की थी.
(इनपुट भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement