NDTV Khabar

तीन दिन के बैन के दौरान भी 'प्रचार' कर रही थीं BJP उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर, EC ने थमाया नोटिस

चुनाव आयोग ने एटीएस के पूर्व प्रमुख दिवंगत हेमंत करकरे और बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले पर बयानों के लिये भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) के चुनाव अभियान पर रोक लगाई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तीन दिन के बैन के दौरान भी 'प्रचार' कर रही थीं BJP उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर, EC ने थमाया नोटिस

भोपाल से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर.

भोपाल:

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से भारतीय जनता पार्टी (BJP) की उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल जिला चुनाव अधिकारी ने नोटिस भेजा है. यह नोटिस तीन दिन के बैन के दौरान भी प्रचार करने की शिकायत मिलने के बाद दिया गया है. अधिकारी ने इस नोटिस पर उनसे जवाब मांगा है. बता दें, चुनाव आयोग (Election Commission) ने उनके प्रचार पर 72 घंटे का बैन लगाया था. चुनाव आयोग ने एटीएस के पूर्व प्रमुख दिवंगत हेमंत करकरे और बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले पर बयानों के लिये भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) के चुनाव अभियान पर रोक लगाई थी. आयोग ने उनके बयानों की 'कड़ी निंदा' करते हुए उन्हें 'भविष्य में कदाचार को नहीं दोहराने' की चेतावनी दी थी. 

चुनाव आयोग ने कहा था कि हालांकि प्रज्ञा ने दिवंगत आईपीएस अधिकारी के खिलाफ अपने बयान के लिए माफी मांगी थी, लेकिन इस बयान को 'अनुचित' पाया गया है. प्रतिबंध दो मई (बृहस्पतिवार) सुबह छह बजे से लागू हुआ था.


वोटरों को लुभाने के लिए 'हिन्दुत्व कार्ड ' के बाद अब इसका सहारा ले रही हैं साध्वी प्रज्ञा

बता दें, प्रज्ञा ने कहा था आतंकवादी विरोधी दस्ते (एटीएस) प्रमुख करकरे ने मालेगांव विस्फोट मामले की जांच के दौरान उन्हें यातनाएं दी थीं और उनके शाप की वजह से ही करकरे की 26/11 आतंकवादी हमले में मौत हुई थी. इसके अलावा उन्होंने एक बयान दिया था कि 1992 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में शामिल होने के लिये उन्हें अपने ऊपर गर्व है.

भोपाल लोकसभा सीट पर प्रज्ञा ठाकुर की राह नहीं है आसान, 8 बड़ी बातें

गौरतलब है कि बैन के दौरान प्रज्ञा सिंह ठाकुर बृहस्पतिवार को मौन धारण कर विभिन्न मंदिरों में दर्शन करने गईं और हिन्दू देवी-देवताओं की पूजा अर्चना की. इस दौरान उन्होंने मंदिरों की गौशालाओं में पाले जा रहे गाय और बछड़ों को गुड़ और घास भी खिलाया. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने भी चुनाव आयोग द्वारा उन पर भड़काऊ एवं सांप्रदायिक टिप्पणी करने के मामले में 72 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर प्रतिबंध लगाने के बाद पिछले महीने भी ऐसा ही किया था.

टिप्पणियां

भोपाल से BJP उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर पर चला चुनाव आयोग डंडा, प्रचार करने पर 3 दिन की लगाई रोक, जानें पूरा मामला

Video: बीजेपी के कट्टर हिंदुत्व के खेल के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर का इमोशनल कार्ड



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement