पीएम मोदी के खिलाफ बनारस से चुनाव लड़ सकते हैं प्रवीण तोगड़िया, सौ सीटों पर पार्टी उतारेगी उम्मीदवार

विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया ने शुक्रवार को कहा कि उनकी नवगठित पार्टी देश भर में करीब 100 लोकसभा सीटों पर चुना लड़ेगी, जिनमें गुजरात की 15 सीटें भी शामिल हैं.

पीएम मोदी के खिलाफ बनारस से चुनाव लड़ सकते हैं प्रवीण तोगड़िया, सौ सीटों पर पार्टी उतारेगी उम्मीदवार

विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया की पार्टी 100 सीटों पर लड़ेगी लोकसभा चुनाव.

नई दिल्ली:

विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया ने शुक्रवार को कहा कि उनकी नवगठित पार्टी देश भर में करीब 100 लोकसभा सीटों पर चुना लड़ेगी, जिनमें गुजरात की 15 सीटें भी शामिल हैं. तोगड़िया ने हाल में हिंदुस्तान निर्माण दल (एचएनडी) पार्टी बनायी है और पार्टी ने अपने 41 उम्मीदवारों की सूची जारी की है. उन्होंने यह भी कहा कि वह उत्तर प्रदेश में वाराणसी, अयोध्या या फिर मथुरा से आगामी चुनाव लड़ सकते हैं.वाराणसी लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करते हैं और इस बार भी वह इसी सीट से चुनाव लड़ने वाले हैं.    तोगड़िया ने कहा कि एचएनडी का मुख्य मुद्दा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कराना, कृषि उत्पाद के लिये बेहतर मूल्य और कृषि पर केंद्रित रोजगार पैदा करना है.

यह भी पढ़ें- ...नहीं तो ढूंढ लेंगे दूसरा पीएम : प्रवीण तोगड़िया

प्रवीण तोगडिया ( Pravin Togadia) ने इससे पूर्व अपने बयान में कहा था कि नरेन्द्र मोदी सरकार ने राम मंदिर मामले में देश के हिन्दुओं का विश्वास तोड़ा है. उन्होंने कहा कि इसके साथ ही केंद्र सरकार ने किसानों और युवाओं के साथ भी छलावा किया है. जयपुर में संवाददाताओं से बातचीत में तोगडिया ने कहा, ''मोदी जी मंदिर नहीं बना सकते हैं तो इस्तीफा दे दें. हमें तो देश में राम, किसानों को फसलों का दाम और युवाओं को काम देने वाली सरकार चाहिए थी इसलिये लोगों ने वोट दिया था. देश को न तो राम मिले, न किसानों को दाम मिला और न ही युवाओं को काम मिला.''

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आज कहा कि देश में नई शिक्षा नीति तैयार है. आरएसएस सरकार से शिक्षा नीति तैयार करवा सकती है तो साढ़े चार वर्षों में आरएसएस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से राम मंदिर कानून क्यों नहीं बनवाया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साढ़े चार वर्षो के शासन में 52 हजार किसानों ने आत्महत्याएं की और किसानों पर 12 लाख करोड़ का कर्ज है. इसे दूर क्यों नहीं किया गया. उन्होंने कहा केन्द्र में बहुमत की सरकार होने बावजूद किये गये वादों को पूरा नहीं करने के लिए भाजपा को देश से माफी मांगनी चाहिए.(इनपुट-भाषा)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो- मेरे एनकाउंटर की साजिश रची जा रही है: प्रवीण तोगड़िया