NDTV Khabar

मायावती ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, चौकीदारी की नई नाटकबाजी भी नहीं बचा पाएगी इनको

बसपा प्रमुख मायावती ने प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा का संकेत देते हुये बुधवार को कहा कि अगर अवसर मिलता है तो वह केंद्र में सबसे बढ़िया सरकार देने में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में मिले अनुभव का प्रयोग करेंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मायावती ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, चौकीदारी की नई नाटकबाजी भी नहीं बचा पाएगी इनको

बसपा प्रमुख मायावती - (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मायावती ने एनडीए सरकार पर बोला धावा
  2. मायावती ने प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा का दिया संकेत
  3. बोलीं, अगर अवसर मिलता है तो
विशाखापत्तनम:

बसपा प्रमुख मायावती ने प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा का संकेत देते हुये बुधवार को कहा कि अगर अवसर मिलता है तो वह केंद्र में सबसे बढ़िया सरकार देने में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में मिले अनुभव का प्रयोग करेंगी. उन्होंने कहा कि वह चार बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं. एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘मुझे बहुत अधिक अनुभव है. मैं इस तजुर्बे का इस्तेमाल केंद्र में और लोगों के कल्याण के लिए करूंगी.'' उन्होंने कहा, ‘‘अगर हमें केंद्र में अवसर मिलता है, हम उप्र के तरीके को अपनायेंगे और सभी दृष्टिकोणों से सबसे बढ़िया सरकार देंगें. सभी स्तरों पर एक अच्छी सरकार.'' जब उनसे पूछा गया कि वह प्रधानमंत्री बनना चाहेंगी तो उन्होंने कहा, चीजें तब स्पष्ट होंगी जब 23 मई को आम चुनावों के परिणाम आ जायेंगे. 

चुनाव आयोग की ओर से 'पीएम नरेंद्र मोदी' फिल्म के रिलीज पर रोक लगाए जाने की संभावना नहीं


बसपा, आंध्रप्रदेश में लोकसभा और राज्य विधानसभा चुनाव में जन सेना, माकपा और भाकपा के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ रही है. बसपा राज्य की 25 लोकसभा सीटों में से तीन एवं विधानसभा की 175 सीटों में से 21 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. जन सेना पार्टी प्रमुख पवन कल्याण भी इस अवसर पर मौजूद थे. मायावती ने कहा कि लोग राष्ट्रीय स्तर पर ‘बदलाव चाहते' है. उन्होंने बताया कि साल 2014 के चुनावों में उनकी पार्टी वोट शेयर के मामले में भाजपा और कांग्रेस के बाद तीसरे स्थान पर थी. जब उनसे पूछा गया कि क्या एक ‘तीसरे मोर्चे' की जरूरत है, तो बसपा प्रमुख ने कहा कि चुनाव परिणाम आने के बाद यह स्पष्ट होगा. 

उन्होंने आशा व्यक्त करते हुये कहा कि उनका राज्य में हुआ गठबंधन आंध्रप्रदेश में सरकार बनायेगा और पवन कल्याण उसके मुख्यमंत्री होंगे. बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को यह भी कहा कि भाजपा नीत राजग केंद्र में सत्ता में नहीं लौटेगा क्योंकि नाटकबाजी और जुमलेबाजी आम चुनाव में काम नहीं करेगी. उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा और कंपनी सत्ता में नहीं लौट रही है.'' उन्होंने जन सेना की अगुवाई में बसपा, भाकपा और माकपा के गठबंधन की एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘इनका जुमला नहीं चलेगा. चौकीदारी की नयी नाटकबाजी भी इनको नहीं बचा पायेगी.'' 

अलका लांबा ने लोगों से पूछा- क्या मुझे आम आदमी पार्टी से इस्तीफा देना चाहिए?

दिन में प्रधानमंत्री पद की अपनी आकांक्षा का संकेत दे चुकीं मायावती ने आरोप लगाया कि भाजपा बदहवासी में राजनीतिक लाभ के लिए राष्ट्रवादी उन्माद पैदा करने की कोशिश कर रही है लेकिन यह सफल नहीं होगा. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी की हार की मुख्य वजह 2014 के चुनाव से पहले किये गये वादों को पूरा करने की उनकी विफलता होगी। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार देश की सीमाएं भी पूरी तरह सुरक्षित नहीं रख पायीं जिसकी वजह से आतंकवादी हमले होते रहे और कई जिंदगियां चली गयीं. बसपा जनसेना के साथ चुनावी गठबंधन के तहत आंध्रप्रदेश में तीन लोकसभा सीटों और 21 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

Video: बसपा प्रमुख मायावती नहीं लड़ेंगी लोकसभा चुनाव

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से)



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement