NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019: यूपी में कांटे की टक्कर! क्या 2014 का प्रदर्शन दोहरा पाएगी BJP?

चुनाव नजदीक आते ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) यूपी को मथने की तैयारी में जुट गए हैं. पिछले लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में उन्हीं के प्रभार में बीजेपी ने राज्य की 80 में से 71 सीटें जीती थीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. बीजेपी ने 2014 में जीती थी 71 सीटें
  2. सपा-बसपा के एक होने से बढ़ी टेंशन!
  3. इस बार 74 सीटें जीतने का लक्ष्य
नई दिल्ली:

चुनाव नजदीक आते ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) यूपी को मथने की तैयारी में जुट गए हैं. पिछले लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में उन्हीं के प्रभार में बीजेपी ने राज्य की 80 में से 71 सीटें जीती थीं और बीजेपी (BJP) को केंद्र में अपने बूते बहुमत हासिल करने में कामयाबी मिली थी. विधानसभा चुनावों में भी बीजेपी ने अपने प्रदर्शन को दोहराया, लेकिन इस बार चुनौती बड़ी है. पिछले दो चुनावों बीजेपी को विपक्ष के वोटों में बिखराव का फायदा मिला. पर अब सपा-बसपा एक हो गए हैं. कांग्रेस अलग लड़कर मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने की कोशिश में है, पर उसका बीजेपी को फायदा होगा या नुकसान अभी यह पता नहीं.

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने बनाई रणनीति, इसे 'हथियार' बनाकर जीतेगी चुनाव


सपा बसपा एक होने से बीजेपी एक के बाद एक लोकसभा और विधानसभा उपचुनावों में हारी है. राज्य और केंद्र दोनों जगहों में सत्ता होने के कारण सत्ता विरोधी लहर का भी बीजेपी को नुकसान हो सकता है. पर अमित शाह जुटे हुए हैं. उनका लक्ष्य पिछली बार से ज्यादा सीट यानी 74 सीटें हासिल करना है. आज अमित शाह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में थे जहां पिछले दो चुनावों में बीजेपी को करीब शत प्रतिशत कामयाबी मिली थी.

यह भी पढ़ें: EVM पर चुनाव आयोग से विपक्षी दलों की मांग: 50 प्रतिशत वोटों का मिलान VVPAT की पर्चियों से कराई जाए

बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने विपक्ष के महागठबंधन को 'ढकोसला' बताते हुए कहा कि भाजपा उत्तर प्रदेश में 74 सीटें जीतकर 'बुआ-भतीजा' की दुकान पर 'अलीगढ़ का ताला' लगाएगी. शाह ने कहा, 'महागठबंधन ढकोसला है. उससे डरने की जरूरत नहीं है. लोग पूछते हैं कि बुआ (बसपा सुप्रीमो मायावती) और भतीजा (सपा प्रमुख अखिलेश यादव) इकट्ठे हो गए अब यूपी (उत्तर प्रदेश) का क्या होगा? मैं कहता हूं कि राहुल (कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी) को भी इकट्ठा कर लो, यूपी में भाजपा की 73 से 74 सीटें होने वाली हैं.' उन्होंने कहा, 'मैं कार्यकर्ताओं का आह्वान करने आया हूं कि बुआ-भतीजे की दुकान पर अलीगढ़ का ताला लगाने का काम भाजपा 74 सीटें जीतकर करेगी.'

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019 : राजस्थान में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला तय

सपा-बसपा पर हमला जारी रखते हुए शाह ने कहा कि दोनों ही पार्टियों ने परिवारवाद से ग्रस्त उत्तर प्रदेश दिया था, लेकिन हमने जात-पात को हटाकर 'सबका साथ सबका विकास' करने का काम किया. उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा के लिए खतरा बने घुसपैठियों का कांग्रेस समर्थन कर रही है, लेकिन देश के कोने-कोने से घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर निकालने का काम मोदी सरकार करेगी.

टिप्पणियां

यूपी में 2014 चुनाव में किस पार्टी का कितना वोट शेयर
2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 42.30 प्रतिशत वोट शेयर के साथ 80 में से 71 सीटें जीती थीं. बीजेपी के वोट शेयर में करीब 24.80 प्रतिशत का उछाल देखने को मिला था. जबकि 22.20 प्रतिशत वोट शेयर के साथ सपा को पांच और 19.60 वोट शेयर के साथ बसपा को शून्य सीटें मिलीं थीं. वहीं 7.50 प्रतिशत वोट शेयर के साथ कांग्रेस ने दो सीटें मिलीं थीं. सपा को पिछली बार की तुलना में 18 सीटें कम मिलीं तो बसपा को 20 सीटों का घाटा उठाना पड़ा. बसपा के वोट शेयर में 7.82 प्रतिशत की कमी और सपा के वोट शेयर में 1.06 प्रतिशत की कमी थी. 

VIDEO: सपा-बसपा का गठबंधन एक ढकोसला- अमित शाह


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement