NDTV Khabar

पहले दौर के मतदान के लिए चुनाव प्रचार थमा, बीजेपी के केंद्रीय मंत्रियों के साथ-साथ इन दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 11 अप्रैल को होने वाले मतदान के लिए चुनाव प्रचार मंगलवार शाम थम गया. पहले चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों के लिये मतदान होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पहले दौर के मतदान के लिए चुनाव प्रचार थमा, बीजेपी के केंद्रीय मंत्रियों के साथ-साथ इन दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. पहले दौर के मतदान के लिए चुनाव प्रचार थमा
  2. नीतिन गडकरी समेत बड़े नेता मैदान में
  3. विपक्ष में होंगे ये दिग्गज नेता
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 11 अप्रैल को होने वाले मतदान के लिए चुनाव प्रचार मंगलवार शाम थम गया. पहले चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों के लिये मतदान होगा. इस चरण में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कई बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा पर दांव पर है. गाजियाबाद सीट से जहां विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह जनता से दोबारा उम्मीद लगाए बैठे है तो वहीं गौतमबुद्ध नगर से केंद्रीय मंत्री व बीजेपी नेता महेश शर्मा भी रण में तैयारी कस ली है. उनके सामने कांग्रेस के डॉ. अरविंद सिंह खड़े होंगे. महाराष्ट्र के नागपुर जिले से केंद्रीय सड़क, परिवहन मंत्री व बीजेपी नेता नितिन गडकरी के खिलाफ कांग्रेस के नानाभाऊ पटोले खड़े हैं. 

राहुल गांधी पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कसा तंज, कहा- 'वो बोलते रहते हैं उन्हें सीरियसली न लें'


वहीं बिहार के जमुई लोकसभा सीट से लोजपा नेता चिराग पासवान का भी भविष्य चुनाव पेटिका में बंद हो जाएगा. इस सीट से महागठबंधन के उम्मीदवार रालोसपा के टिकट पर भूदेव चौधरी मैदान में हैं. पहले चरण के चुनाव में तमाम बड़े नेताओं पर दांव है, जिसका फैसला 1 महीने 12 दिन बाद 23 मई को मतगणना के साथ आएगा. इन तमाम बड़े नेताओं के अलावा 11 अप्रैल को मुजफ्फरनगर सीट से केंद्रीय मंत्री व बीजेपी नेता संजीव बालियान और आरएलडी प्रमुख चौधरी अजित सिंह सामने होंगे. वहीं बागपत सीट से बीजेपी के सत्यपाल सिंह के खिलाफ आरएलडी के जयंत चौधरी मैदान में हैं. 

आयोग द्वारा घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार पहले चरण के मतदान वाली 91 सीटों पर सुबह सात बजे मतदान शुरु होगा. इनमें से कुछ सीटों पर शाम चार बजे तक, कुछ पर पांच बजे तक और कुछ सीटों पर छह बजे तक मतदान होगा. निर्वाचन नियमों के अनुसार मतदान खत्म होने के समय से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार थम जाता है. इसके मुताबिक जिन सीटों पर शाम चार बजे तक मतदान है, उन सीटों पर मंगलवार शाम चार बजे से प्रचार थम गया. इसी प्रकार पांच और छह बजे तक मतदान वाली सीटों पर आज शाम पांच बजे और छह बजे से प्रचार पर पाबंदी लागू हो गयी.

जम्मू-कश्मीर में RSS नेता की हत्या पर महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला ने दिया बयान, कही यह बात

उत्तर प्रदेश की आठ और पश्चिम बंगाल की दो सीटों पर सुबह सात बजे से शाह छह बजे तक और बिहार, मणिपुर, मेघालय, नगालैंड और ओडिशा में सीटों पर सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा. चुनाव आचार संहिता के मुताबिक मतदान से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार अभियान थमने के दौरान सोशल मीडिया, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अलावा जनसभा या किसी अन्य माध्यम से प्रचार प्रतिबंधित रहेगा. चुनाव आयोग द्वारा पहले चरण के मतदान के लिए 18 मार्च को अधिसूचना जारी होने के बाद प्रचार अभियान जोर शोर से शुरू हो गया था.

आयोग ने 17वीं लोकसभा के गठन के लिये 543 सीटों पर सात चरण में होने वाले चुनाव का कार्यक्रम दस मार्च को घोषित किया था. पहले चरण में आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, उत्तराखंड, मिजोरम, नगालैंड, सिक्किम और तेलंगाना की सभी लोकसभा सीटों के लिये मतदान होगा. इसके अलावा उत्तर प्रदेश की आठ लोकसभा सीटों (सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और नोएडा) और बिहार की चार सीटों (औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई), असम की पांच और महाराष्ट्र की सात, ओडिशा की चार और पश्चिम बंगाल की दो सीटों के लिये मतदान होगा.

Video: चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर उठे सवाल, नौकरशाहों ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement