NDTV Khabar

टाटा स्काई के जवाब ने बढ़ाई मोदी सरकार की मुसीबत, कहा- नमो टीवी एक न्यूज सर्विस है, IB ने बताया था विज्ञापन प्लेटफॉर्म

नमो टीवी एक हिंदी न्यूज सर्विस है, जो राष्ट्रीय राजनीति पर ताजातरीन ब्रेकिंग न्यूज मुहैया कराती है. यह कहना है डीटीएस सेवा मुहैया कराने वाले टाटा स्काई का. इस सर्विस प्रोवाइडर के ट्वीट से केंद्र सरकार के दावे पर सवाल उठ रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टाटा स्काई के जवाब ने बढ़ाई मोदी सरकार की मुसीबत, कहा- नमो टीवी एक न्यूज सर्विस है, IB ने बताया था विज्ञापन प्लेटफॉर्म

सरकार ने कहा कि नमो टीवी विज्ञापन प्लेटफॉर्म है, जबकि टाटा स्काई ने कहा- यह न्यूज सर्विस है.

नई दिल्ली:

नमो टीवी एक हिंदी न्यूज सर्विस है, जो राष्ट्रीय राजनीति पर ताजातरीन ब्रेकिंग न्यूज मुहैया कराती है. यह कहना है डीटीएस सेवा मुहैया कराने वाले टाटा स्काई का. इस सर्विस प्रोवाइडर के ट्वीट से केंद्र सरकार के दावे पर सवाल उठ रहे हैं. एक प्रकार से टाटा स्काई ने ट्वीट कर सरकार के उस दावे का खंडन किया है, जिसमें नमो टीवी को महज एक विज्ञापन प्लेटफॉर्म बताकर पल्ला झाड़ लिया गया. नमो टीवी नाम का यह चैनल 31 मार्च को अचानक लांच हुआ, तब से इसे सत्ताधारी बीजेपी के ट्विटर हैंडल से लगातार प्रमोट भी किया जा रहा है. खुद पीएम मोदी भी चौकीदारों को संबोधित करने से जुड़े प्रोग्राम का इस टीवी पर प्रसारण होने की 31 मार्च को सूचना दे चुके हैं.

यह भी पढ़ें- नमो टीवी पर प्रधानमंत्री मोदी के बेरोकटोक प्रचार से उपजा विवाद, विपक्ष ने उठाए सवाल


विपक्ष नमो टीवी के जरिए चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने की बीजेपी के खिलाफ शिकायत दर्ज करा चुका है. जिस पर चुनाव आयोग ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से जवाब भी तलब किया है. इ सब के बीच टाटा स्काई ने एक ट्विटर यूजर के पूछने पर इस बात का  खुलासा किया कि यह चैनल सभी उपभोक्ताओं के पैक में लॉन्च ऑफर के तौर पर स्वत: जोड़ा गया है. साथ ही इसे हटाने का कोई विकल्प भी नहीं है. जबकि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया कि नमो टीवी एक विज्ञापन से जुड़ा प्लेटफॉर्म है, जिसके प्रसारण के लिए सरकार की अनुमति की जरूरत नहीं होती.

मगर टाटा स्काई के ट्वीट इस बात का खंडन करते हैं. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक नमो टीवी एक सामान्य चैनल नहीं है. इस नाते यह मंत्रालय की ओर से तैयार प्राइवेट सेटेलाइट टीवी चैनलों की आधिकारिक सूची में शामिल नहीं है.यह विज्ञापन प्लेटफॉर्म है, जिसे सर्विस प्रोवाइडर ने लॉन्च किया है. वहीं जब एक प्रेस कांफ्रेंस में अरुण जेटली से एनडीटीवी ने इस टीवी को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि इस पर संबंधित पक्षों को जवाब देने दीजिए. आईबी मिनिस्ट्री और इलेक्शन कमीशन के बीच का यह मामला है. 

टिप्पणियां

वीडियो- विपक्ष ने नमो टीवी पर उठाए सवाल, TATA Sky ने किया ट्वीट 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement