बीजेपी की रैली में कलराज मिश्र ने की केंद्रीय मंत्री की तारीफ, तो भड़क गए लोग, आधे घंटे तक चला हाई वोल्टेज ड्रामा

फरीदाबाद में भाजपा की ‘विजय संकल्प रैली’ के दौरान हरियाणा लोकसभा प्रभारी कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) और केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने हिस्सा लिया. 

बीजेपी की रैली में कलराज मिश्र ने की केंद्रीय मंत्री की तारीफ, तो भड़क गए लोग, आधे घंटे तक चला हाई वोल्टेज ड्रामा

कृष्ण पाल गुर्जर (Krishan Pal Gurjar) को विरोध का सामना करना पड़ा.

नई दिल्ली :

लोकसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा के साथ ही राजनीतिक दल तैयारी में जुट गए हैं. केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी  ‘विजय संकल्प रैली' के जरिये लोगों को अपने साथ जोड़ने का प्रयास कर रही है, लेकिन रविवार को फरीदाबाद में आयोजित रैली में पार्टी के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई. दरअसल, फरीदाबाद में आयोजित ‘विजय संकल्प रैली' में हरियाणा लोकसभा प्रभारी कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) और केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर हिस्सा लेने पहुंचे थे. यहां कृष्ण पाल गुर्जर (Krishan Pal Gurjar) के खिलाफ अपने ही समर्थकों से विरोध के स्वर उठे. कलराज मिश्र ‘विजय संकल्प रैली' में सरकार की उपलब्धियां गिनवा रहे थे, लेकिन माहौल उस वक्त बिगड़ गया जब कृष्ण पाल गुर्जर के विरोध में बगावती स्वर उठे. मिश्र (Kalraj Mishra) का कार्यक्रम शुरू होते ही मंच से एक वक्ता ने जैसे ही मंत्री कृष्णपाल गुर्जर की तारीफ की, वहां उपस्थित लोगों ने खड़े होकर विरोध करना शुरू कर दिया. उन्होंने कहा कि कृष्णपाल गुर्जर का नाम लेना बंद करें, सिर्फ मोदी का नाम लें क्योंकि यहां के लोग सिर्फ मोदी को पसंद करते हैं कृष्णपाल को नहीं.

आडवाणी के टिकट काटे जाने पर शिवसेना ने कहा, भारतीय राजनीति के ‘भीष्माचार्य' को 'जबरन रिटायरमेंट' दिया गया

करीब आधे घंटे तक चले इस हाई वोल्टेज ड्रामा के बाद खुद कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) माइक पर संबोधन करने पहुंचे और लोगों को शांत कराने की कोशिश की. उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए विरोध करने वाले लोगों को डपटा भी और कहा, ‘‘अगर उनका प्रदेश होता तो वहीं लोगों को उतर कर जवाब देते. लोगों को शर्म आनी चाहिए क्योंकि इस तरह की हरकत से वे मोदी का नाम खराब कर रहे हैं''. वहीं मंच पर बैठकर अपनी ही आंखों से अपना विरोध देख रहे कृष्ण पाल गुर्जर ने बाद में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ‘‘आज का कार्यक्रम लोकसभा चुनाव की तैयारियां और आगे की रणनीति को लेकर था, जिसमें कुछ लोगों ने विरोध किया. सब अपने ही लोग हैं और कोई खास विरोध नहीं है'. मंत्री ने माना कि यह सब लोग मोदी के साथ हैं, कमल के साथ हैं. (इनपुट-भाषा से भी)

आडवाणी का टिकट काटने पर कांग्रेस का तंज : बीजेपी ने पहले मार्गदर्शक मंडल में भेजा, अब सीट छीन ली 

VIDEO : बीजेपी के 184 उम्मीदवार घोषित

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com