NDTV Khabar

SP-BSP गठबंधन RLD को इतनी सीटें देने को तैयार, जयंत चौधरी की यह है डिमांड...

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) की मुलाकात के बाद तय हो गया कि अब आरएलडी भी सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) का हिस्सा होगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
SP-BSP गठबंधन RLD को इतनी सीटें देने को तैयार, जयंत चौधरी की यह है डिमांड...

जयंत चौधरी ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की.

खास बातें

  1. अखिलेश यादव से मिले जयंत चौधरी
  2. गठबंधन आरएलडी को तीन सीटें देने को तैयार
  3. आरएलडी को चाहिए चार सीटें
लखनऊ:

समाजवादी पार्टी (SP) अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) की मुलाकात के बाद तय हो गया कि अब आरएलडी भी सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) का हिस्सा होगी. फिलहाल समाजवादी पार्टी RLD को तीन सीट देने के लिए तैयार है और आरएलडी (RLD) चौथी सीट के लिए कोशिश कर रही है. लखनऊ में समाजवादी पार्टी के दफ्तर में अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के बीच एक घंटे तक सीटों के गणित पर माथापच्ची चलती रही. सूत्रों के मुताबिक गठबंधन मुजफ्फरनगर और बागपत सीट आरएलडी को देने को तैयार था. अब मथुरा सीट के लिए भी राजी हो गया है.

यह भी पढ़ें: अखिलेश यादव से मिले जयंत चौधरी, सपा-बसपा गठबंधन में RLD के शामिल होने को लेकर कही यह बात


मुजफ्फरनगर से अजीत सिंह, बागपत से जयंत चौधरी चुनाव लड़ना चाहते हैं. सपा की पेशकश है कि मथुरा से आरएलडी के टिकट पर समाजवादी पार्टी के किसी नेता को लड़ाया जाए. वहीं, आरएलडी को उम्मीद है कि इस फॉर्मूले पर उसे सपा से एक सीट और मिल जाएगी. आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि सीटों का मसला नहीं है. सवाल विश्वास का है. सवाल रिश्तों का है और दोनों बहुत मजबूत है.

 

 

बता दें कि पिछले साल हुए कैराना उपचुनाव में आरएलडी और समाजवादी पार्टी बीजेपी के खिलाफ साथ आए थे और उसका नतीजा भी निकला था. अब समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार तबस्सुम हसन आरएलडी के निशान पर चुनाव लड़के जीती थीं. अजीत सिंह चाहते हैं कि कुछ उसी तरह चौथी सीट भी पार्टी को मिल जाए. जयंत चौधरी ने कहा कि कैराना में हमने एक दूसरे के साथ तालमेल बनाया. वह सफल तालमेल साबित हुआ है. बहुत लचीलेपन को अपनाया. हमने ये नहीं देखा कि यह हमारा है, वो हमारा है. लड़ाई हमारी है हम मिलकर लड़ेंगे.

यह भी पढ़ें: 25 साल पहले हुए गेस्ट हाउस कांड पर बोलीं मायावती- हमने देशहित में उसको किनारे रख दिया

वहीं, समाजवादी पार्टी भी पश्चिमी यूपी में गठबंधन में आरएलडी की अहमियत समझ रही है. समाजवादी पार्टी के एमएलसी उदयवीर सिंह ने कहा कि हमें ऐसा भरोसा है कि जिस गठबंधन और जिस सामाजिक समीकरण के तहत हम पुराना चुनाव लड़े थे, उसके अनुसार हमारी मित्रता रहेगी और हमलोग सब साथ रहेंगे और जिस तरह भाजपा को परास्त किया था उसी तरह से देश विरोधी नीतियों के कारण भारतीय जनता पार्टी को हराएंगे. सपा-बसपा गठबंधन में शामिल होने के लिए आरएलडी की बातचीत के नतीजे सकारात्मक लग रहे हैं और शायद गठबंधन भी यह नहीं चाहेगा कि आरएलडी पश्चिमी यूपी में कांग्रेस के साथ जाए. इसलिए लगता है कि नतीजे सकारात्मक ही होंगे.

टिप्पणियां

VIDEO: यूपी में सपा-बसपा के बीच हुआ गठबंधन

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement