NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019 : भोपाल में दिग्विजय सिंह के समर्थक कम्प्यूटर बाबा के खिलाफ मामला दर्ज

आम चुनाव 2019 : कम्प्यूटर बाबा पर चुनाव आयोग ने आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया, हठयोग और हवन-पूजन का व्यय दिग्विजय के चुनावी व्यय में शामिल किया जाएगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव 2019 : भोपाल में दिग्विजय सिंह के समर्थक कम्प्यूटर बाबा के खिलाफ मामला दर्ज

कम्प्यूटर बाबा ने भोपाल में कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की जीत के लिए हठयोग किया था.

खास बातें

  1. कम्प्यूटर बाबा ने दिग्विजय की जीत के लिए किया था हठयोग
  2. बीजेपी की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया
  3. नोटिस का जवाब देने के बजाय गायब हो गए बाबा
भोपाल:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Polls 2019) में भोपाल सीट पर कांग्रेस (Congress) के उम्मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) की जीत की कामना से किए गए हठयोग और हवन-पूजन का खर्च उनके चुनावी व्यय में शामिल शामिल किया जाएगा. हठयोग और अनुष्ठान दिग्विजय के समर्थक कम्प्यूटर बाबा (Computer Baba) ने किया था. बाबा और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ चुनाव आयोग (EC) ने आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है.

बीजेपी (BJP) की शिकायत पर भोपाल (Bhopal) लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के समर्थक कम्प्यूटर बाबा के खिलाफ लोकसभा चुनाव में आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है. यह मामला कोहेफिजा थाने में दर्ज हुआ है. पुलिस ने कम्प्यूटर बाबा और चंद्रशेखर रैकवार पर मामला दर्ज किया है. यह मामला उप जिला निर्वाचन अधिकारी की शिकायत पर दर्ज किया गया.

कम्प्यूटर बाबा और चंद्रशेखर रैकवार ने भोपाल में आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए हवन पूजन और रैली निकालकर कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के पक्ष में प्रचार किया था.


बीजेपी ने जिस बाबा को मंत्री का दर्जा दिया था वह अब कह रहा 'बदल के रख दो चौकीदार'

बीजेपी नेता राहुल कोठारी और शांतिलाल लोढ़ा ने सात मई को मध्यप्रदेश चुनाव आयोग में इसकी शिकायत दर्ज कराई थी. इससे बाद भोपाल कलेक्टर ने कम्प्यूटर बाबा को नोटिस जारी किया था. नोटिस का जवाब देने के बजाय कम्प्यूटर बाबा भोपाल से गायब हो गए थे.

बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए कम्प्यूटर बाबा ने पीएम मोदी को दी चुनौती, कहा- राम मंदिर बनाओ नहीं तो....

बाबा के प्रतिनिधि द्वारा दिए गए जवाब से चुनाव आयोग संतुष्ट नहीं हुआ. जवाब में कहा गया है कि हठयोग और अन्य अनुष्ठान के लिए बाबा ने दिग्विजय सिंह से पैसा नहीं लिया. यह आयोजन चंदा लेकर किया किया गया.

VIDEO : दिग्विजय सिंह को बाबा का सहारा

टिप्पणियां

चुनाव आयोग ने फैसला लिया है कि इस पूरे कार्यक्रम का खर्च दिग्विजय सिंह के खर्च में जोड़ा जाएगा. धार्मिक कार्य करके राजनीतिक उद्देश्य की पूर्ति का मामला भी दर्ज किया जाएगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement