NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019 : कन्नौज में डिंपल यादव को टक्कर देना इस बार भी आसान नहीं

डिंपल यादव सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी हैं और कन्नौज लोकसभा सीट सपा की परंपरागत सीट रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव 2019 : कन्नौज में डिंपल यादव को टक्कर देना इस बार भी आसान नहीं

कन्नौज से सांसद डिंपल यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी की ओर से डिंपल यादव  प्रत्याशी बनाई गई हैं. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में डिंपल ने 'मोदी लहर' को टक्कर देते हुए यहां से जीत दर्ज की थी. डिंपल को पिछले चुनाव में 489164 (43.89 फीसदी) वोट मिले थे, जबकि बीजेपी प्रत्याशी को 469257 (42.11 फीसदी) वोट मिले थे. बीएसपी को 127785 (11.47 फीसदी) वोट और चौथे नंबर पर रही इनेलो को 0.51 फीसदी वोट मिले थे. इस बार सपा से गठबंधन के बाद बीएसपी यहां पर अपना प्रत्याशी नहीं उतारेगी. जिसका सीधा मतलब है कि बीएसपी को मिलने वोट सपा के ही खाते में ट्रांसफर होंगे. इस तरह से देखा जाए तो कन्नौज में डिंपल यादव को हरा पाना एक तरह से नामुमिक होगा. हालांकि पिछली बार जीत का अंतर काफी हो गया था. गौरतलब है कि डिंपल यादव सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी हैं और कन्नौज लोकसभा सीट सपा की परंपरागत सीट रही है.  साल 1998 से समाजवादी पार्टी लगातार 7 बार  लोकसभा का चुनाव जीत चुकी है. इस सीट से अखिलेश यादव तीन बार और उनके पिता मुलायम सिंह यादव एक बार सांसद चुने जा चुके हैं. 

लोकसभा चुनाव : हरदोई से मिला सपा ने दिया ऊषा वर्मा को टिकट, BSP के साथ मिलकर बिगाड़ सकती हैं बीजेपी का खेल


आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को अपनी दूसरी सूची जारी कर दी है इस सूची में तीन प्रत्याशियों के नामों का ऐलान किया गया है, जिसमें अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव भी शामिल हैं. वह कन्नौज से चुनाव लड़ेंगी. वहीं, पूर्वी वर्मा को खीरी से, उषा वर्मा को हरदोई से प्रत्याशी बनाया गया है. इससे पहले सपा ने सुबह 6 प्रत्याशियों की सूची जारी की थी, जिसमें सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मैनपुरी से उम्मीदवार घोषित किया गया है. वहीं धर्मेंद्र यादव बदायूं से, अक्षय यादव को फिरोजाबाद से, शब्बीर वाल्मीकि बहराइच से, भाईलाल कोल रॉबर्ट्सगंज से और कमलेश कठेरिया इटावा से उम्मीदवार होंगे. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन के तहत सपा 37 और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) 38 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है. 

यूपी में SP-BSP गठबंधन ने कांग्रेस को दिया नया ऑफर!​

अन्य खबरें :  लोकसभा चुनाव : हरदोई से मिला सपा ने दिया ऊषा वर्मा को टिकट, BSP के साथ मिलकर बिगाड़ सकती हैं बीजेपी का खेल

बीजेपी का फैसला: 75 साल से उपर के नेता लड़ सकेंगे चुनाव, लेकिन पार्टी या सरकार में नहीं मिलेगा कोई पद

टिप्पणियां

साक्षी महाराज की सीट उन्नाव से कांग्रेस ने फिर दिया अनु टंडन को टिकट, पिछली बार मिले थे 197098 वोट



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement