TMC के गढ़ में सेंध लगाएगी BJP? कोलकाता के परेड ग्राउंड में ममता बनर्जी के खिलाफ गरजेंगे पीएम मोदी

PM Modi Rally in Kolkata: लोकसभा चुनाव के रण में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) आमने सामने होंगे.

TMC के गढ़ में सेंध लगाएगी BJP? कोलकाता के परेड ग्राउंड में ममता बनर्जी के खिलाफ गरजेंगे पीएम मोदी

PM Modi in Kolkata: पीएम मोदी और ममता बनर्जी की आज रैली

नई दिल्ली:

PM Modi Rally in Kolkata: लोकसभा चुनाव के रण में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) आमने सामने होंगे. पीएम नरेंद्र मोदी आज कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में एक रैली को संबोधित करने वाले हैं. इससे पहले पीएम न्यू जलपाईगुड़ी में भी एक रैली को संबोधित करने वाले हैं. इस रैली को लेकर बीजेपी ने जमकर तैयारियां की है. बीजेपी इस बार ममता के गढ़ में सेंध लगाने की कोशिश में है...जबकि लेफ़्ट और कांग्रेस मुक़ाबले को चौतरफा बनाने के लिए जोर लगा  रहे हैं. 

'कांग्रेस का यह घोषणा-पत्र नहीं, 'ढकोसलापत्र' है, क्योंकि यह भी भ्रष्ट, बेईमान और ढकोसलों से भरा है'

इधर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी आज उत्तर बंगाल के कूच बिहार से अपने चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगी. ममता की रैली कूच बिहार के दिनहटा में होगी. तृणमूल कांग्रेस नेताओं के मुताबिक ममता पहले 4 अप्रैल को अपने अभियान की शुरुआत करने वाली थी लेकिन बाद में उन्होंने BJP से सीधे टक्कर लेते हुए एक दिन पहले ही अभियान शुरू करने का फ़ैसला किया. 

इससे पहले पीएम मोदी ने बुधवार को अरुणाचल प्रदेश में एक रैली को संबोधित किया. कांग्रेस के घोषणा-पत्र पर पीएम मोदी ने कहा कि एक तरफ इरादों वाली सरकार है और दूसरी तरफ सिर्फ और सिर्फ झूठे वादों वाले नामदार हैं. इन लोगों की तरह ही इनका घोषणापत्र भी भ्रष्ट होता है, बेईमान होता है, ढकोसलों से भरा होता है. इसलिए उसे घोषणापत्र नहीं, ढकोसला पत्र कहना चाहिए. उन्होंने कहा कि सर्दी गर्मी, बारिश, कैसा भी मौसम हो, कैसी भी परिस्थिति हो, चौकीदार पहरा देते हुए ये भी कहता है- जागते रहो. इसलिए आपका ये चौकीदार भी आपको जागते रहो कह रहा है. इनके भ्रष्ट वायदों से आपको आगाह कर रहा है. 

Live : अरुणाचल प्रदेश में पीएम मोदी बोले- मैं ये दावा नहीं कर सकता कि मैंने सारे काम पूरे कर दिए हैं, मगर...

पीएम मोदी ने कहा कि 2004 के अपने ढकोसलापत्र में इन्होंने 2009 तक देश के हर घर तक बिजली पहुंचाने का वादा किया था. इसके लिए बाकायदा एक प्रोग्राम भी बनाया गया लेकिन काम पूरा नहीं हुआ. साल 2009 में फिर इनका एक और ढकोसलापत्र आया. पहले के वादे का क्या हुआ ये नहीं बताया. फिर 2014 का चुनाव आया और फिर एक वादा कर डाला कि शहरों में 100 प्रतिशत बिजली देंगे और गांवों में बिजली 90 प्रतिशत तक पहुंचाएंगे. इनके झूठे वादों की स्थिति ये थी कि अरुणाचल और नॉर्थ ईस्ट के 1800 से अधिक गांव और देश के 3 करोड़ से अधिक परिवार 2014 में अंधेरे में जीने के लिए मजबूर थे. आपके इस चौकीदार ने हज़ार दिन के भीतर बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा और हज़ार दिन के भीतर वादे को पूरा किया. 

इंडिया नौ बजे: हार के डर से भागे हैं राहुल- शाह​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com