मायावती का कांग्रेस पर किया गया यह हमला क्या यूपी में गठबंधन की कवायद को देगा झटका!

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) से पहले यूपी में सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) में कांग्रेस के शामिल होने की कवायद को झटका लग सकता है.

मायावती का कांग्रेस पर किया गया यह हमला क्या यूपी में गठबंधन की कवायद को देगा झटका!

बसपा प्रमुख मायावती. (फाइल फोटो)

लखनऊ:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) से पहले यूपी में सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) में कांग्रेस के शामिल होने की कवायद को झटका लग सकता है. बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने एक बार फिर कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. BSP प्रमुख मायावती ने मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा गोहत्या के शक में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों पर की गई कार्रवाई को 'बर्बर' बताते हुए इस पर नाराजगी जाहिर की है. इसके अलावा बसपा प्रमुख ने राज्य की योगी सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'एएमयू छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाना सरकारी आतंक की मिसाल है. सरकारों को छात्र जीवन ध्वस्त कर देने वाली ऐसी अनावश्यक क्रूर कार्रवाइयों से दूर रहना चाहिये.

यह भी पढ़ें: बसपा-सपा गठबंधन में कांग्रेस की उम्मीदें अब भी जिंदा? प्रियंका गांधी करेंगी अखिलेश से सीधे बातचीत

उन्होंने कहा कि एक तरफ जहां भाजपा सरकार द्वारा बोलने की आज़ादी को खत्म करने के लिये देशद्रोह जैसे गंभीर और सख़्त कानून को मजाक बना दिया गया है, वहीं मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की नई सरकार भी पूरी तरह से पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के नक्शेकदम पर चलते हुए, गोहत्या के शक में कई मुसलमानों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून (रासुका) के तहत बर्बर कार्रवाई कर रही है.

यह भी पढ़ें: मायावती का ट्व‍िटर पर बदल गया अकाउंट, जानें किन्हें करती हैं फॉलो और कितने हैं फॉलोअर्स

बसपा मुखिया ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा दोनों की ही सरकारें जातिवादी होने के साथ-साथ साम्प्रदायिक द्वेष की भावना के तहत काम करती नजर आती हैं. अब आमजनता को ख़ासतौर से यह सोचना होगा कि बीजेपी व कांग्रेस पार्टी की सरकारों की सोच व कार्यकलाप में क्या अंतर रह गया है? मालूम हो कि मध्य प्रदेश सरकार ने गोहत्या के संदेह के आधार पर अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ लोगों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई की है. वहीं, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कल 14 छात्रों पर देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़ें: अखिलेश को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में जाने से रोका तो मायावती बोलीं- गठबंधन से डरी BJP लोकतंत्र की हत्या कर रही है

Newsbeep

बता दें कि इससे पहले यूपी की सियासत में बसपा-सपा गठबंधन में कांग्रेस की उम्मीदें अभी भी जिंदा हैं. उत्तर प्रदेश की सियासत में लोकसभा चुनाव से ठीक पहले प्रियंका गांधी वाड्रा की सक्रिय राजनीति में एंट्री ने एक बार फिर से बीजेपी के खिलाफ सपा-बसपा के गठबंधन में कांग्रेस के जगह पाने की उम्मीद जगा दी है. एनडीटीवी को मिली सूत्रों से जानकारी की मानें कांग्रेस समाजवादी पार्टी के नेतृत्व के संपर्क में है और प्रियंका गांधी कांग्रेस के सपा-बसपा गठबंधन में शामिल होने और ज्यादा से ज्यादा सीटों हासिल करने के मुद्दे पर अखिलेश यादव से सीधे तौर पर बातचीत करेंगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: SP-BSP गठबंधन में क्या कांग्रेस को जगह देंगी मायावती?​