NDTV Khabar

पांचवां चरण: BJP के सामने 39 सीटें तो कांग्रेस के लिए गढ़ बचाने की चुनौती, दो दर्जन सीटों पर दिग्गजों की 'अग्निपरीक्षा'

साल 2014 में भाजपा ने इन 51 सीटों में से 39 पर जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस अमेठी और रायबरेली सीट पर ही अपने कब्जे में कर पाई थी. ऐसे में इस बार भाजपा के सामने अपनी 39 सीटें बचाने और कांग्रेस के सामने अपने गढ़ को बचाने की चुनौती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के पांचवें चरण के तहत सात राज्यों की 51 सीटों पर मतदान जारी है. यह चरण देश की दो बड़ी पार्टियां भाजपा (BJP)और कांग्रेस (Congress) के लिए काफी अहम है. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने इन 51 सीटों में से 39 पर जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस अमेठी और रायबरेली सीट पर ही अपने कब्जे में कर पाई थी. ऐसे में इस बार भाजपा के सामने अपनी 39 सीटें बचाने और कांग्रेस के सामने अपने गढ़ अमेठी (Amethi) और रायबरेली (Raebareli) को बचाने की चुनौती है. अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और रायबरेली से सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) चुनाव लड़ रही हैं.

अमेठी में राहुल गांधी को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) एक बार फिर टक्कर दे रही हैं. स्मृति ईरानी 2014 में चुनाव हार गई थीं. वहीं रायबरेली में सोनिया गांधी के खिलाफ भाजपा ने दिनेश प्रताप सिंह को मैदान में उतारा है. दिनेश प्रताप सिंह की इससे पहले कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में गिनती होती रही है, यह एमएलसी भी रह चुके हैं. 


Phase 5 Voting: क्या BJP दोहरा पाएगी 2014 जैसा प्रदर्शन, 51 में से जीती थी 39 सीटें, 2 पर सिमटी थी कांग्रेस, 10 बड़ी बातें

वहीं लखनऊ सीट की बात करें तो यहां से केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह भाजपा के टिकट पर एक बार फिर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. सिंह के मुकाबले में सपा-बसपा गठबंधन ने कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा को मैदान में उतारा है. वहीं कांग्रेस के टिकट पर आचार्य प्रमोद कृष्णम चुनाव लड़ रहे हैं. इनके अलावा उत्तर प्रदेश में साध्वी निरंजन ज्योति, जितिन प्रसाद, निर्मल खत्री और ब्रजभूषण शरण सिंह जैसे दिग्गजों का सियासी भविष्य तय होगा.

बता दें, उत्तर प्रदेश से 14, राजस्थान से 12, मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल की सात-सात, बिहार की पांच, झारखंड की चार और जम्मू एवं कश्मीर की दो सीटें जिसमें अनंतनाग भी शामिल है जहां तीसरे और अंतिम चरण का चुनाव होना है. 

How to vote #India: पांचवें चरण में 51 सीटों पर वोटिंग आज, जानें पोलिंग बूथ पर कैसे देना है Vote

बिहार में पांच सीटों में से हाजीपुर जहां लोक जनशक्ति पार्टी का गढ़ है वहीं सारण राजद का गढ़ माना जाता है. तीन अन्य संसदीय क्षेत्र हैं मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी और मधुबनी. इनमें से सारण सीट पर भाजपा की ओर से पार्टी के बड़े नेता राजीव प्रताप रूडी मैदान में हैं तो उनके मुकाबले में राष्ट्रीय जनता दल ने चंद्रिका राय को उतारा है. वहीं हाजीपुर से पशुपति कु. पारस को एनजीए की सहयोगी पार्टी लोजपा ने उतारा है. वहीं राजद ने विधायक शिवचंद को टिकट दिया है. हाजीपुर सीट लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान के लिए अहम है, क्योंकि 1977 के बाद से वह इस सीट से आठ पर चुनाव जीत चुके हैं. 

BSP प्रमुख मायावती का बड़ा बयान, कहा- अगर पीएम बनने का मौका मिला तो यूपी की इस सीट से लड़ूंगी चुनाव

झारखंड की हजारीबाग सीट पर जयंत सिन्हा, खूंटी पर अर्जुन मुंडा और रांची सीट पर सुबोधकांत सहाय की किस्मत आज ईवीएम में कैद हो जाएगी. मध्य प्रदेश की बात करें तो टीकमगढ़ से चुनाव लड़ रहे वीरेंद्र कुमार और दमोह से चुनावी मैदान में प्रहलाद पटेल का भाग्य का फैसला भी आ हो जाएगा. राजस्थान में भी जयपुर ग्रामीण सीट पर कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है. यहां से भाजपा ने केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ तो कांग्रेस ने कृष्ण पूनिया को उतारा है. वहीं बीकानेर सीट से केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल चुनावी मैदान में हैं. जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग सीट से राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती अपनी किस्तम आजमा रही हैं. 

पश्चिम बंगाल की बात करें तो बैरकपुर सीट से चुनावी मैदान में उतरे दिनेश त्रिवेदी, उलुबेरिया से चुनाव लड़ रहे जॉय मुखर्जी और हावड़ा से प्रसून बनर्जी के भाग्य का फैसला भी मतदाता आज करेंगे.

टिप्पणियां

क्या केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी पीएम पद की रेस में शामिल हैं, पढ़ें- उनका जवाब

Video: ईवीएम गायब होने को लेकर दर्ज हुआ मुकदमा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement