महबूबा मुफ्ती से गौतम गंभीर ने कहा- यह भारत है, कोई आप जैसा धब्बा नहीं जो मिट जाएगा!, महबूबा ने किया ब्‍लॉक

अनुच्छेद 370 (Article 370) और अनुच्छेद 35ए के जरिए जम्मू एवं कश्मीर को मिले विशेष राज्य के दर्जे को लेकर ट्विटर पर पूर्व मुख्यमंत्री और PDP महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) और पूर्व क्रिकेटर एवं BJP नेता गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) के बीच जुबानी जंग देखने को मिली.

महबूबा मुफ्ती से गौतम गंभीर ने कहा- यह भारत है, कोई आप जैसा धब्बा नहीं जो मिट जाएगा!, महबूबा ने किया ब्‍लॉक

अनुच्छेद 370 (Article 370) पर बहस के बाद महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) को ब्लॉक किया.

नई दिल्ली:

अनुच्छेद 370 (Article 370) और अनुच्छेद 35ए के जरिए जम्मू एवं कश्मीर को मिले विशेष राज्य के दर्जे को लेकर ट्विटर पर पूर्व मुख्यमंत्री और PDP महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) और पूर्व क्रिकेटर एवं BJP नेता गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) के बीच जुबानी जंग देखने को मिली. अनुच्छेद 370 और 35 ए पर दोनों के बीच बहस का स्तर इतना अधिक हो गया कि ट्वीट वार के बाद महबूबा मुफ्ती ने हाल ही में बीजेपी का दामन थामने वाले गौतम गंभीर को ट्विटर पर ब्लॉक कर दिया. दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा जम्मू-कश्मीर के नेताओं फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को लोकसभा चुनाव लड़ने से प्रतिबंधित करने के लिए चुनाव आयोग को निर्देश देने की मांग करने वाली याचिका के बाद विवाद शुरू हुआ. इस खबर को शेयर कर महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया. उन्होंने लिखा- 'कोर्ट में समय क्यों बर्बाद करना. आर्टिकल 370 को हटाने के लिए भाजपा की प्रतीक्षा करें. यह स्वचालित रूप से हमें चुनाव लड़ने से रोक देगा क्योंकि भारतीय संविधान अब जम्मू-कश्मीर पर लागू नहीं होगा. ना समझोगे तो मिट जाओगे, ऐ हिंदुस्तान वालों. तुम्हारी दास्तां तक भी ना होगी दास्तानों में.

महबूबा (Mehbooba Mufti) के इस ट्वीट के बाद बीजेपी नेता गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने उन्हें जवाब दिया और लिखा- 'महबूबा मुफ्ती यह भारत है, कोई आप जैसा धब्बा नहीं जो मिट जाएगा!' इसके बाद फिर महबूबा मुफ्ती ने भी पलटवार किया और उन्होंने भी लिखा- 'उम्मीद करती हूं कि बीजेपी में आपकी राजनीतिक पारी उतनी खराब नहीं होगी, जितना आपका क्रिकेट करियर था.'

गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने फिर ट्वीट से पलटवार किया और इन्होंने भी लिखा- ओह! तो आपने मेरे ट्विटर हैंडल को अनब्लॉक कर दिया है. मेरे ट्वीट का जवाब देने के लिए आपको 10 घंटे चाहिए...बहुत धीमा. यह आपके व्यक्तित्व में गहराई की कमी को दर्शाता है. कोई आश्चर्य नहीं कि आप लोगों ने मुद्दे हल करने के लिए संघर्ष किया है. 

महबूबा मुफ्ती की PDP और नेशनल कॉन्फ्रेंस की मान्यता रद्द करने के लिए EC में शिकायत, जानें पूरा मामला

फिर महबूबा मुफ्ती जवाब देती हैं कि 'मुझे आपके मानसिक स्वास्थ्य की चिंता है. लोगों द्वारा ट्रोल किए जाने की मैं आदि हो चुकी हूं लेकिन इस स्तर का स्टॉकिंग अस्वस्थ है. ज्यादातर लोग रात को सोते हैं. आप कश्मीर के बारे में कुछ नहीं जानते. मैं यहां आपको ब्लॉक कर रही हूं ताकि आप कहीं और 2 रुपये प्रति ट्वीट के हिसाब ट्रोलिंग कर सकें. 

इसके बाद गौतम गंभीर ने भी जवाब दिया और लिखा-महबूबा मुफ्ती मैम बहुत बहुत स्वागत. एक विशिष्ट व्यक्ति द्वारा ब्लॉक किए जाने से मैं खुश हूं. वैसे इस ट्वीट को लिखने के समय 1,365,386,456 भारतीय हैं. आप उन्हें कैसे ब्लॉक करेंगे? . 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ट्वीट वार: 'जम्मू-कश्मीर के लिए अलग PM की मांग' पर ट्विटर पर भिड़े उमर अब्दुल्ला और गौतम गंभीर

बता दें कि पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने सोमवार को कहा था कि जब बात जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे की हो तो भाजपा को आग से नहीं खेलना चाहिए. उन्होंने साथ ही चेतावनी दी कि अनुच्छेद 370 खत्म करना, राज्य की भारत से आजादी होगी. मुफ्ती ने कहा, ‘यदि आप जम्मू कश्मीर को अनुच्छेद 370 से मुक्त करते हैं तो आप राज्य को देश से भी मुक्त करेंगे. मैंने कई बार कहा है कि अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर को देश से जोड़ता है. जब आप इस सेतु को तोड़ते हैं, भारत राज्य पर अपनी वैधता भी खो देगा. वह कब्जा करने वाली ताकत बन जाएगा.'